ममता के 40 विधायक भाजपा के संपर्क में: मोदी

  • 29 अप्रैल 2019
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट ANI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस के 40 विधायक भाजपा के संपर्क में हैं और लोकसभा चुनावों में पार्टी (बीजेपी) की जीत के बाद यह लोग तृणमूल से नाता तोड़ लेंगे.

तृणमूल नेता डेरेक ओ ब्रायन ने प्रधानमंत्री के बयान पर कहा है कि वो इसकी शिकायत चुनाव आयोग में करेंगे.

उन्होंने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा, "आपके साथ कोई नहीं जाएगा, यहां तक कि एक पार्षद भी नहीं. आप चुनाव प्रचार कर रहे हैं या ख़रीद फ़रोख़्त कर रहे हैं, आपके जाने का वक्त आ गया है. हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप में चुनाव आयोग से आज हम आपकी शिकायत करने जा रहे हैं."

मोदी पश्चिम बंगाल में हुगली ज़िले के श्रीरामपुर में भाजपा की एक चुनावी रैली में बोल रहे थे. पहले की रैलियों की तरह प्रधानमंत्री के निशाने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ही रहीं.

इसके साथ ही उन्होंने विपक्षी दलों के महागठबंधन को भी भी आड़े हाथों लिया.

मोदी ने कहा, "23 मई को लोकसभा चुनावों के नतीजे के बाद हर जगह बीजेपी ही नजर आएगी. दीदी! आपके तमाम विधायक आपका साथ छोड़ कर बीजेपी का दामन थाम लेंगे. आज भी आपके 40 विधायक हमारे संपर्क में हैं."

मोदी ने ममता पर इन विधायकों के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अब उनकी (ममता की) राह मुश्किल हो गई है.

तृणमूल कांग्रेस काडरों को गुंडों का गिरोह बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल बैलट बाक्स के जरिए इन गुंडों को बाहर का रास्ता दिखा देगा.

ममता पर भाई-भतीजावाद का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे बंगाल में अपने भतीजे को राजनीतिक रूप से स्थापित करना चाहती हैं.

'दिल्ली बहुत दूर है'

प्रधानमंत्री बनने की दीदी की महात्वाकांक्षा का मखौल उड़ाते हुए उन्होंने कहा, "दीदी! मुठ्ठी भर सीटें लेकर आप दिल्ली नहीं पहुंच सकतीं. दिल्ली बहुत दूर है."

उन्होंने कहा कि दीदी के पैरों तले की राजनीतिक जमीन खिसक रही है. अब वे प्रधानमंत्री बनने का सपना भी नहीं देख सकतीं. मोदी ने कहा कि दिल्ली जाना तो एक बहाना है. ममता यहां अपने भतीजे को स्थापित करना चाहती हैं.

इमेज कॉपीरइट ANI

ईवीएम की साख पर सवाल उठाने के लिए विपक्ष की खिंचाई करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले विपक्ष सिर्फ़ उनको गाली देता था. लेकिन अब ईवीएम को भी नहीं बख्शा जा रहा है.

उन्होंने कहा, "विपक्ष का अभियान मोदी को गाली देने पर ही केंद्रित है.अगर इन गालियों को निकाल दिया जाए तो उसके पास कुछ नहीं बचेगा. हार तय जान कर ही वह ऐसा कर रहा है."

उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर चुनावी धांधली करने का आरोप लगाते हुए कहा कि तृणमूल के गुंडे आम लोगों को वोट डालने से रोक रहे हैं. मोदी ने कहा कि दीदी पुलिस का इस्तेमाल अपनी निजी सुरक्षा एजेंसी के तौर पर करना चाहती हैं.

दूसरी ओर, ममता बनर्जी ने अपनी एक रैली में मोदी पर जवाबी हमला करते हुए आरोप लगाया है कि वे बंगाल में राजनीतिक अस्थरिता पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए