कश्मीर: UNSC के अध्यक्ष देश पोलैंड से पाक को झटका- प्रेस रिव्यू

  • 13 अगस्त 2019
इमरान ख़ान इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान को कश्मीर मसले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से झटका लगा है.

इंडियन एक्सप्रेस ने ख़बर दी है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के मौजूदा अध्यक्ष देश पोलैंड ने कश्मीर मसले के द्विपक्षीय हल की वकालत की है.

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाए जाने के ख़िलाफ़ पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपील की थी. इस महीने अध्यक्ष पद यूरोपीय देश पोलैंड के पास है और पोलैंड ने पाकिस्तान से द्विपक्षीय हल निकालने को कहा है.

यानी पोलैंड ने वही बात कही है जो भारत कहता है. भारत भी कश्मीर को द्विपक्षीय मामला मानता है जबकि पाकिस्तान इसमें अंतरराष्ट्रीय दख़ल का प्रयास करता रहा है.

पोलैंड से पहले सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य रूस भी इस मसले पर भारत का पक्ष ले चुका है. रूस ने कहा था कि यह फ़ैसला "भारतीय गणराज्य के संविधान के दायरे के भीतर" लिया गया है.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता सदस्य देश बारी-बारी से करते हैं और इन देशों के कार्यकाल का अलग-अलग महीना तय है. हालांकि पोलैंड अस्थायी सदस्य है और वीटो पावर पाँच स्थायी सदस्यों के पास ही होता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'ग़ुलाम कश्मीर' पर भी ले सकते हैं फैसला: जावड़ेकर

सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि भारत अब पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के संबंध में भी कोई फ़ैसला ले सकता है.

दैनिक जागरण की ख़बर के मुताबिक उन्होंने कहा, "भारत 'ग़ुलाम कश्मीर' पर भी बड़ा क़दम उठा सकता है. वह भारत का हिस्सा है और उसे भारत में मिलाना हमारा काम है."

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के लिए सर्वसम्मति से संसद में प्रस्ताव पारित होते रहे हैं. उन्होंने कहा, "1994 में भी ऐसा ही एक प्रस्ताव पारित हुआ था, इसलिए जम्मू-कश्मीर विधानसभा में ग़ुलाम कश्मीर क्षेत्र की सीटें अभी खाली रहेंगी. अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में विकास के सोपान स्थापित होंगे."

इमेज कॉपीरइट facebook/aishwaryapissayofficial
Image caption ऐश्वर्या

मोटरस्पोर्ट्स में ऐश्वर्या ने रचा इतिहास

बेंगलुरु की 23 वर्षीय बाइकर ऐश्वर्या मोटरस्पोर्ट्स का अंतरराष्ट्रीय ख़िताब जीतकर इतिहास रच दिया है. हिंदुस्तान टाइम्स की ख़बर के मुताबिक, ऐसा करने वाली वो पहली भारतीय हैं.

सोमवार को हंगरी में उन्होंने एफआईएम वर्ल्ड कप का महिला ख़िताब अपने नाम किया.

यह स्पर्धा अंतरराष्ट्रीय मोटरसायक्लिंग फेडरेशन की ओर से आयोजित की गई थी.

अख़बार ने लिखा है कि ऐश्वर्या पांच नेशनल रोड रेसिंग एंड रैली चैम्पियनशिप ख़िताब जीतने वाली पहली महिला हैं.

2017 में एक हादसे में ऐश्वर्या की कॉलरबोन में चोट लग गई थी. डॉक्टरों को वहां सात पेंचो के साथ एक स्टील प्लेट लगानी पड़ी थी.

पिछले साल स्पेन में वो ट्रैक पर हादसे का शिकार हो गई थीं और पैनक्रियाज़ में चोट आई थी.

पढ़ें

इमेज कॉपीरइट ANUBHAV SWARUP YADAV

उन्नाव केस: ट्रक ड्राइवर के मेमरी रिकॉल और नारको टेस्ट की तैयारी

उत्तर प्रदेश में उन्नाव रेप पीड़िता की कार को टक्कर मारने वाले ट्रक ड्राइवर और कंडक्टर को गुजरात के गांधीनगर एफ़एसएल लाया गया है.

दैनिक भास्कर ने ख़बर दी है कि यहां जांच एजेंसियां अभियुक्तों के मेमरी रिकॉल और नारको टेस्ट समेत कई वैज्ञानिक परीक्षण कराना चाहती हैं.

रविवार को सीबीआई के अधिकारियों ने 10 घंटे तक एफ़एसएल के विशेषज्ञों को इस मामले की जानकारी दी.

इसके बाद एफएसएल ने सोमवार को ब्रेन इलेक्ट्रिक ऑसिलेशन सिग्नेचर प्रोफाइलिंग टेस्ट शुरू किया. ये प्रक्रिया नौ घंटे तक चली.

मंगलवार-बुधवार को भी 18 घंटे तक ये टेस्ट होंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

गर्भवती दलित से रेप, प्रेमी ने की ख़ुदकुशी

राजस्थान के बांसवाड़ा ज़िले में एक गर्भवती दलित लड़की से बलात्कार के बाद उसका आठ महीनों का भ्रूण नहीं रहा जिसके बाद लड़की के प्रेमी ने आत्महत्या कर ली.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक, घटना बीते महीने की है लेकिन पूरा मामला तब उजागर हुआ जब पांच अभियुक्तों को सोमवार को अदालत में पेश किया गया.

पुलिस के मुताबिक, घटना 13 जुलाई रात क़रीब 10 बजे की है, जब लड़की अपने प्रेमी के साथ बाइक पर बांसवाड़ा से अपने गांव लौट रही थी.

आरोप है कि तीन अभियुक्तों ने उन्हें रोका, लड़के पर तलवार और डंडों से हमला किया और उसका मोबाइल छीनकर उसे भगा दिया.

लड़के ने अपने गांव पहुंचकर पेड़ से फांसी लगाकर जान दे दी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार