राहुल की नागरिकता क्या है, केंद्र सरकार ले फ़ैसलाः आज की पांच बड़े ख़बरें

  • 20 अप्रैल 2019
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भारतीय नागरिक होने के सवाल पर केंद्र सरकार को ईमानदारी और जल्द निर्णय लेने को कहा है.

एक याचिका की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह बातें कही. याचिका में कहा गया है कि राहुल ब्रिटिश नागरिकता ले चुके हैं और वो कानूनी तौर पर भारतीय नगारिक नहीं बन सकते.

आरोप है कि राहुल गांधी ने अपनी एक कंपनी के लंदन में दाखिल इनकम टैक्स रिटर्न में खुद को ब्रिटेन का नागरिक बताया है.

मामले में न्यायमूर्ति देवेंद्र कुमार अरोड़ा और न्यायमूर्ति मनीष माथुर की खंडपीठ ने राहुल की नागरिकता पर केंद्र को जल्द निर्णय लेने को कहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ईवीएम की निगरानी करने वाला अफसर लापता

पश्चिम बंगाल में ईवीएम की निगरानी करने वाले अफसर 24 घंटे से लापता हैं.

अर्नब राय नदिया ज़िले के राणाघाट संसदीय क्षेत्र के कृष्णानगर में बतौर नोडल अधिकारी के रूप में ईवीएम और वीवीपैट प्रभारी की जिम्मेदारी संभाल रहे थे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक आयोग के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है. आयोग ने जिलाधिकारी से रिपोर्ट देने को कहा है और लापता अधिकारी की जगह नए अधिकारी को तत्काल प्रभाव से उनका प्रभार सौंप दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'न्याय योजना' पर कांग्रेस, चुनाव आयोग को इलाहाबाद हाई कोर्ट का नोटिस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कांग्रेस की न्यूनतम आय योजना (न्याय) को लेकर पार्टी को शुक्रवार को नोटिस जारी किया. कोर्ट ने चुनाव आयोग से भी जवाब मांगा है.

कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में ग़रीबों को 72 हज़ार रुपये सालाना की आर्थिक मदद देने का वादा किया है.

पीटीआई के मुताबिक मोहित कुमार और अमित पांडे की दर्ज याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस सुधीर अग्रवाल और जस्टिस राजेंद्र कुमार की बेंच ने पूछा है कि इस तरह की घोषणा वोटरों को रिश्वत देने की कैटगरी में क्यों नहीं है.

कोर्ट ने कांग्रेस को 10 दिनों के अंदर जवाब देने को कहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अखिलेश ने कहा, कांग्रेस सबसे धोखेबाज पार्टी

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि कांग्रेस देश की सबसे धोखेबाज पार्टी है. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे ख़िलाफ़ ईडी और सीबीआई की जांच कांग्रेस राज में ही हुई थी.

उन्होंने कहा पीआईएल करने वाला व्यक्ति कांग्रेस और भाजपा दोनों से मिला हुआ है. कांग्रेस का स्तर गिर गया है.

शुक्रवार को करीब ढाई दशक बाद बसपा सुप्रीमो ने मैनपुरी में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के साथ मंच साझा किया था.

इस रैली के बाद ही अखिलेश ने यह बयान दिया.

इमेज कॉपीरइट AFP

सूडानः लोकतांत्रिक सरकार बनाने की कबायद

सूडान में सैन्य शासन का विरोध करने वाले प्रदर्शनकारी नेताओं का कहना है कि वे एक लोकतांत्रिक सरकार बनाना चाहते हैं.

सूडानी प्रोफेशनल एसोसिएशन का कहना है कि वे रविवार को अपने सदस्यों के नामों की घोषणा करेंगे.

सूडान में इस बात की चर्चा है कि यह संगठन सेना पर दबाव बनाएगी जिसने हाल ही में ओमर अल बशीर का तख्तापलट किया था और फिलहाल सत्ता संभाल रही है.

सेना के मुख्यालय के बाहर हज़ारों की संख्या में प्रदर्शनकारी अभी भी मौजूद हैं. एक प्रदर्शनकारी नसरल्लाह जुबेर ने कहा कि देश की युवा पीढ़ी इस लड़ाई को आगे तक ले जाएगी. उन्होंने कहा, ''मेरा विश्वास है कि देश के युवा बहुत मज़बूत इरादों वाले हैं. वो तब तक शांत नहीं बैठेंगे जब तक सूडान के लोगों की सभी मांगे पूरी नहीं हो जाती. हम इन्हीं युवाओं को अपना प्रतिनिधि मान रहे हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए