राहुल गांधी ने कश्मीर पर सत्यपाल मलिक के निमंत्रण को कबूला

  • 13 अगस्त 2019
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Reuters

एक दिन बाद ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है.

मलिक ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर के हालात पर राहुल झूठ बोल रहे हैं और उन्हें सच जानना है तो एक प्लेन भेज देते हैं और उससे आकर देख लें.

राहुल गांधी ने बीते शनिवार को कहा था कि उन्हें कश्मीर में बेहद ख़राब स्थिति होने की ख़बरें मिल रही हैं.

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ''प्रिय राज्यपाल मलिक, विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मैं जम्मू-कश्मीर और लद्दाख आने के आपके निमंत्रण को स्वीकार करता हूं. हमलोग को कोई विमान नहीं चाहिए. बस इतनी आज़ादी दीजिएगा कि हम लोगों से, मुख्यधारा के नेताओं और अपने सैनिकों से मिल सकें.''

सत्यपाल मलिक ने सोमवार को राहुल गांधी को घेरते हुए कहा था कि उन्होंने राहुल गांधी को कश्मीर बुलाया है और वो उनके लिए विमान भेजने के लिए तैयार हैं ताकि वह स्थिति को देखने के बाद अपनी टिप्पणी करें.

सत्यपाल मलिक ने ये भी कहा था, "अनुच्छेद 370 और 35A को सभी के लिए हटाया गया है. इसमें कोई सांप्रदायिक रंग नहीं है. लेह, कारगिल, जम्मू, राजौरी-पुंछ में कोई सांप्रदायिक घटना नहीं हुई है. घाटी में भी कोई सांप्रदायिक मामला नहीं है."

भारत सरकार ने भी अनुच्छेद 370 पर फ़ैसला लेने के बाद से दावा किया है कि घाटी में माहौल शांत है और कहीं-कहीं छिटपुट विरोध प्रदर्शन हुए हैं.

इसके बाद राहुल गांधी ने कश्मीर में हिंसा की ख़बरों पर सरकार को घेरा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए