लोकसभा चुनाव 2019 - विद्यासागर की मूर्ति टीएमसी के गुंडों ने तोड़ी: अमित शाह

  • 15 मई 2019
अमित शाह इमेज कॉपीरइट Getty Images

कोलकाता में मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा के लिए अमित शाह ने टीएमसी कार्यकर्ताओं को ज़िम्मेदार ठहराया है.

उन्होंने बुधवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी डरी हुई हैं. उन्होंने कहा कि 'ममता दीदी' ने उन पर एफ़आईआर कराई है और उनकी एफ़आईआर से बीजेपी कार्यकर्ता नहीं डरते, इस बार बीजेपी के पक्ष में और मज़बूती से मतदान होगा.

अमित शाह ने कहा, "चुनाव का अंतिम चरण आ चुका है लेकिन कहीं हिंसा नहीं हुई. ममता बनर्जी का आरोप है कि बीजेपी हिंसा कर रही है. उनकी पार्टी केवल 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि हम हर राज्य में चुनाव लड़ रहे हैं. अगर बीजेपी हिंसा करती तो हर राज्य में हिंसा हो रही होती."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'पुलिस मूकदर्शक बनी रही'

उन्होंने कहा, "कल बीजेपी का रोड शो था और तीन घंटे पहले जो पोस्टर-बैनर लगाए थे उसे हटाए जाने का काम शुरू हुआ और पुलिस मूकदर्शक बनकर देखती रही. बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने शांति बनाई रखी. रोड शो शुरू हुआ तो उसमें बीजेपी को अभूतपूर्व समर्थन मिल रहा था. इस दौरान तीन हमले हुए. तीसरे हमले में आगजनी, पथराव और पेट्रोल बम फेंकने की घटना हुई. इस तरह की अफ़वाहें थीं कि कॉलेज के बंदे आकर दंगा करेंगे लेकिन पुलिस ने पहले से कोई कार्रवाई नहीं की."

प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कुछ तस्वीरें दिखाईं. उन्होंने कहा कि उन्हें हिंसा के दौरान सीआरपीएफ़ के जवानों ने बचाया.

टीएमसी ने बीजेपी पर विद्यासागर कॉलेज में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने का आरोप लगाया है लेकिन अमित शाह ने एक तस्वीर दिखाते हुए कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता कॉलेज के बाहर खड़े थे और दरवाज़े बंद थे तो कार्यकर्ता अंदर जाकर कैसे मूर्ति तोड़ सकते हैं.

अमित शाह ने ट्रिब्यून अख़बार की तीसरी तस्वीर दिखाते हुए कहा कि विद्यासागर की प्रतिमा दो कमरों के अंदर थी तो कॉलेज बंद होते हुए कमरा किसने खोला, चाबी किसने दी, यह सारे सबूत बताते हैं कि विद्यासागर की प्रतिमा को टीएमसी के 'गुंडों' ने तोड़ा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

चुनाव आयोग पर भी साधा निशाना

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने अब तक पश्चिम बंगाल में 16 सभाएं की हैं और छह चरणों के मतदान के बाद यह पक्का हो चुका है कि बीजेपी चुनाव जीत रही है, इसी वजह से टीएमसी हिंसा कर रही है.

पश्चिम बंगाल में हिंसा पर अमित शाह ने चुनाव आयोग पर भी हमला किया. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग मूकदर्शक बना बैठा है और हिस्ट्रीशीटर-गुंडों को हिरासत में नहीं लिया जा रहा है.

उन्होंने चुनाव आयोग पर बहुत बेबाकी से अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल और बाकी देश के लिए अपने नियम अलग-अलग बनाए हैं.

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी पश्चिम बंगाल की 42 में से 23 सीटें जीत रही है और इस हिंसा की जांच ममता बनर्जी कराना चाहें करा लें और इस घटना को 23 तारीख़ के बाद देख लिया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार