चीन की बढ़ती ताक़त पर नौसेना प्रमुख ने जताई चिंता- पाँच बड़ी ख़बरें

  • 26 जुलाई 2019
भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह इमेज कॉपीरइट @INDIANNAVY
Image caption भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह

भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल कर्मबीर सिंह ने कहा है कि भारत को तमाम बाधाओं के बावजूद चीनी सेना के बढ़ते विस्तार का जवाब देने की ज़रूरत है.

नौसेना प्रमुख ने हिंद महासागर में चीन के बढ़ते प्रभाव को लेकर चिंता जताई.

उन्होंने ये बातें गुरुवार को नई दिल्ली में फिकी में आयोजित एक सेमिनार में चीनी श्वेत पत्र पर एक सवाल के जवाब में कही.

चीन ने बुधवार को 'नए युग में चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा' शीर्षक नाम से एक श्वेत पत्र जारी किया था. इसमें चीन ने अमरीका की एशिया-प्रशांत क्षेत्र में रणनीतिक चालों की जमकर आलोचना की है. साथ ही भारत, अमरीका, रूस और अन्य देशों के साथ सैन्य विकास के विभिन्न पहलुओं पर बात की है.

नौसेना प्रमुख ने कहा, ''ये सिर्फ़ चीनी श्वेत पत्र की बात नहीं है बल्कि ऐसा पहले भी कहा गया है. पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) नेवी पर बहुत से संसाधन लगाए गए हैं जिसके पीछे उनकी वैश्विक शक्ति बनने के इरादे साफ़ नज़र आते हैं. हमें इस पर सावधानीपूर्वक नज़र रखने की ज़रूरत है कि कैसे हम अपने बजट और बाधाओं के साथ जवाब दे सकते हैं.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption एचडी कुमारस्वामी

तीन विधायक अयोग्य करार

कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर ने तीन बाग़ी विधायकों को अयोग्य क़रार दिया है. इसमें कांग्रेस के रमेश जाराकिहोली, महेश कुमाथल्ली और निर्दलीय विधायक आर शंकर शामिल हैं.

इसका मतलब ये हुआ कि ये तीनों विधायक मौजूदा विधानसभा के लिए निर्वाचित नहीं हो सकते. इन विधायकों को 15वीं विधानसभा तक के लिए अयोग्य घोषित कर दिया गया है.

देर शाम मीडिया से बात करते हुए स्पीकर ने कहा कि बाक़ी बचे बाग़ी विधायकों के इस्तीफ़े या अयोग्यता पर भी वो जल्दी ही फ़ैसला लेंगे.

इससे पहले दो दिन पहले कर्नाटक में कांग्रेस जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार विश्वास मत साबित करने में नाकामयाब रही थी और राज्य में गठबंधन की सरकार गिर गई.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

तबादले के एक दिन बाद वित्त सचिव ने मांगा वीआरएस

केंद्र सरकार ने बीते दिनों नौकरशाही में कई अहम बदलाव किए. इसके तहत अजय भल्ला को नया गृह सचिव बनाया गया है. इसके अलावा और कइयों के भी मंत्रालय बदले गए.

इसी क्रम में वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने अपना मौजूदा मंत्रालय बदलने के ठीक एक दिन बाद ही वीआरएस के लिए आवेदन किया है.

गर्ग अभी तक वित्त मंत्रालय में थे और अब उनका ट्रांसफ़र पावर सेक्रेटरी के तौर पर किया गया है. लेकिन इस उलटफेर के एक दिन बाद ही उन्होंने गुरुवार को वीआरएस के लिए आवेदन कर दिया.

गर्ग वित्त विभाग के सबसे वरिष्ठ राजनयिक थे. गर्ग का वीआरएस लेना इसलिए भी चर्चा में है क्योंकि अगर वो वीआरएस नहीं लेते तो सामान्य तरीक़े से अक्टूबर 2020 में रिटायर होते.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

केस लिस्टिंग पर सीजेई की नाराज़गी

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने अदालतों में केस की सुनवाई के लिए लगने वाली वकीलों की लाइन पर नाराज़गी ज़ाहिर की है.

उन्होंने कि केस की लिस्टिंग के लिए वकीलों को लाइन में न खड़ा होना पड़े इसके लिए उन्होंने कई कोशिशें की हैं लेकिन उनका कोई फ़ायदा नहीं हुआ.

उन्होंने कहा, ''हर दिन मैं देखता हूं कि लाइनों में वकीलों की भीड़ लगी होती है. मूल रूप से यहां कुछ ग़लत है. कई प्रयासों के बाद भी मैं सिस्टम में बदलाव नहीं ला पाया हूं.''

उन्होंने कहा कि पंजाब और हरियाणा कोर्ट में हर दिन 600 नए केस फाइल किए जाते हैं और वो उसी दिन सुनवाई के लिए लिस्ट होते हैं. वहीं सुप्रीम कोर्ट में 1000 नए केस आते हैं और वो एक हफ़्ते तक भी लिस्ट नहीं होते.

इमेज कॉपीरइट EPA

ईरान से बातचीत को तैयार अमरीका

अमरीकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा है कि अमरीका और ईरान के बीच बढ़ रहे तनाव के बावजूद वो ईरान जाकर वहां के लोगों से सीधी बात करने के इच्छुक हैं.

एक टीवी साक्षात्कार में पॉम्पियो ने कहा है कि वो ख़ुशी-ख़ुशी वहां जाएंगे, प्रोपागेंडा करने के लिए नहीं बल्कि ईरान के लोगों को ये सच बताने के लिए उनके नेताओं ने देश को कितना नुक़सान पहुंचाया है.

इससे पहले राष्ट्रपति ट्रंप पहले ही कह चुके हैं कि वो ईरान के साथ वार्ता करने के लिए तैयार हैं. वहीं उत्तर कोरिया के बारे में टिप्पणी करते हुए पोम्पियो ने कहा कि अमरीका उत्तर कोरिया के मिसाइल लांच करने के बावजूद बातचीत करने के लिए तैयार है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार