ऑक्सफ़र्ड डिक्शनरीज़ ने राहुल गांधी के 'Modilie' शब्द के दावे को बताया ग़लत- पांच बड़ी खबरें

  • 17 मई 2019
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट PTI

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार ट्वीट करके दावा किया कि Modilie शब्द अब अंग्रेज़ी डिक्शनरी में शामिल हो गया है.

कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के नेता और कार्यकर्ता नरेंद्र मोदी पर झूठ बोलने के आरोप लगाते हुए उनके लिए Modilie शब्द का इस्तेमाल करते रहे हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने ट्वीट के साथ एक स्क्रीनशॉट शेयर किया जिसमें इस शब्द का अर्थ बताया गया था- लगातार सच को बदलते रहना, लगातार और आदतन झूठ बोलना या बिना थके झूठ बोलना.

इस स्क्रीनशॉट में इस शब्द को वाक्यों के रूप में प्रयोग करके भी दिखाया गया था.

राहुल गांधी ने इसे शेयर करते हुए लिखा था, "इंग्लिश डिक्शनरी में एक नया शब्द है. इसकी एंट्री का स्नैपशॉट अटैच है." इसके साथ राहुल ने स्माइली का इस्तेमाल भी किया है.

यह स्क्रीनशॉट देखने में ऑक्सफ़र्ड लिविंग डिक्शनरीज़ जैसा लग रहा था, मगर वेबसाइट पर सर्च करने पर ऐसा कोई शब्द नहीं मिला.

अब ऑक्सफ़र्ड डिक्शनरीज़ के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट करके कहा है कि ऐसा कोई शब्द उसकी डिक्शरी में नहीं है.

राहुल गांधी के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए ऑक्सफ़र्ड डिक्शनरीज़ ने लिखा है- "हम पक्के तौर पर कह सकते हैं कि 'Modilie' शब्द की एंट्री फ़र्ज़ी है और यह शब्द हमारी किसी भी डिक्शनरी में मौजूद नहीं है."

राहुल गांधी ने एक और ट्वीट किया है जिसमें एक वेबसाइट का लिंक शेयर करते हुए लिखा है, "Modilie एक नया शब्द है जो पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो रहा है. अब तो एक ऐसी वेबसाइट भी है जो मोदीलाइज़ का हिसाब रखती है."

स्मृति ईरानी ने प्रियंका गांधी पर साधा निशाना

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर हमलावर होते हुए कहा कि वह वोट के लिए अमेठी में नमाज़ पढ़ती हैं और मध्य प्रदेश में महाकलेश्वर मंदिर में दर्शन करने जाती हैं.

इमेज कॉपीरइट SMRITI IRANI/FACEBOOK

प्रियंका गांधी का नाम लिए बिना ही स्मृति ईरानी ने कहा, '' कांग्रेस इतनी घबरायी हुई है कि उसकी महासचिव वोट के लिए अमेठी में नमाज़ पढ़ती हैं और दूसरी ओर मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकलेश्वर के मंदिर दर्शन के लिए जाती हैं. ''

स्मृति ईरानी अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ख़िलाफ़ चुनावी मैदान में हैं. इस सीट पर राहुल गांधी के लिए बहन प्रियंका गांधी चुनावी कैंपेन करती रही हैं.

इमेज कॉपीरइट CONGRESS/TWITTER

राहुल गांधी ने अलवर रेप पीड़िता से की मुलाकात

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को अलवर की रेप पीड़िता से मुलाक़ात की. उन्होंने कहा कि पीड़िता और उसके परिवार को न्याय मिलेगा.

इससे पहले राज्य की कांग्रेस सरकार पर बसपा सुप्रीमो मायावती और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मामले को दबाने का आरोप लगाया था.

राहुल गांधी ने कहा, ''मैं बस यह कहना चाहता हूं कि यह लड़की और इसके परिवार को न्याय मिलेगा. मैं यहां राजनीति करने नहीं आया हूं बल्कि यह मेरे लिए एक भावनात्मक मुद्दा है. मैं यहां पीड़िता से मिलने आया हूं.''

इमेज कॉपीरइट BILAL BAHADUR/BBC

'मुझे देशद्रोही कहलाने पर गर्व'

भोपाल से बीजेपी की उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे पर दिए गए बयान को लेकर देश की सियासत गरमा गई है. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ऐसी देशभक्ति से बेहतर मुझे देशद्रोही कहलाने पर गर्व है.

उन्होंने ट्वीट किया, ''एक हिंदू कट्टरपंथी जिसने महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या की, उसे देशभक्त बताया जा रहा है तो मुझे गर्व है कि मुझे देशद्रोही कहा जाता है. क्योंकि ऐसा राष्ट्रवाद और देशभक्ति हमारे बस की नहीं है, यह आपको मुबारक हो. ''

प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने गुरुवार को कहा कि, "नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे. जो लोग उन्हें आतंकवादी कहते हैं उन्हें अपने अंदर झांक कर देखना चाहिए. ऐसे लोगों को इन चुनावों में लोग मुंहतोड़ जवाब देंगे."

बीजेपी ने प्रज्ञा के बयान से पल्ला झाड़ लिया है. बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि पार्टी उनके बयान से सहमत नहीं है.

इमेज कॉपीरइट EPA

ट्रंप सरकार की नई प्रवासन नीति

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर सुरक्षा कड़ी करने और नई प्रवासन नीति का ख़ाका पेश किया है. उन्होंने कहा कि युवा, पढ़े-लिखे और अंग्रेज़ी बोलने वालों को नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी.

योग्यता के आधार पर अभी अमरीकी नौकरियों में आप्रवासियों का हिस्सा 12 फ़ीसदी है, लेकिन ट्रंप चाहते हैं कि ये हिस्सेदारी वैध आप्रवासियों के लिए 50 फ़ीसदी से अधिक हो. ट्रंप ने इसे व्यवस्था का आधुनिकीकरण बताया है, लेकिन डेमोक्रेट्स का कहना है कि ट्रंप के प्रस्ताव में कई अहम मुद्दों पर ध्यान नहीं दिया गया है.

डेमोक्रेट्स का कहना है कि प्रस्तावित नीति में उन लोगों को नागरिकता देने का रास्ता नहीं निकाला गया है, जिन्हें बच्चे के रूप में अमरीका लाया गया था, लेकिन उन्हें अमरीका में रहने का वैध अधिकार नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार