मोदी- नाथूराम गोडसे पर दिया गया बयान कभी माफ़ नहीं करूंगा: लोकसभा चुनाव 2019

  • 17 मई 2019
प्रज्ञा ठाकुर इमेज कॉपीरइट Getty Images

हाल ही में, भोपाल लोकसभा से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर के महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर विवाद पैदा हो गया था.

इसके बाद पीएम मोदी ने एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में अपनी नाराज़गी जताई है. उन्होने कहा कि प्रज्ञा ठाकुर या जो भी इस तरह का बयान देगा उसे माफ़ नहीं करेंगे.

शुक्रवार को पीएम मोदी ने न्यूज़24 को इंटरव्यू दिया है जिसमें पत्रकार ने सवाल किया, ''आपने गांधी जी की बात की और हर समय गांधी का नाम लेकर आगे बढ़ते हैं, हर समय आप गांधी की विचारधारा की बात करते हैं. लेकिन साध्वी प्रज्ञा ने जिस तरह बयान दिया गोडसे को लेकर. हालांकि उन्होंने बाद में माफ़ी मांग ली. पार्टी की तरफ से कार्रवाई की बात भी चल रही है. लेकिन क्या आपको लगता है इस तरह के उम्मीदवार खड़ा करना और इस तरह बात करना गलत है?''

इसी सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ''गांधी जी या गोडसे के बारे में जो भी बात की गई है या जो भी बयान दिए गए हैं, ये भयंकर खराब हैं.''

पने इंटरव्यू में पीएम ने कहा, ''हर प्रकार से घृणा के लायक हैं. आलोचना के लायक हैं, सभ्य समाज के अंदर इस तरह की भाषा नहीं चलती है. इस प्रकार की सोच नहीं चल सकती. इसलिए ऐसा करने वालों को सौ बार आगे सोचना पड़ेगा. दूसरा, उन्होंने माफ़ी मांगली ये अलग बात है. लेकिन मैं अपने मन से माफ़ नहीं कर पाऊंगा.''

बीजेपी अधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट ट्विटर पर भी मोदी की नराज़गी दिखाई दी. जिसमें इंटरव्यू का स्ट्रीनशॉट लगाकर उनका बयान शेयर किया गया.

क्या कहा था प्रज्ञा ने?

इंटरव्यू से एक दिन पहले ही प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने ने कहा कि, "नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे."

साथ ही उन्होंने कहा, "जो लोग उन्हें आतंकवादी कहते हैं उन्हें अपने अंदर झांक कर देखना चाहिए. ऐसे लोगों को इन चुनावों में लोग मुंहतोड़ जवाब देंगे. "

बीजेपी ने प्रज्ञा के बयान से पल्ला झाड़ लिया है. बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि 'पार्टी उनके बयान से सहमत नहीं है. पार्टी उनसे सफ़ाई मांगेगी, उन्हें सार्वजनिक रूप से इस बयान के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए.'

इमेज कॉपीरइट NANA GODSE

इस बीच भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर कहा कि अमित शाह, और प्रदेश की बीजेपी इकाई बयान जारी करें और देश से माफ़ी मांगें.

दिग्विजय सिंह ने कहा, "मैं इस बयान की निंदा करता हूं, नाथूराम गोडसे हत्यारा था, उसकी तारीफ़ करना देशभक्ति नहीं है, ये देशद्रोह है."

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि 'गोडसे के वारिस, सत्तारूढ़ बीजेपी की ओर से भारत की आत्मा पर हमला है. बीजेपी के नेता राष्ट्रपिता के हत्यारे को सच्चा देशभक्त बता रहे हैं और जिन लोगों ने देश के लिए जान दे दी जैसे हेमंत करकरे, उन्हें देशद्रोही बता रहे हैं.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार