बीजेपी ने जूता कांड में शामिल सांसद को नहीं दिया टिकटः प्रेस रिव्यू

  • 16 अप्रैल 2019
बीजेपी इमेज कॉपीरइट FACEBOOK
Image caption सांसद शरद त्रिपाठी (दाएं) और विधायक राकेश बघेल के बीच हाथापाई हुई थी

कुछ वक़्त पहले एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें दो बीजेपी नेता एक सभा के दौरान पहले बहस में पड़ते हैं और उसके कुछ ही मिनट बाद एक दूसरे को मारने लगते हैं.

संभवत: वो वीडियो आपको याद हो. उस वीडियो में अपनी ही पार्टी के विधायक पर जूता बरसाने वाले यूपी के संत कबीरनगर के सांसद शरद त्रिपाठी का टिकट काट दिया गया है. दैनिक हिंदुस्तान अख़बार के मुताबिक़, उनके पिता को देवरिया से प्रत्याशी बनाया गया है लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट FB
Image caption शशि थरूर

इसी अख़बार की एक दूसरी चुनावी ख़बर पर नज़र डालें तो अख़बार लिखता है कि कांग्रेस नेता और तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरूर को सिर में चोट लग गई और वो घायल हो गए. वो एक मंदिर में तुलाभरम रस्म निभा रहे थे, तभी तराज़ू का एक हिस्सा उन पर गिर गया. उन्हें छह टांके लगाए गए हैं.

अब चीन की जगह भारत में बनेगा आईफ़ोन

एप्पल के लिए उत्पादन करने वाली ताइवानी कंपनी फॉक्सकॉन भारत में आईफ़ोन का उत्पादन शुरू करने वाली है. इसे सरकार की मेक इन इंडिया मुहिम के लिए बड़ी जीत के तौर पर देखा जा रहा है. अभी आईफ़ोन उत्पादन का मुख्य केंद्र चीन है.

इमेज कॉपीरइट Apple
Image caption आईफ़ोन

फॉक्सकॉन टेक्नोलॉजी ग्रुप चेयरमैन का कहना है कि इस साल के अंत से भारत में इसका निर्माण शुरू हो जाएगा. यह ख़बर हिंदुस्तान टाइम्स ने प्रकाशित की है.

वेल्लोर सीट पर चुनाव कराने को लेकर संदेह

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडियन एक्सप्रेस की एक ख़बर के मुताबिक़, निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति को सलाह दी है कि वेल्लोर की सीट पर होने वाले चुनाव को रद्द कर दिया जाए. आयोग का कहना है कि ऐसा मालूम पड़ता है कि वोटरों को प्रभावित करने के लिए पैसे का प्रयोग किया गया. वेल्लोर सीट पर चुनाव के दूसरे चरण में चुनाव होने हैं. दूसरे चरण का चुनाव 18 अप्रैल को है. पिछले दो सप्ताह में डीएमके नेताओं के पास से पैसे ज़ब्त होने के बाद आयोग ने यह सलाह दी है.

बाटा को तीन रुपये के बदले देने पड़े नौ हज़ार

नवभारत टाइम्स की एक ख़बर के मुताबिक़ बाटा इंडिया को एक ग्राहक से कैरी बैग के लिए 3 रुपए मांगना भारी पड़ गया. कंज्यूमर कोर्ट ने कंपनी को सेवा में कमी के लिए 9,000 रुपए कंज्यूमर को देने का आदेश सुनाया है. चंडीगढ़ के ग्राहक ने 5 फ़रवरी को बाटा स्टोर से जूते ख़रीदे थे. स्टोर ने इसके लिए उनसे 402 रुपए लिए जिसमें 3 रुपए कैरी बैग की क़ीमत थी. ग्राहक ने इसके बाद कंज्यूमर कोर्ट में केस कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार