गूगल प्ले स्टोर्स से टिक-टॉक ऐप गायबः पांच बड़ी ख़बरें

  • 17 अप्रैल 2019
टिक-टॉक इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत सरकार के गूगल और एप्पल के ऐप स्टोर से टिक-टॉक को हटाने की मांग के बाद गूगल के प्ले स्टोर पर टिक-टॉक डाउनलोड के लिए उपलब्ध नहीं है.

सोमवार को टिक-टॉक पर प्रतिबंध को लेकर एक याचिका की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वो इस मामले पर 22 अप्रैल को सुनवाई करेगा क्योंकि मद्रास हाई कोर्ट में इस पर सुनवाई हो रही है, इसलिए सुप्रीम कोर्ट इस पर बाद में सुनवाई करेगा.

हालांकि सुप्रीम कोर्ट के इसी दौरान ऐप को लेकर मद्रास हाईकोर्ट के फैसले पर स्टे लगाने से इनकार भी कर दिया था.

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार से चीन के इस वीडियो मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाने के लिए कहा था. अदालत ने कहा था कि यह युवाओं के भविष्य और बच्चों के दिमाग को ख़राब कर रहा है.

'टिक-टॉक' क्या है जिसके दीवाने हो रहे हैं लोग

इमेज कॉपीरइट AFP

राहुल गांधी पर बयान को लेकर बीजेपी नेता पर एफ़आईआर

चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर हिमाचल प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती के ख़िलाफ़ मंगलवार को आपराधिक मामला दर्ज किया गया है.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी देवेश कुमार ने सत्ती को नोटिस जारी कर उनसे 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा है.

सत्ती ने 13 अप्रैल को सोलन में राहुल गांधी और उनके परिवार को चोर कहा था.

उन्होंने यह भी कहा था कि गांधी परिवार के सदस्य, जैसे सोनिया गांधी और रॉबर्ट वाड्रा जमानत पर हैं और इसलिए राहुल इस स्थिति में नहीं हैं कि दूसरे पर टिप्पणी करें.

सत्ती ने इस पर सफ़ाई दी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सिद्धू के विवादित भाषण पर एफ़आईआर दर्ज

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के ख़िलाफ़ आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर एक एफ़आईआर दर्ज की गई है.

सिद्धू ने कटिहार में एक चुनवी सभा में कहा था कि अगर नरेंद्र मोदी को हराना है तो सभी मुस्लिमों को एकजुट होकर वोट करना पड़ेगा.

उन्होंने यह भी कहा था कि 'ये बीजेपी वाले लोग आपको बांटने की कोशिश करेंगे, लेकिन आप एकजुट रहे तो कांग्रेस को कोई नहीं हरा सकेगा.'

इससे पहले विवादित बयान को लेकर चुनाव आयोग उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत, सपा नेता आज़म ख़ान, केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और बीएसपी सुप्रीमों मायावती पर कार्रवाई करते हुए इनके चुनाव प्रचार पर कुछ दिनों के लिए रोक लगा चुका है.

इमेज कॉपीरइट PTI

आयकर छापे के बाद बोलीं कनिमोझी- बीजेपी मुझे जीतने से नहीं रोक सकती

इनकम टैक्स विभाग ने डीएमके की राज्य सभा सांसद और लोकसभा चुनावों में थुटूकुडी संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार कनिमोझी के घर पर छापा मारा है.

हालांकि इस खोजबीन में वहां कुछ भी नहीं मिला और तलाशी अभियान को ख़त्म कर दिया गया.

इस छापे के बाद कनिमोझी ने कहा, "बीजेपी मुझे जीतने से नहीं रोक सकती."

कनिमोझी थुटूकुडी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रही हैं जहां उनके ख़िलाफ़ बीजेपी के राज्य अध्यक्ष तमिलिसाई सौंदराराजन खड़े हैं. इस सीट के लिए मतदान 18 अप्रैल को होना है.

इमेज कॉपीरइट EPA

अमरीकी समाचार पत्र कैपिटल गज़ट को पुलित्ज़र पुरस्कार

अमरीका के एक स्थानीय समाचार पत्र कैपटल गज़ट ने अपने न्यूज़ रूम में बड़े पैमाने पर हुई गोलीबारी की घटना के कवरेज के लिए पुलित्ज़र पुरस्कार जीता है.

सोमवार को मैरीलैंड में कैपिटल गज़ट को जब अमरीकी पत्रकारिता का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार जीतने का पता चला तो भी उसने कोई जश्न नहीं मनाया.

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से संबंधित तफ्तीश के लिए न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉल स्ट्रीट जर्नल को भी पुलित्ज़र मिला.

ऐनापोलिस में कैपिटल गज़ट ने अमरीकी इतिहास में पत्रकारों पर सबसे घातक हमलों में से एक के मामले में अपने कवरेज और साहस के लिए विशेष पुलित्ज़र पुरस्कार जीता.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार