अमेठी में स्मृति इरानी के सहयोगी सुरेंद्र सिंह की हत्या के बाद तनाव

  • 26 मई 2019
सुरेंद्र सिंह इमेज कॉपीरइट ANI
Image caption सुरेंद्र सिंह

उत्तर प्रदेश में अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद स्मृति इरानी के एक क़रीबी सहयोगी की हत्या के बाद इलाक़े में तनाव बताया जा रहा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार पुलिस इसे एक राजनीतिक हत्या मानने से इनकार नहीं कर रही है.

अमेठी के अतिरिक्त एसपी दया राम ने पीटीआई को बताया कि बरौलिया गाँव के पूर्व सरपंच 50 वर्षीय सुरेंद्र सिंह को शनिवार रात 11:30 बजे गोली मार दी गई जिसके बाद उन्हें लखनऊ ले जाया गया मगर इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

पुलिस ने बताया कि दो लोगों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.

ये भी बताया जा रहा है कि स्मृति इरानी भी अमेठी पहुँचने वाली हैं.

प्रियंका ने लिया था गाँव का नाम

चुनाव अभियान के दौरान बरौलिया गाँव का नाम सुर्खियों में आया था जब कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने स्मृति इरानी पर आरोप लगाया था कि उन्होंने वहाँ राहुल गांधी को अपमानित करने के लिए गाँव के लोगों के बीच जूते बँटवाए.

अमेठी से बीजेपी के स्थानीय नेता राजेश अग्निहोत्री ने पीटीआई से कहा कि सुरेंद्र सिंह और अन्य पार्टी नेताओं ने गाँव में जूते बँटवाए थे.

स्मृति ईरानी: मोदी विरोधी अनशन से राहुल का किला भेदने तक

प्रियंका गांधी बार-बार अमेठी क्यों जा रही हैं?

अग्निहोत्री ने कहा, ऐसी स्थिति में जबकि कांग्रेस अमेठी में अपने अध्यक्ष की हार से निराश है, इस हत्या की उच्च-स्तरीय जाँच करवाई जानी चाहिए.

अमेठी के पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने इस हत्या के पीछे राजनीतिक मक़सद होने की संभावना से इनकार नहीं किया.

उन्होंने पीटीआई से कहा, इस घटना को राजनीतिक हत्या मानने से इनकार नहीं किया जा सकता. सभी पहलुओं की जाँच की जा रही है. वैसे इसके पीछे कोई पुरानी रंज़िश भी वजह हो सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार