पश्चिम बंगाल में हिंसा पर टकराव, शाह ने मांगी रिपोर्ट: प्रेस रिव्यू

  • 10 जून 2019
प्रदर्शन करते लोग इमेज कॉपीरइट AFP

बिज़नेस स्टैंडर्ड के मुताबिक़ पश्चिम बंगाल में हिंसा पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है.

गृहमंत्री अमित शाह ने हिंसा को ममता सरकार की नाकामी बताते हुए रिपोर्ट मांगी और दोषी लोगों व पुलिस अफ़सरों पर कार्रवाई के लिए कहा है. हालांकि राज्य सरकार ने इसे केंद्र का अनावश्यक दख़ल बताया है. राज्य सरकार ने गृह मंत्रालय की एडवाइज़री को असंवैधानिक बताते हुए इसे बंगाल की जनता का अपमान बताया है.

गृह मंत्रालय ने अपनी एडवाइज़री में कहा है कि केंद्र बंगाल की स्थिति पर चिंतित है. वहां एक हफ्ते से जारी हिंसा को देखते हुए लगता है कि राज्य की क़ानून व्यवस्था पूरी तरह विफल हो गई है.

लोकसभा चुनाव और उसके बाद राज्य में कई बार टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें हुईं हैं. आठ जून को उत्तरी 24 परगना ज़िले के भांगीपाड़ा में पांच लोगों की मौत हुई. तृणमूल कांग्रेस ने इसके लिए भाजपा के कार्यकर्ताओं को दोषी ठहराया है, शनिवार रात और रविवार सुबह भी भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं में झड़प हुई.

इस बीच, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात करेंगे. हालांकि उन्होंने इसे औपचारिक मुलाक़ात बताया है पर माना जा रहा है कि बैठक में राज्य के हालात पर भी चर्चा होगी.

अलीगढ़ में प्रदर्शन, आगज़नी

इमेज कॉपीरइट AFP

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक़ अलीगढ़ ज़िले के टप्पल में ढाई साल की बच्ची की जघन्य हत्या को लेकर पूरे ज़िले में तनाव है.

रविवार को महापंचायत के ऐलान को लेकर निषेधाज्ञा लागू होने के बाद बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए. पुलिसकर्मियों ने लाठी भांजकर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा है.

उधर, टप्पल जाने की ज़िद पर अड़ी साध्वी प्राची को जेवर टोल प्लाज़ा पर सुरक्षाकर्मियों ने रोक लिया. जिसको लेकर साध्वी और पुलिसकर्मियों के बीच नोकझोंक भी हुई. काफ़ी देर तक साध्वी टोल प्लाज़ा पर गाड़ी में बैठी रहीं. लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें टोल पार नहीं होने दिया. फिलहाल टप्पल में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है.

टप्पल की रहने वाली बच्ची 30 मई को घर के बाहर से खेलते समय लापता हुई थी. परिजनों ने गुमशुदगी का केस दर्ज कराया, लेकिन पुलिस ने सक्रियता नहीं दिखाई. तीन दिन बाद दो जून (रविवार) को उसका शव कूड़े के ढेर में क्षत-विक्षत हालत में मिला था. पुलिस ने इस प्रकरण में अब चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है.

अलीगढ़ से ग्राउंड रिपोर्ट: बच्ची की हत्या से सदमे में टप्पल

दो अफ़सरों का कोर्ट मार्शल संभव

इमेज कॉपीरइट Reuters

बिज़नेस स्टैंडर्ड के मुताबिक़ श्रीनगर के पास 27 फ़रवरी को क्रैश हुए एमआई 17 हेलिकॉप्टर मामले की जांच आख़िरी चरण में पहुंच गई है और एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार गंभीर चूक के लिए दो अफ़सरों का कोर्ट मार्शल किया जा सकता है.

पाकिस्तान के बालाकोट में चरमपंथी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की स्ट्राइक के बाद 27 फ़रवरी की सुबह पाकिस्तान ने जवाबी हमला करने की कोशिश की थी. इसी दौरान श्रीनगर के पास बडगाम में भारतीय वायुसेना का एमआई 17 हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया था. इस दौरान हेलिकॉप्टर में मौजूद सभी छह लोगों की मौत हो गई थी.

रिपोर्ट के अनुसार श्रीनगर के पास तैनात भारतीय वायुसेना के एयर डिफेंस सिस्टम 'स्पाइडर' के हमले में ही हेलिकॉप्टर क्रैश हुआ था. मामले की जांच पूरी होने के बाद ही इस बारे में अंतिम रिपोर्ट सामने आएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार