सूरत : इमारत में भीषण आग, 20 की मौत

  • 25 मई 2019
कमर्शियल इमारत में आग इमेज कॉपीरइट GSTV

गुजरात के सूरत शहर के अधिकारियों के मुताबिक शुक्रवार शाम एक व्यावसायिक इमारत में लगी आग की वजह से मरने वालों की संख्या 18 तक पहुंच गई है. इस हादसे में कई लोग घायल भी हुए हैं, जिनका स्थानीय अस्पताल में इलाज किया जा रहा है.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने आग लगने के कारणों की जांच के आदेश दिए हैं. राज्य सरकार ने मृतकों के परिजन के लिए चार लाख रुपये की सहायता देने का एलान किया है.

मरने वालों में से अधिकतर इमारत में चलने वाले एक कोचिंग इंस्टीट्यूट के छात्र हैं.

शाम के वक़्त सूरत पुलिस कमिश्नर सतीश कुमार शर्मा ने 15 मौतों की पुष्टि की थी. बाद में सूरत के सीएमओ डा. जयेश पटेल ने बीबीसी गुजराती को बताया कि हादसे में 20 लोगों की मौत हुई है.

डा. पटेल ने बताया, "18 लोगों की मौत आग की वजह से झुलसने और दम घुटने से हुई. जबकि दो लोगों की मौत इमारत से कूदने की वजह से हुई."

प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक आग सूरत के तक्षशिला कॉम्प्लेक्स की तीसरी और चौथी मंज़िल पर लगी.

समाचार चैनलों पर प्रसारित तस्वीरों में आग लगने के बाद कुछ लोग इमारत की तीसरी और चौथी मंज़िल से कूदते हुए नज़र आए.

अधिकारियों ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग के 19 वाहनों को लगाया गया.

इमेज कॉपीरइट ANI

अचान फैली आग

इस घटना के एक प्रत्यक्षदर्शी विजय मंगुकिया पास के ही कपड़ा बाज़ार में कारोबारी हैं. बीबीसी गुजराती से फ़ोन पर बातचीत में उन्होंने बताया कि आग साढ़े चार बजे के आसपास लगी.

उन्होंने बताया कि सबसे पहले उन्होंने इमारत की छत से धुआं उठता देखा और फिर आग तुरंत फैल गई. उनके मुताबिक़ संभवत: छत थर्मोकोल की बनी हुई थी.

विजय का कहना है कि इमारत में ट्यूशन की क्लासेज़ चलती थीं और उन्होंने कुछ लड़कियों को तीसरी मंज़िल से दूसरी मंज़िल पर टिन की छत पर कूदते देखा.

उन्होंने कहा कि पहले चार दमकल कर्मी ही मौक़े पर पहुंचे थे मगर बाद में आग फैलने लगी तो औरों को बुलाया गया.

पीएम ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके घटना पर शोक जताया है. मोदी ने कहा है कि उन्होंने गुजरात सरकार और स्थानीय प्रशासन को प्रभावितों की हर संभव मदद करने के लिए कहा है.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने भी घटना पर शोक जताया है. ट्विटर पर उन्होंने लिखा है कि अधिकारियों को ज़रूरी क़दम उठाने के निर्देश दे दिए गए हैं.

समाचार एजेंसी एनएनआई के मुताबिक़ मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं और मरने वाले बच्चों के परिजनों को चार लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार