हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफ़ों का सिलसिला शुरू, तीन का इस्तीफ़ा- पांच बड़ी खबरें

  • 25 मई 2019
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

लोकसभा चुनाव में शर्मनाक हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफ़ों का सिलसिला शुरू हो गया है. उत्तर प्रदेश, ओडिशा और कर्नाटक से तीन सीनियर नेताओं ने पार्टी प्रमुख राहुल गांधी को अपना इस्तीफ़ा भेजा है.

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को प्रदेश की 80 सीटों में से केवल रायबरेली सीट पर ही जीत मिली है. यहां तक की राहुल गांधी भी अमेठी की सीट नहीं बचा पाए. इस हार के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.

राज बब्बर ख़ुद भी फ़तेपुर सिकरी से चुनावी मैदान में थे लेकिन उन्हें बीजेपी प्रत्याशी से क़रीब पाँच लाख वोटों से हार मिली है. बब्बर ने ट्वीट कर कहा है कि प्रदेश में वो इस हार की ज़िम्मेजारी लेते हुए इस्तीफ़ा दे रहे हैं.

कांग्रेस ने एचके पाटिल को कर्नाटक में चुनावी अभियान की ज़िम्मेदारी दी थी लेकिन यहां भी कांग्रेस बुरी तरह हार गई. इस हार के बाद पाटिल ने भी अपना इस्तीफ़ा सौंप दिया है.

इसी तरह ओडिशा कांग्रेस प्रमुख निरंजन पटनायक ने भी इस्तीफ़ा दे दिया है. ओडिशा में कांग्रेस को महज नौ विधानसभा सीट और एक लोकसभा सीट पर जीत मिली है. पटनायक ख़ुद दो विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रहे थे लेकिन दोनों पर हार मिली.

पटनायक के बेटे भी लोकसभा चुनाव लड़ रहे और उन्हें भी हार का सामना करना पड़ा. कांग्रेस में अभी और इस्तीफ़े हो सकते हैं लेकिन कांग्रेस आलाकमान इस मामले में कोई जल्दीबाजी में नहीं है.

कांग्रेस पार्टी में अहम फ़ैसले लेने की क्षमता रखने वाली कांग्रेस वर्किंग कमिटी की आज यानी शनिवार को बैठक होने वाली है. इस बैठक में चुनावी नतीजों की समीक्षा की जाएगी.

कांग्रेस ने उन अटकलों को ख़ारिज कर दिया है कि राहुल गांधी ने हार के बाद पार्टी प्रमुख से इस्तीफ़े की पेशकश की थी. कुछ नेताओं का कहना है कि राहुल सीडब्ल्यूसी की बैठक में इस्तीफ़े की पेशकश कर सकते हैं लेकिन स्वीकार नहीं किया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मोदी को नेता चुनने के लिए एनडीए की बैठक

बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए के नव निर्वाचित सांसदों की शनिवार को एक बैठक होगी. इस बैठक में वे नरेंद्र मोदी को औपचारिक रूप से अपना नेता चुनेंगे.

इससे पहले शुक्रवार को नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करके उन्हें अपना और मंत्रिमंडल का इस्तीफ़ा सौंपा और 16वीं लोकसभा को भंग करने की मांग की. सत्रहवीं लोकसभा का गठन तीन जून से पहले किया जाना है.

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 303 सीटों पर जीत मिली है वहीं एनडीए गठगबंधन को 350 सीटें हासिल हुई हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ममता बनर्जी ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

लोकसभा चुनाव के नतीजों में पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सीट घटने के बाद शनिवार को पार्टी प्रमुख ने अपने आवास पर आपालकालीन बैठक बुलाई है.

इस बार राज्य में बीजेपी की सीटों की संख्या में बड़ा उछाल आया है. बंगाल की 42 लोकसभा सीटों में से 18 पर बीजेपी को जीत मिली है और तृणमूल 22 सीटों पर सिमट गई. साल 2014 में बीजेपी बंगाल में महज दो सीटें जीत सकी थी और टीएमसी के खाते में 34 सीटें आई थीं लेकिन इस बार ममता बनर्जी की पार्टी को बड़ा नुकसान हुआ है.

इसके अलावा वोट शेयर की बात करें तो दोनों ही पार्टियों के शेयर में ज़्यादा अंतर नहीं है. टीएमसी को 43.28 फ़ीसदी वोट शेयर मिला है तो बीजेपी को 40.25 फ़ीसदी शेयर मिला है.

इमेज कॉपीरइट DRDO

डीआरडीओ का नया सफ़ल परीक्षण

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी डीआरडीओ ने शुक्रवार को राजस्थान के पोखरण में सुखोई लड़ाकू विमान से 500 किलोग्राम रेंज के एक गाइडेड बम छोड़ने का सफल परीक्षण किया.

यह बम देश में ही बनाया गया है. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि गाइडेड बम ने सफलतापूर्वक रेंज हासिल करते हुए लक्ष्‍य पर काफी सटीक निशाना लगाया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कौन होगा ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री

ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे के इस्तीफ़े की घोषणा के बाद अब उनके उत्तराधिकारियों के नाम की चर्चा है. अभी जो नाम प्रधानमंत्री पद की रेस में बताए जा रहे हैं, वो हैं- मौजूदा विदेश मंत्री जेरेमी हंट, पूर्व विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन, एस्टर मैक्वे और रोरी स्टुअर्ट.

टेरीज़ा मे ने शुक्रवार को अपने इस्तीफ़े का ऐलान किया था लेकिन वो सात जून तक पद पर बनी रहेंगी. वहीं, विपक्षी लेबर पार्टी के नेताओं ने ब्रिटेन में चुनाव कराए जाने की मांग की है.

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने मे के इस्तीफ़े के ऐलान पर खेद जताया है. उन्होंने कहा कि टेरीज़ा मे एक बहादुर महिला हैं और उन्होंने ब्रेग्ज़िट डील के लिए समर्थन जुटाने की पूरी कोशिश की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार