ईरान ने जिस ब्रितानी टैंकर को ज़ब्त किया उसमें 18 भारतीय- पाँच बड़ी ख़बरें

  • 21 जुलाई 2019
ब्रितानी टैंकर इमेज कॉपीरइट ERWIN WILLEMSE

ईरान ने जिस ब्रितानी तेल टैंकर को ज़ब्त किया है उसके चालक दल के 23 सदस्यों में 18 भारत के हैं.

भारतीय नागरिकों से जुड़े एक प्रश्न के जवाब में भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है, "हम घटनाक्रम के बारे में और जानकारियां इकट्ठा कर रहे हैं. भारतीय नागरिकों की जल्द रिहाई सुनिश्चित करने और उन्हें वापस देश लाने के लिए हमारा मिशन ईरानी सरकार के संपर्क में है."

ईरान ने शुक्रवार को स्टेला इम्पेरो नाम के ब्रितानी तेल टैंकर को ज़ब्त कर लिया था. ईरान का कहना है कि इस टैंकर को एक ईरानी नौका से टकराने के बाद ज़ब्त किया गया है.

वहीं ब्रिटेन ने कहा है कि अगर ईरान ने तेल टैंकर को तुरंत नहीं छोड़ा तो इसके गंभीर परीणाम होंगे. इसी बीच ब्रिटेन ने अपने जहाज़ो से कुछ समय के लिए होरमुज़ की खाड़ी से दूर रहने के लिए भी कहा है.

तेल टैंकर पकड़े जाने की इस घटना के बाद मध्य-पूर्व में तनाव बढ़ा हुआ है. इससे पहले ब्रिटेन ने एक ईरानी जहाज़ को ज़िब्राल्टर में पकड़ लिया था. इस तेल टैंकर पर यूरोपीय नियमों का उल्लंघन करके सीरिया के लिए कच्चा तेल ले जाने के आरोप लगाए गए हैं.

अमरीका और पश्चिमी देशों से तनाव के बीच ईरान के भारत से संबंध अच्छे बने हुए हैं. भारत ईरान के सबसे बड़े ग्राहकों में से एक है.

इमेज कॉपीरइट AFP

जल्द होगा कश्मीर समस्या का हलः राजनाथ सिंह

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को दिए एक बयान में कहा है कि कश्मीर के मुद्दे को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के कठुआ ज़िले की उझ नदी पर बने एक पुल का उद्घाटन करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, "कश्मीर समस्या का हल जल्दी होने वाला है."

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को चरमपंथ से भी निजात मिल जाएगी. इससे पिछली सरकार में गृहमंत्री रहे राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्होंने सभी पक्षों से वार्ता करने के कई प्रयास किए हैं ताकि दशकों से चली आ रहे इस विवाद को निपटाया जा सके.

उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि किसी और गृहमंत्री ने इतने प्रयास किए जितने मैंने अपने पांच साल के कार्यकाल में किए हैं. मैंने कई बार कोशिश की और उनसे (सभी पक्षों से) सार्थक समाधान निकालने के लिए वार्ता करने की अपील की. मैं सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल लेकर कश्मीर गया. सभी ने देखा कि अलगाववादियों ने अपने दरवाज़े नहीं खोले."

राजनाथ ने ये संकेत भी दिया कि सरकार अब इस मुद्दे पर सख़्त रवैया अपना सकती है. उन्होंने कहा, "हम समाधान निकालना जानते हैं, मैं आपका आश्वस्त करता हूं कि कोई ताक़त अब इसे सच होने से नहीं रोक सकती है. अगर वो बातचीत से समाधान नहीं चाहते हैं, तो निश्चिंत रहिए, हम समाधान निकालना जानते हैं."

इमेज कॉपीरइट Facebook/Nityanand Rai

बर्धमान रेलवे स्टेशन का नाम बदला जाएगा

केंद्रीय गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार बर्धमान रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर बंगाल के क्रांतिकारी बटुकेश्वर दत्त के नाम पर करने का फ़ैसला किया है.

मंत्री ने कहा कि इसके लिए जल्द ही केंद्र सरकार आदेश जारी करेगी.

बटुकेश्वर दत्त की 54वीं पुण्यतिथि पर नित्यानंद राय पटना में उन्हें श्रद्धांजलि देने के बाद यह ऐलान किया.

बटुकेश्वर दत्त का जन्म पश्चिम बंगाल के बर्धमान में हुआ था. साल 1929 में उन्होंने भगत सिंह के साथ सेंट्रल असेंबली में बम फेंके थे. आज़ादी के बाद वो अपने परिवार के साथ पटना आकर रहने लगे थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

वेस्टइंडीज़ दौरे पर नहीं जाएंगे धोनी

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वेस्टइंडीज दौरे से ख़ुद को अलग रखा है और सीरीज़ के लिए खुद को "अनुपलब्ध" बनाया है.

रविवार को टीम के चयन के लिए होने वाली बैठक से पहले उन्होंने बीसीसीआई को यह जानकारी दी.

धोनी ने बीसीसीआई से कहा है कि वो अपनी अर्धसैनिक रेजिमेंट की सेवा के लिए खेल से दो महीने का विश्राम लेंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई को बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी इस बात की पुष्टि की है.

धोनी टेरिटोरियल आर्मी की पैराशूट रेजिमेंट में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ब्रिटेन से मिस्र की सभी उड़ानों को रद्द किया गया

ब्रिटिश एयरवेज ने सात दिनों के लिए मिस्र की राजधानी काहिरा जाने वाली सभी उड़ानों को रद्द कर दिया है.

इसके पीछे सुरक्षा संबंधी कारण बताए जा रहे हैं. एक बयान जारी करते हुए एयरलाइन ने कहा कि यह फैसला एहतियातन किया गया है ताकि वहां पर सुरक्षा व्यवस्था का आकलन किया जा सके.

साथ ही एयरलाइन दुनियाभर में सभी हवाई अड्डों पर भी सुरक्षा इंतज़ामों की समीक्षा कर रही है. उड़ाने रद्द करने के पीछे कोई कारण नहीं बताया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार