इमरान ख़ान की नरेंद्र मोदी से सीधी बात, क्या मिलेगा शपथग्रहण समारोह का न्यौता

  • 27 मई 2019
नरेंद्र मोदी और इमरान ख़ान इमेज कॉपीरइट Getty Images

14 फ़रवरी को भारत प्रशासित कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों पर चरमपंथी हमले और उसके बाद भारतीय वायु सेना द्वारा बालाकोट में की गई एयरस्ट्राइक के बाद पहली बार भारतीय और पाकिस्तानी प्रधानमंत्रियों के बीच रविवार को सीधी बातचीत हुई.

भारतीय और पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि रविवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टेलिफ़ोन कॉल करके लोकसभा चुनावों में उन्हें जीत की बधाई दी.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री से क्षेत्रीय शांति और विकास के लिए आतंकवाद की समाप्ति के लिए लड़ने पर ज़ोर दिया.

बयान के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि हमारे क्षेत्र में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए भरोसे, हिंसा और आतंकवाद से मुक्त वातावरण बनाना आवश्यक है."

वहीं, पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि टेलिफ़ोन कॉल के दौरान इमरान ख़ान ने भारतीय प्रधानमंत्री से दक्षिण एशिया में शांति, विकास और आपसी सहयोग के अपने वादे को दोहराया.

प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कहा कि वह भारतीय प्रधानमंत्री के साथ इन मुद्दों पर काम करने को लेकर उत्साहित हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

2014 में शपथ ग्रहण में नवाज़ शरीफ़

पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंध बेहद तनावपूर्ण हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरी बार लोकसभा चुनावों में जीत दर्ज की है जबकि 2014 में चुनाव जीतने के बाद अपने शपथ ग्रहण समारोह में उन्होंने दक्षिण एशियाई देशों के राष्ट्र प्रमुखों को आमंत्रित किया था.

इस शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ भी शामिल थे. इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शपथ ग्रहण समारोह 30 मई को है.

वह इस बार किन देशों के राष्ट्र प्रमुखों को शपथ ग्रहण समारोह में बुलाएंगे यह अभी तक साफ़ नहीं है.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में यह भी बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इमरान ख़ान के अलावा मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति और नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री ने भी टेलीफ़ोन कॉल करके बधाई दी.

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने प्रधानमंत्री मोदी को उनकी ऐतिहासिक जीत पर बधाई देते हुए क्षेत्र में कट्टरपंथ और चरमपंथ से साथ लड़ने की महत्ता पर बल दिया. इसके जवाब में प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें धन्यवाद देते हुए क्षेत्र में विकास, सुरक्षा और शांति पर साथ काम करने का भरोसा दिलाया.

वहीं, नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री माधव कुमार नेपाल ने भी प्रधानमंत्री मोदी को बधाई दी. उन्होंने कहा कि विश्व शक्ति के रूप में भारत का उदय पूरे क्षेत्र का उत्थान करेगा.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार