अरुणाचलः हमले में विधायक समेत 11 की मौत

  • 21 मई 2019
अरुणाचल प्रदेश के मारे गए विधायक तिरोंग अबो इमेज कॉपीरइट TIRONG ABOH/ FACEBOOK
Image caption अरुणाचल प्रदेश के मारे गए विधायक तिरोंग अबो

अरुणाचल प्रदेश के तिराप ज़िले में हुए एक चरमपंथी हमले में नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के विधायक तिरोंग अबो सहित 11 लोगों की मौत हो गई है.

तिरोंग अबो मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा की पार्टी के विधायक थे. वे 56 साल के थे.

बताया जा रहा है कि इस हमले में विधायक तिरोंग अबो के बेटे की भी मौत हो गई. जबकि दो लोग घायल बताए जा रहे हैं.

अरुणाचल पुलिस ने इस घटना की पुष्टि की है. पुलिस की ओर से जारी विज्ञप्ति के तिरोंग अबो अपने परिवार समेत सुरक्षा व्यवस्था के साथ असम से अरुणाचल जा रहे थे.

इस बीच खोनसा-देओमाली रोड में पहले से घात लगाकर बैठे कुछ बंदूकधारी हमलावरों ने उनके काफिले पर हमला कर दिया.

विधायक के काफिले में कुल चार गाड़ियां शामिल थीं. मारे गए लोगों में सुरक्षाबल के दो जवान भी शामिल हैं.

इस हमले के पीछे किस संगठन का हाथ है इसके बारे में पुलिस की ओर से कोई जानकारी नहीं दी गई है. हालांकि पुलिस ने इतना ज़रूर बताया है कि तिरोंग अबो को पहले भी कई बार धमकियां मिल चुकी थी.

इमेज कॉपीरइट DILEEP SHARMA/ BBC
Image caption पुलिस की ओर से जारी विज्ञप्ति

नागा संगठनों का खौफ़

अरुणाचल प्रदेश का यह ज़िला तीन तरफ से असम, नागालैंड और म्यांमार से लगता है. इस इलाके में नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ़ नागालैंड (एनएससीएन-आईएम) और एनएससीएन-के इन दोनों संगठनों की काफी सक्रियता रहती है.

गौर करने वाली बात है कि साल 2015 में जब प्रधानमंत्री मोदी जब नागालैंड गए थे तो उन्होंने एनएसीएन-आईएम के साथ संघर्ष विराम का समझौता किया था. इस संगठन के साथ अभी भी शांति प्रकिया के लिए बातचीत चल रही है.

अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी के उपाध्यक्ष डोमिनिक तादार ने बीबीसी से कहा है कि यह हमला जांच का मुद्दा है और इसके पीछे किस संगठन का हाथ है यह बात सीधे तौर पर अभी नहीं कही जा सकती.

इमेज कॉपीरइट TWITTER. NARENDRA MODI
Image caption नागालैंड दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

हमले की निंदा

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस हमले की निंदा करते हुए ट्वीट कर चुके हैं. उन्होंने लिखा है, ''अरुणाचल प्रदेश में विधायक तिरोंग अबो, उनके परिवार और अन्य लोगों की हत्या हैरान करने देने वाली है. यह उत्तर पूर्व की शांति और स्थिरता को बिगाड़ने वाला कदम है. इस जघन्य अपराध में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा.

मेघालय के मुख्यमंत्री और एनपीपी के प्रमुख कॉनराड संगमा ने इस हमले पर गहरा दुख जताते हुए ट्वीट किया है कि गृह मंत्री और प्रधानमंत्री को हमला करने वालों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करनी चाहिए.

अबो इस बार एनपीपी से विधानसभा चुनाव लड़ रहे थे. इससे पहले वह कांग्रेस से विधायक चुने गए थे.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने भी हमले की निंदा की है और हमलावरों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्यवाही का भरोसा जताया है.

नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफ़्यू रियो ने भी इस हमले की निंदा की है.

असम पुलिस भी इस हमले की निंदा कर चुकी है. अपने ट्विटर हैंडल पर असम पुलिस ने लिखा है कि अरुणाचल प्रदेश में हुए हमले में अपनी जान गंवाने वाले तिरोंग अबो सहित अन्य सुरक्षा बल के जवानों को श्रद्धांजलि.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे