आकाश विजयवर्गीय: भगवान मुझे दोबारा बल्ला चलाने का मौका न दे- प्रेस रिव्यू

  • 1 जुलाई 2019
आकाश विजयवर्गीय इमेज कॉपीरइट AKASH VIJAYVARGIYA/FB

इंडियन एक्सप्रेस की एक ख़बर के मुताबिक एक सरकारी अधिकारी को पीटने वाले इंदौर के विधायक आकाश विजयवर्गीय ज़मानत पर बाहर आ गए हैं.

जेल से बाहर आने के बाद उनके समर्थकों ने उनका एक हीरो की तरह स्वागत किया.

आकाश विजयवर्गीय ने बाहर आकर कहा कि उन्हें उन्हें अपने किए पर कोई अफसोस नहीं है लेकिन वो गांधी के रास्ते पर चलने की कोशिश करेंगे. भगवान उन्हें दोबारा बल्ला चलाने का मौका न दे.

इस दौरान आकाश के समर्थन में नारे लगाए गए और उनके ऑफिस के बाहर बंदूक चलाकर उनका स्वागत किया गया.

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय को इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी को बल्ले से पीटने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

यह घटना तब हुई थी जब निगम के कर्मचारी असुरक्षित करार दिए गए एक मकान को गिराने आए और आकाश विजयवर्गीय ने उन्हें रोकने की कोशिश की.

इसके अलावा ऐसा ही एक और मामला आया है जिसमें तेलंगाना में वन विभाग की एक महिला अधिकारी सी अनीता पर लाठियों से हमला किया गया. तेलंगाना में सारसाला गांव में भूमि विवाद को लेकर सी अनीता पर लोगों ने हमला कर दिया और वो घायल हो गईं.

इस हमले में तेलंगाना राष्ट्र समिति के एक विधायक कोनूरु कन्नप्पा के भाई कोनेरू कृष्ण को गिरफ्तार किया गया है. इस घटना की एक वीडियो में कोनेरू कृष्ण भी महिला अधिकारी पर हमला करते दिख रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट DDNEWS

'मन की बात'पार्ट-2

टाइम्स ऑफ इंडिया में ख़बर है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में पहली बार मन की बात कार्यक्रम में जनता को संबोधित किया. उन्होंने इस बार स्वच्छ भारत अभियान की तरह ही जल संरक्षण के लिए आंदोलन चलाने की बात कही.

प्रधानमंत्री ने कहा कि पानी की कमी से देश के कई हिस्से साल भर प्रभावित रहते हैं. बारिश से जो पानी मिलता है, अभी उसका आठ प्रतिशत ही बचाया जाता है. उन्होंने कहा कि उनका विश्वास है कि पानी भगवान का दिया हुआ प्रसाद है. पानी पारस का रूप है.

उन्होंने कहा कि जल के महत्व को सबसे ऊपर रखते हुए केंद्र सरकार ने नया जलशक्ति मंत्रालय बनाया है. इससे पानी से संबंधित सभी विषयों पर तेजी से फैसले लेने में मदद मिलेगी और सभी योजनाओं को लागू करने में तेजी आएगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अपने पिता ओम प्रकाश चौटाला के साथ अजय चौटाला (दाएं)

अजय चौटाला के पास जेल में फोन

हिंदुस्तान अख़बार के मुताबिक दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हरियाणा की जननायक जनता पार्टी के नेता अजय चौटाला के पास मोबाइल बरामद हुआ है.

जेल अधिकारियों ने शनिवार सुबह जांच अभियान चलाया था, जिसमें मोबाइल पाया गया. पुलिस को जेल में मोबाइल फोन होने की जानकारी मिली थी.

जेल प्रशासन ने कोर्ट में एक रिपोर्ट सौंपकर परिजनों से मिलने पर रोक की मांग की है. अजय चौटाला और उनके पिता पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला को 2013 को दिल्ली की एक अदालत ने 12 साल पहले जूनियर बेसिक शिक्षकों की अवैध भर्ती के लिए दोषी ठहराया था.

उन्हें शिक्षकों की चयन सूची से छेड़छाड़, भाई-भतीजावाद और पक्षपात का दोषी माना गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार