बेबाकी और निडरता में कोई सानी नहीं था रूसी करंजिया का
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बेबाकी और निडरता में कोई सानी नहीं था रूसी करंजिया का

  • 13 सितंबर 2019

आज के ज़माने के पाठकों के लिए रूसी करंजिया और बिल्ट्ज़ भले ही बड़े नाम न हों, लेकिन एक ज़माने में इन दोनों की तूती बोला करती थी. रूसी करंजिया भारतीय पत्रकारिता का बड़ा नाम थे जिन्होंने 1941 में साप्ताहिक अख़बार Blitz का प्रकाशन शुरू किया था. उनका आदर्श वाक्य हुआ करता था free, frank और fearless. रूसी करंजिया की 107 वीं जयंती पर उन्हें याद कर रहे हैं रेहान फ़ज़ल आज की विवेचना में.

मिलते-जुलते मुद्दे