बीजेपी को फ़ायदा पहुंचाने के बजाय मरना पसंद करूंगी: प्रियंका गांधी-पांच बड़ी ख़बरें

  • 3 मई 2019
प्रियंका गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि बीजेपी को फ़ायदा पहुंचाने के बजाय मैं मरना पसंद करूंगी. मैं कभी भी ऐसी विनाशक विचारधारा से समझौता नहीं कर सकती.

हाल ही में प्रियंका गांधी ने कहा था कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस प्रत्याशी बीजेपी का वोट काट रहे हैं, लेकिन बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि कांग्रेस अप्रत्यक्ष रुप से बीजेपी को फ़ायदा पहुंचा रही है.

इसके जवाब में प्रियंका गांधी ने राय बरेली में चुनाव प्रचार के दौरान कहा, ''मैंने साफ़ तौर पर कहा है कि कांग्रेस अपने दम पर चुनाव लड़ रही है. मैं बीजेपी को फ़ायदा पहुंचाने के बजाय मरना पसंद करूंगी. हमने जहां मज़बूत उम्मीदवार उतारे हैं वहां हम जीत रहे हैं लेकिन जहां हमारे उम्मीदवार मज़बूत नहीं हैं वहां हम बीजेपी को नुक़सान पहुंचा रहे हैं.''

मायावती ने कहा था कि कांग्रेस और बीजेपी एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं, कांग्रेस को वोट देना, अपना वोट बर्बाद करना है. कांग्रेस ने हर जगह ऐसे उम्‍मीदवार खड़े किए हैं जिससे महागठबंधन के प्रत्‍याशी को नुक़सान पहुंचे.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK/ RAHUL GANDH

राहुल गांधी को चुनाव आयोगकी क्लीन चिट

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनाव आयोग ने उनके बयान पर क्लीन चिट दी है. आयोग का कहना है कि मध्यप्रदेश की रैली में अमित शाह से जुड़ा बयान देकर उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया है.

चुनाव आयोग ने कहा, ''जबलपुर के ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने उनके भाषण की पूरी ट्रांसक्रिप्ट भेजी और इसकी जांच विस्तार से की गई, आयोग का मानना है कि आदर्श आचार संहिता का कोई उल्लंघन नहीं किया गया.''

23 मई को मध्य प्रदेश के शहडोल राहुल गांधी ने कथित तौर पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को कहा था, ''हत्या आरोपी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह. वाह, क्या शान है!''

बीजेपी ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

योगीको फिर चुनाव आयोग का नोटिस

केंद्रीय चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उनकी कथित 'बाबर की औलाद' बयान पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

चुनाव आयोग के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश के संभल में 19 अप्रैल को एक रैली में योगी ने कहा था, ''क्या आप देश की सत्ता आतंकवादियों को सौंप देंगे जो ख़ुद को बाबर की औलाद कहते हैं, उनको जो बजरंगबली का विरोध करते हैं.''

चुनाव आयोग ने उन्हें जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय दिया है. इससे पहले योगी के 'अली और बजरंगबली' बयान पर चुनाव आयोग ने 72 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर प्रतिबंध लगा दिया था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करना 15 साल की कोशिश- कांग्रेस

कांग्रेस ने कहा है कि मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 15 सालों की कोशिशों के बाद वैश्विक आतंकवादी घोषित किया है.

कांग्रेस ने सत्तारूढ़ बीजेपी की ओर से इस पूरे ममाले का क्रेडिट लेने की निंदा की है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति करते हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव शुक्ला ने कहा, ''मनमोहन सिंह सरकार ने कई बड़े आतंकवादियों को सबक़ सिखाया और हाफ़िज़ सईद को, ज़की-उर-रहमान लखवी और अन्य आतंकवादियों घोषित कराया.''

उन्होंने कहा कि सबसे पहले 2009 में भारत ने अज़हर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए प्रस्ताव पेश किया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

मादुरो के पक्ष में सेना का एकता प्रदर्शन

वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकालस मादुरो ने देश के शीर्ष सैन्य प्रमुखों के साथ एकता प्रदर्शन किया. उनके रक्षामंत्री व्लादमीर पड्रिनो ने वेनेज़ुएला के लिए अमरीका के विशेष दूत के उन दावों को ख़ारिज किया जिनमें कहा गया था कि वेनेज़ुएला के शीर्ष सैन्य अधिकारी मादूरो को गद्दी से हटाने के लिए विपक्ष से बातचीत कर रहे हैं.

इस बीच अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि वो चाहते हैं कि वेनेज़ुएला का संकट जल्द ख़त्म हो.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार