पहलू ख़ान को क्यों नहीं मिला इंसाफ़, एसआईटी करेगी जांच: प्रेस रिव्यू

  • 17 अगस्त 2019
पहलू ख़ान

'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ पहलू ख़ान हत्याकांड की जांच में हुई लापरवाहियों की जांच के लिए राजस्थान सरकार ने तीन सदस्यों का विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया है.

पहलू ख़ान हत्याकांड में राजस्थान की एक निचली अदालत ने छह अभियुक्तों को बरी कर दिया है. इस फ़ैसले के बाद से राजस्थान सरकार की भी आलोचना हो रही थी.

शुक्रवार रात गठित एसआईटी से पंद्रह दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा गया है.

हरियाणा के किसान पहलू ख़ान की साल 2017 में गायों की तस्करी करने के शक में राजस्थान के अलवर में पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी.

कश्मीरः एफ़एम रेडियो पर अब सिर्फ़ गाने

इमेज कॉपीरइट Reuters

द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक संचार सेवाएं ठप्प होने के बाद से कश्मीर के एफ़एम रेडियो पर अब सिर्फ़ गाने बजाए जा रहे हैं.

भारत प्रशासित कश्मीर में 5 अगस्त से ही संचार सेवाएं ठप हैं. रिपोर्ट के मुताबिक़ पिछले बारह दिनों से यहां के पांच प्रमुख एफ़एम रेडियो स्टेशनों पर सिर्फ़ गाने ही बजाए जा रहे हैं.

स्टेशन पर चलने वाले शो का प्रसारण नहीं हो पा रहा है.

मंदीः मारुति में तीन हज़ार अस्थाई नौकरियां गईं

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption भारत में कारों की मांग में कमी का असर नौकरियों पर भी पड़ने लगा है

द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ भारत की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुज़ूकी में तीन हज़ार से अधिक अस्थाई कर्मचारियों की नौकरी मंदी की वजह से चली गई है.

मारुति सुज़ूकी इंडिया लिमिटेड के मुताबिक़ अस्थायी कर्मचारियों के कॉन्ट्रैक्ट नहीं बढ़ाए गए हैं जबकि स्थायी कर्मचारियों की नौकरी पर कोई असर नहीं हुआ है.

सेना में यौन उत्पीड़न, मेजर जनरल निलंबित

हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक़ भारतीय सेना के प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने यौन उत्पीड़न के आरोप में एक मेजर जनरल को निलंबित किए जाने की पुष्टि की है.

सेना के कोर्ट मार्शल ने बीते साल दिसंबर में दो साल पुराने यौन उत्पीड़न के एक मामले में मेजर जनरल के निलंबन की सिफ़ारिश की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार