भीषण गर्मी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, पारा आसमान पर

  • 1 जून 2019
दिल्ली की गर्मी इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption रमज़ान के दिन चल रहे हैं और रोज़ा रखने वालों को तपती गर्मी का सामना करना पड़ रहा है.

देश की राजधानी दिल्ली समेत देश के अधिकांश हिस्सों में प्रचंड गर्मी और लू की वजह से लोगों का हाल बुरा है.

इलाहाबाद, दिल्ली, जयपुर, लखनऊ समेत देश के कई शहरों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है.

दिल्ली में शुक्रवार का दिन इस मौसम का सबसे गर्म दिन रहा, मौसम विभाग ने इस दिन 47 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया.

हालांकि शनिवार को तापमान में कुछ कमी आई लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिनों तक राजधानी में पारा 45 डिग्री के आसपास बना रहेगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption उत्तर प्रदेश के शहर इलाबाद का तापमान गुरुवार को 48.6 डिग्री पहुंच गया था. इस दिन राज्य का ये सबसे गर्म शहर था.

यहां तक कि दक्षिण भारत भी भीषण गर्मी से बच नहीं पाया है, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, केरल, पुद्दुचेरी, तमिलनाडु के कई हिस्सों में पारा 44 डिग्री तक पहुंच गया है.

महाराष्ट्र का विदर्भ इलाका सबसे बुरी तरह प्रभावित है. मौसम की जानकारी देने वाली एक वेबसाइट अल डोराडो के अनुसार, पूरी दुनिया में अप्रैल के अंत में सबसे गर्म 15 शहरों में मध्य भारत के शहर थे.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption बेंगलुरु में अप्रैल में ही तापमान सामान्य से पांच से छह डिग्री ऊपर था.

महाराष्ट्र के चंद्रपुर में 48 डिग्री तापमान पहुंच गया था जबकि मई के अंत में ब्राह्मपुरी में तापमान 47.8 डिग्री पहुंच गया.

मध्य भारत में लू का प्रकोप जारी है. राजस्थान में इसकी वजह से जनजीवन प्रभावित हुआ है और बीकानेर में सर्वाधिक 45.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption राजस्थान के अजमेर में प्यास बुझाने की कोशिश करता बंदर.

यहां गंगानगर, जैसलमेर और कोटा में भी तापमान 45 से ऊपर बना हुआ है. जैसलमेर में पारा 49.6 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है. 1944 की गर्मियों में यहां का अधिकतम 49.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, अगले कुछ दिनों तक गर्मी की यही स्थिति बनी रह सकती है और तापमान बढ़ सकता है. लेकिन कुछ इलाकों में बारिश की भी संभावना है.

मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 1961 से 2018 के बीच तापमान में नाटकीय बढ़ोत्तरी (करीब 0.8 डिग्री सेल्सियस तक) दर्ज की गई है जबकि भारत में गर्मी के दिनों में भी वृद्धि हुई है.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption कोलकाता में तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर बना हुआ है.

इस साल हिल स्टेशन कहे जाने वाले मसूरी का तापमान भी 38 डिग्री को पार कर गया.

यही हाल पुणे का है जिसे कभी हिल स्टेशन माना जाता था. यहां तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. माना जा रहा है कि पिछले 50 सालों में ऐसा पहली बार हुआ है.

इमेज कॉपीरइट EPA

बेंगलुरु का तापमान 30 डिग्री से कम ही रहता था लेकिन इस बार यहां तापमान 40 डिग्री के आस पास रह रहा है.

मौसम विभाग का कहना है कि मानसून अगले पांच दिनों में केरल पहुंच जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे