जम्मू कश्मीर में 24 अक्तूबर को होंगे स्थानीय चुनाव: पांच बड़ी ख़बरें

  • 30 सितंबर 2019
जम्मू कश्मीर इमेज कॉपीरइट Getty Images

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद वहाँ पहली बार 24 अक्तूबर को पहली बार कोई चुनाव करवाए जाएँगे.

जम्मू-कश्मीर के मुख्य चुनाव अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में ब्लॉक डेवलपमेन्ट काउन्सिल के लिए चुनाव 24 अक्तूबर को कराए जाएंगे.

माना जा रहा है कि इन चुनावों के पहले चरण में 26,629 पंच और सरपंच 310 ब्लॉक डेवेलपमेन्ट काउन्सिल्स के चेयरपर्सन का चुनाव करेंगे. इसी दिन प्रदेश के 22 ज़िलों में ज़िला विकास बोर्ड के लिए भी चेयरपर्सन चुने जाएंगे.

इससे पहले नवंबर 2018 में जम्मू कश्मीर में पंचायत चुनाव करवाए गए थे. उस वक्त नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी जैसी प्रमुख क्षेत्रीय पार्टियों ने इन चुनावों में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था.

बरेली में दलित लड़कियों को पूजा करने से रोका गया

यूपी के बरेली के रिठोरा कस्बे में कथित तौर पर अनुसूचित जाति की बच्चियों को नवरात्र के पहले दिन मंदिर में पूजा करने से रोकने का मामला सामने आया है.

बताया जा रहा है कि दलित बच्चियों और उनके परिजन के हंगामे और पुलिस के हस्तक्षेप के बाद पूजा का कार्य संपन्न कराया गया.

बरेली के रिठोरा कस्बे के पीपल देवी मंदिर हैं. बताया जता है कि रविवार की सुबह वहां पहले नवरात्र को अनुसूचित जाति की कुछ लड़कियां गौरी-गौरा पूजन करते हुए दीवार पर आकृतियां बनाने लगी थी.

बच्चियों के परिजनों ने मंदिर के पुजारी पर बच्चियों को आकृतियां बनाने से रोकने और पूजा करने से मना करने का आरोप लगाया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सांकेतिक तस्वीर

वैष्णो देवी के लिए शुरू होगी 'वंदे भारत एक्सप्रेस'

वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालु 5 अक्टूबर से 'वंदे भारत एक्सप्रेस' से सफर कर पाएंगे. इस ख़ास ट्रेन के लिए बुकिंग भी शुरू हो गई है.

सप्ताह में छह दिन चलने वाली ये ट्रेन नई दिल्ली और कटरा के बीच होगी और मंगलवार को छोड़कर अन्य सभी दिनों में यात्री इस ट्रेन से महज 8 घंटे में सफर पूरा कर पाएंगे.

औपचारिक तौर पर ट्रेन का उद्घाटन 3 अक्टूबर को होगा जब गृहमंत्री अमित शाह इसे हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption 2012 की ये तस्वीर बलवंत सिंह राजोआना की सज़ा की मांग के लिए किए गए प्रदर्शन की है

राजोआना की सजा उम्रकैद में तब्दील

गृह मंत्रालय ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या मामले के दोषी बलवंत सिंह राजोआना की मौत की सज़ा को उम्रकैद में बदलने का फैसला किया है. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

31 अगस्त, 1995 को को चंडीगढ़ में सिविल सचिवालय के बाहर एक विस्फोट में तत्कालीन मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की मौत हो गई थी. इस चरमपंथी हमले में सोलह अन्य लोगों की भी जान चली गई थी.

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा ने बताया कि बलवंत सिंह राजोआना की मौत की सज़ा को बदलने पर फैसला कर लिया गया है और इस संबंध में औपचारिक अधिसूचना जारी करने की प्रक्रिया चल रही है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हिरासत में लिए गए अंसल ग्रुप के वाइस चेयरमैन

अंसल ग्रुप के वाइस चेयरमैन प्रणव अंसल को रविवार को दिल्ली एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया है. वह लंदन जा रहे थे.

अंसल ग्रुप पर मकान खरीदने वाले निवेशकों का पैसा किसी दूसरे प्रॉजेक्ट में लगाने और समय पर हाउसिंग प्रॉजेक्ट को पूरा न करने का आरोप है.

लखनऊ पुलिस को काफी समय से प्रणव अंसल की तलाश कर रही थी और उनके ख़िलाफ लुक-आउट नोटिस भी जारी किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए