ग़ुलाम नबी आज़ाद बोले, पीएम पद न भी मिला तो मुद्दा नहीं बनाएगी कांग्रेस: प्रेस रिव्यू

  • 17 मई 2019
ग़ुलाम नबी आज़ाद इमेज कॉपीरइट ANI

बिज़नेस स्टैंडर्ड के मुताबिक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कहा है कि अगर एनडीए सत्ता में नहीं आती है तो उन्हें ग़ैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री से कोई परेशानी नहीं होगी.

गुरुवार को शिमला में आज़ाद ने कहा, "अगर उनकी पार्टी को प्रधानमंत्री पद की पेशकश नहीं की जाती है तो वो इसे मुद्दा नहीं बनाएगी."

उन्होंने कहा कि अगर केंद्र में भाजपा विरोधी गठबंधन सरकार बनती है और कांग्रेस इसका हिस्सा बनती है तो पार्टी इसे प्रतिष्ठा से नहीं जोड़ेगी. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी, 'जनविरोधी, किसान विरोधी, श्रमिक विरोधी और अर्थव्यवस्था विरोधी' भाजपा को सत्ता से बाहर करना चाहती है.

राज्यसभा सांसद आज़ाद ने दावा किया कि न तो बीजेपी और न ही एनडीए केंद्र में सरकार बनाने में कामयाब हो सकेगी.

पजेशन में एक साल से ज़्यादा की देरी तो मिलेगा रिफंड

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक शीर्ष उपभोक्ता आयोग (राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग) ने फ्लैट तैयार करने की देरी की सीमा निर्धारित कर दी है.

आयोग ने कहा है कि अगर बिल्डर एक साल से ज़्यादा देरी करता है तो ख़रीदार रिफ़ंड का दावा कर सकता है. कई न्यायिक संस्थाएं और सुप्रीम कोर्ट भी बार-बार कह चुका है कि ग्राहक रिफ़ंड का दावा कर सकता है लेकिन अब तक यह स्पष्ट नहीं किया गया था कि आख़िर कितनी देर होने पर रिफ़ंड का दावा किया जाए.

आयोग ने कहा है कि अगर घर सौंपने के वादे की तारीख़ से एक साल बाद भी बिल्डर पजेशन नहीं दे पाता है तो ख़रीदार अपना पैसा वापस पाने का दावा कर सकता है.

'ममता भी संत नहीं'

इमेज कॉपीरइट PTI

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर अमित शाह के रोड शो के दौरान हिंसा फैलाने का आरोप लगाते हुए शिवसेना ने गुरुवार को कहा कि भाजपा अध्यक्ष भगवान नहीं हैं तो ममता भी कोई संत नहीं हैं.

शिवसेना ने कहा कि ममता ने भाजपा नेता के हेलीकॉप्टर को राज्य में उतरने की अनुमति नहीं दी, जिससे भगवा दल और तृणमूल कांग्रेस के बीच संघर्ष शुरू हुआ.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना के संपादकीय में कहा कि ममता बनर्जी सरकार को लोकतांत्रिक ढंग से चुना गया था. वह जीतती हैं या हारती हैं यह लोकतांत्रिक तरीके से ही तय किया जाएगा. वह (प्रधानमंत्री नरेन्द्र) मोदी-शाह की राह में रोड़ा बनकर जीत नहीं सकतीं.

कोलकाता में हुई हिंसा के बाद ममता ने मंगलवार को कहा था कि भाजपा अध्यक्ष भगवान नहीं हैं.

605 स्कूलों की मान्यता रद्द हो सकती है

फाइनेंशियल टाइम्स के मुताबिक दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में कम से कम 605 निजी स्कूल यदि राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) द्वारा अनिवार्य की गई वर्षा जल संचयन प्रणाली को स्थापित करने में विफल रहने के लिए पांच लाख रुपए का पर्यावरण मुआवज़ा नहीं जमा करते हैं तो वे अपनी मान्यता गवां सकते हैं.

अधिकरण ने 2017 में दिल्ली सरकार के सभी स्कूलों और निजी स्कूलों के साथ-साथ कॉलेजों को अपने ख़र्च पर दो महीनों के भीतर अपने परिसरों में वर्षा जल संचयन प्रणाली स्थापित करने के निर्देश दिए थे.

अधिकरण ने यह भी कहा था कि कोई भी संस्था जो निर्धारित अवधि के भीतर वर्षा जल संचयन प्रणाली स्थापित करने में विफल रहती है, उसे पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति के लिए पांच लाख रुपए का भुगतान भी करना होगा.

घाटी में मुठभेड़

इमेज कॉपीरइट EPA

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के पुलवामा और शोपियां ज़िले में गुरुवार को सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ों में छह चरमपंथी मारे गये. मुठभेड़ में दो जवानों की भी मौत हो गई और एक आम नागरिक की भी जान चली गई.

पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि पुलवामा ज़िले में हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के तीन चरमपंथी मारे गये और दो सैनिक तथा एक नागरिक की भी मौत हो गयी. वहीं, शोपियां मुठभेड़ में भी तीन चरमपंथियों की मौत हो गई है.

प्रवक्ता ने कहा, पुलिस और सुरक्षाबलों ने विश्वसनीय सूचना के आधार पर सुबह पुलवामा ज़िले में डेलीपुरा इलाक़े की घेराबंदी करके तलाशी अभियान शुरू किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार