बरखा दत्त ने दर्ज कराई प्रोमिला सिब्बल के ख़िलाफ़ शिकायत: प्रेस रिव्यू

  • 17 जुलाई 2019
बरखा दत्त ने दर्ज कराई प्रोमिला सिब्बल के खिलाफ शिकायत: प्रेस रिव्यू इमेज कॉपीरइट PTI

वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने मंगलवार को उनके चैनल की महिलाकर्मियों के लिए अपशब्द कहे जाने को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की पत्नी प्रोमिला सिब्बल के ख़िलाफ़ राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई है.

न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ प्रोमिला सिब्बल ने आरोपों को यह कहते हुए ख़ारिज कर दिया कि यह सेवाओं की समाप्ति के बाद और अधिक धन ऐंठने के लिए 'ब्लैकमेल करने का तरीक़ा' है.

दत्त ने सोमवार को ट्वीट करके सिब्बल और उनकी पत्नी पर आरोप लगाया कि नोएडा से संचालित एचटीएन तिरंगा टीवी में 200 से अधिक कर्मचारियों के उपकरण ज़ब्त कर लिए गए हैं.

और उन पर छह महीने से वेतन नहीं मिलने के साथ ही नौकरी से निकाले जाने का ख़तरा मंडरा रहा है.

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption दाऊद इब्राहिम की पुरानी तस्वीर

दाऊद के ख़िलाफ़ सबूत दे सकता है मोतीवाला

भारत को उम्मीद है कि ब्रिटेन उसकी दाऊद इब्राहिम के सबसे क़रीबी सहयोगी माने जाने वाले जाबीर सिद्दीक़ी उर्फ़ मोतीवाला से पूछताछ करने की अपील को मंज़ूरी दे देगा.

हिंदुस्तान टाइम्स अख़बार के मुताबिक़ भारत का मानना है कि इससे उसे ड्रग्स और जबरन वसूली के कारोबार के बारे में पता चलेगा, जिसे 1993 मुंबई धमाकों का मुख्य अभियुक्त अब भी देश में चला रहा है और शायद मोतीवाला भारत को भगोड़े दाऊद के पाकिस्तान में होने के कुछ सबूत भी दे सके.

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों के पास जाबीर से जुड़े जो काग़ज़ात हैं, उनके मुताबिक़ वो दाऊद का इकलौता सहयोगी है, जो कराची स्थित इस्लाम बाबा ट्रस्ट का ट्रस्टी है. इसी ट्रस्ट में दाऊद इब्राहिम, उनकी पत्नी, बेटा और दामाद ट्रस्टी हैं.

इंडियन नेशनल सिक्योरिटी एस्टेब्लिशमेंट के मुताबिक़ ये ट्रस्ट धार्मिक फ्रंट है, जो डी-कंपनी की संपत्तियों का प्रबंधन करता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उठी प्रियंका को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की मांग

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इस बात को लेकर किसी सहमति पर नहीं पहुंच पा रहे हैं कि राहुल गांधी की जगह कांग्रेस अध्यक्ष किसको बनाया जाए.

नया पार्टी अध्यक्ष चुनने के लिए इस सप्ताह भी कांग्रेस वर्किंग समिति की बैठक होने की उम्मीद नहीं है.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ लेकिन इस अनिश्चितता के बीच धीमी आवाज़ में पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने की चर्चा हो रही है.

कांग्रेस नेताओं ने अबतक खुलकर उनका नाम नहीं लिया है, क्योंकि राहुल गांधी कह चुके हैं कि पद के लिए गांधी परिवार के बाहर के सदस्य को ढूंढा जाना चाहिए.

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने कहा, "लेकिन कई लोग अब कह रहे हैं. मुझे भी लगता है कि प्रियंका जी को कांग्रेस अध्यक्ष बन जाना चाहिए. वो गांधी परिवार से हैं. वो नेता हैं और उनमें पार्टी का नेतृत्व करने का क्षमता है."

इमेज कॉपीरइट AFP

भीड़ हिंसा पर केंद्र कोई क़ानून नहीं बनाएगा

केंद्र सरकार लिंचिंग या भीड़ हिंसा के ख़िलाफ़ केंद्रीय स्तर पर क़ानून बनाने के पक्ष में नहीं है.

अधिकारियों के मुताबिक़, गृहमंत्रालय ऐसी किसी सिफ़ारिश पर ग़ौर नहीं कर रहा है. उनका मानना है कि ऐसे मामलों से निपटने के लिए पर्याप्त क़ानून हैं और राज्यों को इस संबंध में सख़्ती से पेश आना चाहिए.

हिंदुस्तान अख़बार के मुताबिक़ पिछली सरकार में भीड़ हिंसा पर एक मंत्री समूह का गठन किया गया था. गृहसचिव की अध्यक्षता में भी एक समिति बनाई गई थी. इन समितियों की रिपोर्ट का सरकार ने कोई स्टेटस सार्वजनिक नहीं किया है.

फ़िलहाल राज्यों द्वारा उठाए गए क़दमों की समीक्षा की जा रही है. केंद्र का मानना है कि अगर राज्य सख़्ती से पेश आएं तो ऐसी घटनाएं रोकी जा सकती हैं. उन्हें केंद्र पूरी तरह से सहयोग करने के लिए तैयार है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार