अरुण जेटली के घर पहुंचे मोदी

  • 29 मई 2019
मोदी जेटली इमेज कॉपीरइट Getty Images

शपथ ग्रहण से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछली सरकार में वित्त मंत्री रहे अरुण जेटली के घर उनसे मिलने पहुंचे.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, मोदी बुधवार की रात 8.30 बजे जेटली के आवास पर पहुंचे.

माना जा रहा है कि वो जेटली से अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील करेंगे और नई सरकार में बने रहेंगे.

गौरतलब है कि अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया था कि उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया जाए.

उन्होंने ट्वीट कर बताया कि सेहत के चलते उन्होंने ये फैसला लिया है और इस बारे में प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखी है.

जेटली ने इस पत्र में लिखा है, "पिछले डेढ़ साल से मैं सेहत की गंभीर चुनौतियों से जूझ रहा हूँ. चुनाव अभियान के बाद मैंने आपको मौखिक रूप से बता दिया था चुनाव अभियान के दौरान अपना दायित्व निभाने के बावजूद, भविष्य में अपने आपको किसी भी तरह की ज़िम्मेदारी से अलग रखना चाहूँगा."

"मैं आपसे अब औपचारिक रूप से आग्रह कर रहा हूँ कि मुझे अपने लिए, अपने इलाज के लिए, अपने स्वास्थ्य के लिए समय देने और अभी, नई सरकार में शामिल नहीं होने की अनुमति दी जाए."

बीमारी के चलते उनकी जगह रेल मंत्री पीयूष गोयल ने पिछला अंतरिम बजट पेश किया था.

लोकसभा चुनावों में भारी बहुमत मिलने के बाद नरेंद्र मोदी 30 मई को दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं.

इस मौके पर देश विदेश के कई ख़ास मेहमानों को आमंत्रित किया गया है, जिसमें विपक्ष के नेता भी शामिल हैं.

लेकिन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अंतिम क्षणों में शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने से इनकार कर दिया है.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी समारोह में शामिल होने में असमर्थता जताई है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, सोनिया गांधी और गुलाम नबी आज़ाद समारोह में शामिल होंगे.

जबकि पुद्दुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायनसामी ने कहा है कि उन्हें निमंत्रण मिला है और वो शामिल होने जा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार