मोदी के दोबारा पीएम बनने से इमरान ख़ान की उम्मीदः आज की पांच बड़ी ख़बरें

  • 10 अप्रैल 2019
इमरान खान इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान मानते हैं कि अगर भारत के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की जीत होती है और नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनते हैं तो शांति वार्ता की संभावना ज़्यादा रहेगी.

गुरुवार को विदेशी पत्रकारों से इमरान ख़ान ने कहा कि अगर भारत में नई सरकार विपक्षी पार्टी कांग्रेस की बनती है तो हो सकता है कि वो पाकिस्तान के साथ बातचीत को लेकर डरी हुई हो.

ख़ान का मानना है कि कांग्रेस को ये डर भारत की दक्षिणपंथी पार्टियों से होगी. पीएम ख़ान ने कहा, ''बीजेपी दक्षिणपंथी पार्टी है और वो जीतती है तो कश्मीर को लेकर बातचीत आगे बढ़ सकती है. हालांकि मोदी के भारत में मुसलमान पूरी तरह से ख़ुद को अलग-थलग महसूस कर रहे हैं.''

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा, ''अभी भारत में जो हो रहा है उसके बारे में मैंने कभी सोचा तक नहीं था कि ऐसा भी होगा. भारत में मुसलमानों की पहचान पर हमला हो रहा है. मोदी इसराइल के पीएम बिन्यामिन नेतन्याहू की तरह हैं. दोनों डर और राष्ट्रवादी भावना के आधार पर चुनाव जीतना चाहते हैं.''

इमरान ख़ान ने कहा कि बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा छीनने की बात कही है और ये काफ़ी चिंताजनक है. हालांकि ख़ान ने कहा कि संभाव है कि ये चुनावी जुमला हो.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री मोदी के बयान पर मांगा जवाब

चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान पर संज्ञान लिया है, जिसमें उन्होंने पहली बार मतदान कर वालों से कहा है कि वो अपना पहला वोट उन्हें दें जिन्होंने बालाकोट हमला करवाया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के लातूर में रैली को संबोधित करते हुए कहा था, "मैं पहली बार मतदान करने वालों से कहना चाहता हूं... क्या आपका पहला वोट वीर जवानों को समर्पित हो सकता है जिन्होंने पाकिस्तान में हवाई हमले किए थे."

"आप गर्व से कह सकेंगे... आप अगर कमल पर बटन दबाएंगे या धनुष पर दबाएंगे, तो आपका वोट सीधे-सीधे मोदी के खाते में जाने वाला है."

विपक्षी पार्टियों ने इस पर आयोग से शिकायत की है, जिसके बाद आयोग ने मंगलवार देर रात महाराष्ट्र के मुख्य चुनाव अधिकारी से इस पर जल्द से जल्द रिपोर्ट भेजने को कहा है.

विपक्षी पार्टियों का कहना है कि सेना की शहादत का इस्तेमाल वोट पाने के लिए किया जा रहा है, जो ग़लत है.

कपिल सिब्बल ने कहा, "हर कोई जानता है कि प्रधानमंत्री ऐसा कर रहे हैं. यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि चुनाव आयोग कार्रवाई नहीं कर रहा है."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

रफ़ाल सौदाः पुनर्विचार याचिका पर SC का फ़ैसला आज

रफ़ाल खरीद के मामले में दायर पांच पुनर्विचार याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को अपना फ़ैसला सुनाएगा.

मामले में सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाले बेंच ने की थी, जिसमें जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोशेफ शामिल हैं.

पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट के 14 दिसंबर 2018 के फ़ैसले के ख़िलाफ़ दायर की गई थी जिसमें 36 रफ़ाल जेट सौदे को बरकरार रखा गया था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

राहुल गांधी आज अमेठी से भरेंगे पर्चा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को अमेठी संसदीय क्षेत्र से पर्चा दाखिल करेंगे.

इससे पहले वहां रोड शो का आयोजन किया जाएगा, जिसमें यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा शामिल होंगी.

राहुल इन चुनावों में दो जगहों से मैदान में हैं. अमेठी के अलावा वो केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अल्जीरिया में जल्द चुनाव कराने का एलान

अल्जीरिया के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुलअज़ीज़ बूतेफ़्लीका के इस्तीफ़े के बाद देश के अंतरिम नेता अब्दुलकादर बिन सलह ने अगले 90 दिनों के भीतर स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने का वादा किया है.

टीवी पर राष्ट्र के नाम एक सम्बोधन में बिन सलह ने कहा कि वो ख़ुद इस चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगे. अल्ज़ीरिया में लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शनों के बाद इस महीने की शुरुआत में अब्दुलअज़ीज़ बूतेक्लीफ़ा ने राष्ट्रपति पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

उनके बाद बिन सलह को देश का अस्थायी नेता घोषित किया लेकिन प्रदर्शनकारी इससे भी संतुष्ट नहीं हैं. उनका कहना है कि बिन सलह अपने पूर्ववर्ती बूतेक्लीफ़ा के बेहद क़रीबी रहे हैं.

वहीं, बिन सलह ने संसद में कहा कि आख़िरकार अल्जीरिया का राष्ट्रपति वही बनेगा जिसे देश के लोग चुनेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार