मजिस्ट्रेट पर हमला, बीजेडी के पूर्व मंत्री प्रदीप महारथी गिरफ़्तार

  • 22 अप्रैल 2019
फेसबुक- प्रदीप महारथी इमेज कॉपीरइट Facebook/Pradeep Maharathi

लोकसभा के तीसरे चरण के मतदान से ठीक पहले ओडिशा में बीजू जनता दल के पूर्व मंत्री तथा वर्तमान विधायक प्रदीप महारथी को ओडिशा पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

प्रदीप महारथी बीजेडी टिकट से पीपली विधानसभा सीट से उम्मीदवार हैं. रविवार रात चुनाव फ्लाइंग स्क्वाड के मजिस्ट्रेट और स्टेटिक सर्विलांस टीम (एसएसटी) टीम के सदस्यों पर विधायक महारथी और उनके समर्थकों द्वारा कथित रूप से हमला किया गया.

घटना उस समय हुई जब अधिकारी रविवार रात पुरी ज़िले के पिपली में महारथी के फार्महाउस पर छापा मारने गए थे.

चुनाव निगरानी टीम और एसएसटी टीम चुनाव में पैसे और शराब के वितरण के बारे में जानकारी जुटाने के बाद फार्महाउस गए थे.

इमेज कॉपीरइट Subrat Kumar Pati / BBC
Image caption मजिस्ट्रेट रबी नारायण पात्रा

दावा है कि टीम के कैमरामैन पर हमला किया गया और कैमरे को तोड़ दिया गया. हमले के बाद मजिस्ट्रेट रबी नारायण पात्रा को भुवनेश्वर के कैपिटल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया.

घायल मजिस्ट्रेट रबी नारायण पात्रा ने कहा "प्रदीप महारथी के फार्महाउस पर पैसे और शराब बांटने की जानकारी मिलने के बाद, मैं एसएसटी टीम के साथ जांच के लिए गया था. जैसे ही हम वहाँ पहुँचे, प्रदीप महारथी फार्महाउस में घुस गए और गालियाँ देने लगे और बाद में मुझे और मेरी टीम पर हमला किया."

इमेज कॉपीरइट Subrat Kumar Pati / BBC

पुरी के डीएम ज्योति प्रकाश दाश ने मीडिया को कहा कि इस घटना में कुछ पुलिस अधिकारी और जाँच दल के सदस्य भी घायल हुए हैं.

पुरी के एसपी उमाशंकर दास ने महारथी की गिरफ़्तारी की पुष्टि की है. उन पर 307 समेत कई अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि विधायक की गिरफ़्तारी के लिए उनके पास पर्याप्त सबूत हैं.

एसपी के मुताबिक घटना से जुड़े अन्य अभियुक्तों को तलाशा जा रहा है.

पीपली में मंगलवार को मतदान होना है. बीजेडी उम्मीदवार तथा विधायक के गिरफ़्तारी के बाद पीपली में बड़ी तादाद में केंद्रीय सुरक्ष्य बलों की तैनात की गयी है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
ओडिशा में सियासी प्रभाव बढ़ाने और मतदाताओं को लुभाने के लिए कैसी है बीजेपी की तैयारी

ओडिशा में बड़ा कौन, मोदी या नवीन?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार