झारखंड 'मॉब लिंचिंग': पुलिस ने पीड़ित का बयान दर्ज किया, लेकिन मारपीट का ज़िक्र नहीं किया - पांच बड़ी ख़बरें.

  • 25 जून 2019
पांच बड़ी ख़बरें इमेज कॉपीरइट SARTAJ ALAM

झारखंड के एक गांव में एक युवक की भीड़ के ज़रिए पिटाई और उसके बाद उसकी मौत होने के मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

इसके साथ ही दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है. 24 वर्षीय तबरेज़ अंसारी पर मोटरसाइकिल चोरी करने का आरोप था जिसके बाद भीड़ ने उनकी काफ़ी देर तक पिटाई की.

इस बीच एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें तबरेज़ अंसारी से धार्मिक नारे लगवाए जा रहे हैं.

मारपीट के कुछ घंटों बाद झारखंड पुलिस ने चोरी के अभियुक्त तबरेज़ का बयान दर्ज किया था. लेकिन इसमें मारपीट का ज़िक्र नहीं किया गया, जबकि हमलावरों ने ख़ुद पूरी घटना को अपने मोबाइल फोन में रिकॉर्ड किया था. जिसमें तबरेज़ को पीटा जा रहा है.

हालांकि पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस का कहना है कि मारपीट की जानकारी मिलने के बाद उन्होंने गांव वालों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया था.

दरअसल 18 जून को हुई इस घटना के बाद तबरेज़ को पुलिस ने चोरी के मामले में गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया था.

शनिवार को इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

राजीव सक्सेना के ख़िलाफ़ याचिका पर सुनवाई आज

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में सुप्रीम कोर्ट आज राजीव सक्सेना के ख़िलाफ़ दायर प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर सुनवाई करेगी.

राजीव सक्सेना अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर मामले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में सरकारी गवाह हैं. उन्हें मेडिकल ग्राउंड पर विदेश यात्रा करने की अनुमति दी गई थी, जिसके ख़िलाफ़ प्रवर्तन निदेशालय ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

निदेशालय ने दिल्ली हाईकोर्ट के 10 जून के फैसले को चुनौती दी है, जिसमें सक्सेना को बल्ड कैंसर और दूसरी बीमारियों के इलाज के लिए 25 जून से 24 जुलाई तक विदेश जाने की इजाज़त दी थी.

निदेशालय ने इस अनुमति पर आपत्ति जताई थी और दिल्ली हाईकोर्ट को कहा था कि हेलिकॉप्टर डील मामले में जांच बेहद महत्वपूर्ण चरण में है.

लेकिन मामले में सरकारी गवाह बनाए जाने से पहले सक्सेना को मेडिकल ग्राउंड पर मिली ज़मानत को देखते हुए हाईकोर्ट ने उन्हें राहत दे दी.

25 मार्च को एक ट्रायल कोर्ट ने सक्सेना को सरकारी गवाह बनने के इजाज़त दी थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पोम्पियो का भारत दौरा

अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो तीन दिन के भारत दौरा पर हैं.

इस दौरान वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाक़ात करेंगे.

पोम्पियो ऐसे वक़्त में भारत आ रहे हैं जब ईरान और अमरीका के बीच तनाव चरम पर है. हालांकि पोम्पियो की ये भारत यात्रा पहले से तय थी.

इस मुलाक़ात के दौरान दोनों देशों के बीच के रिश्तों को मज़बूत करने की कोशिश की जाएगी.

इस दौरान चरमपंथ, व्यापार के अलावा पाकिस्तान, चीन समेत कई मुद्दों पर बातचीत होने की उम्मीद है.

इमेज कॉपीरइट @AMITSHAH

कश्मीर जाएंगे अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह 26 जून को भारत प्रशासित कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे.

एक जुलाई से अमरनाथ यात्रा शुरू होने वाली है जिसका जायज़ा लेने शाह जा रहे हैं. अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को लेकर अमित शाह पहले ही सीआरपीएफ के डीजी के साथ बैठक कर चुके हैं.

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक जून को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को राज्य में सुरक्षा हालात के बारे में अवगत कराया था.

बैठक के दौरान राज्यपाल ने गृह मंत्री को अमरनाथ यात्रा को लेकर तैयारी के बारे में जानकारी दी थी.

इसके साथ ही वो प्रदेश के बीजेपी नेताओं से भी मुलाक़ात करेंगे. एक जुलाई से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा 15 अगस्त तक चलेगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मानवाधिकार उल्लंघनों को छिपानें की कोशिशें

संयुक्त राष्ट्र की म्यांमार पर जारी की गई एक विशेष रिपोर्ट में बताया गया है कि रख़ाइन में हुए मानवाधिकार उल्लंघनों को छिपानें की कोशिशें की गई हैं.

इन इलाकों में म्यांमार की सेना ने मोबाइल डेटा पर रोक लगा दी थी.

यैंग ली नामक एक कार्यकर्ता ने बताया कि सेना ने उनसे कहा था कि वो एक तरह का सफाई अभियान चला रहे हैं.

यैंग ली ने कहा कि उन्हें डर है सैनिकों ने इस अभियान के दौरान कई लोगों का उत्पीड़न किया होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार