रघुराम राजन बोले, बहुसंख्यकवाद भारत को अंधकार में ले जाएगा- पाँच बड़ी ख़बरें

  • 13 अक्तूबर 2019
रघुराम राजन इमेज कॉपीरइट Getty Images

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि बहुसंख्यकवाद और निरंकुशता से देश अंधकार में जाएगा और अस्थिरता बढ़ेगी.

राजन ने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में वृ्द्धि दर टिकाऊ नहीं है और लोकप्रिय नीतियों के कारण ख़तरा है कि अर्थव्यवस्था कहीं लातिन अमरीकी देशों की तरह न हो जाए.

रघुराम राजन ने भारतीय अर्थव्यवस्था में अभी की सुस्ती के लिए नोटबंदी और जीएसटी को ज़िम्मेदार ठहराया है. अमरीका की ब्रॉन यूनिवर्सिटी में ओपी जिंदल लेक्चर में राजन ने कहा कि सरकार पर प्रोत्साहन पैकेज को लेकर काफ़ी दबाव है.

रघुराम राजन आईएमएफ़ के मुख्य अर्थशास्त्री भी रहे हैं. राजन ने भारतीय अर्थव्यवस्था में आई रुकावट के लिए मोदी सरकार में सारी शक्तियों के केंद्रीकृत होने को ज़िम्मेदार बताया.

उन्होंने कहा, ''मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में अर्थव्यवस्था के लिए कुछ अच्छा नहीं किया क्योंकि इस सरकार में सारी शक्तियां एक जगह थीं. ऐसे में सरकार के पास अर्थव्यवस्था को लेकर कोई दृष्टिकोण नहीं था. मंत्रियों के पास कोई ताक़त नहीं थी. ब्यूरोक्रेट्स फ़ैसले लेने को लेकर अनिच्छुक थे. गंभीर सुधार के लिए कोई आइडिया नहीं था.''

राजन ने कहा, ''यहां तक कि सीनियर अधिकारियों को बिना कोई सबूत के हिरासत में ले लिया गया. मैं इस बात को लेकर दुखी हूं कि पूर्व वित्त मंत्री को बिना कोई जांच के जेल में कई हफ़्तों स रखा गया है. संस्थानों की कमज़ोरी से सभी सरकारों के निरंकुश बनने की आशंका रहती है. ऐसा 1971 में इंदिरा गांधी के वक़्त में भी था और अब 2019 में मोदी के वक़्त में है.''

इमेज कॉपीरइट MEA/ TWITTER

मोदी-जिनपिंग मुलाक़ात में कश्मीर मुद्दा नहीं था

चीन के राष्ट्रपति का दो दिवसीय भारत दौरा ख़त्म हो गया है. राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम मोदी के बीच इस दौरे में घंटों बातें हुईं लेकिन कश्मीर कोई मुद्दा नहीं था. भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने पत्रकारों से कहा कि पीएम मोदी और राष्ट्रपति जिनपिंग के बीच छह घंटों तक कई मुद्दों पर बात हुई लेकिन कश्मीर का कोई ज़िक्र नहीं हुआ.

गोखले ने कहा, ''दोनों की बातचीत में कश्मीर कोई मुद्दा नहीं था और किसी ने इसे नहीं उठाया. हमलोग इस मामले में बिल्कुल स्पष्ट हैं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा है.''

करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

केंद्रीय मंत्री हरसीमरत बादल ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री मोदी आठ नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. हरसीमरत बादल ने ट्वीट में कहा है, ''गुरुनानक देव जी के आशीर्वाद से करतारपुर साहिब हक़ीक़त के रूप में सामने आने जा रहा है. आठ नवंबर को यह प्रधानमंत्री मोदी के हाथों इतिहास बनेगा.''

बादल ने कहा कि कांग्रेस के 72 सालों के शासन में जो संभव नहीं हो पाया उस ग़लती को पीएम मोदी ने दुरुस्त कर दिया है.

पीएमसीएल बैंक संकट पर वित्त मंत्री ने की आरबीआई से बात

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक के खाताधारकों को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि उन्होंने आरबीआई के गवर्नर से इस मामले में बात की है. सीतारमण ने कहा कि आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस मामले में आश्वस्त किया है कि ग्राहकों की चिंताओं को प्राथमिकता के आधार पर देखा जाएगा.

पीएमसीएल बैंक की वित्तीय सेहत को देखते हुए पिछले महीने आरबीआई ने जमा राशि निकालने पर रोक लगा दी थी. निर्मला ने ट्वीट कर कहा, ''आरबीआई के गर्वनर से पीएमसीएल बैंक को लेकर बात की है. उन्होंने मुझे आश्वस्त किया कि ग्राहकों की चिंताओं का प्राथमिकता के आधार पर देखा जाएगा. हम ग्राहकों के ग़ुस्से को समझ रहे हैं.''

इमेज कॉपीरइट EPA

तुर्की के हमले से गहराया संकट

उत्तरी सीरिया में तुर्की से लड़ रहे कुर्द लड़ाकों ने कहा है कि उनकी मदद करना अमरीका की नैतिक ज़िम्मेदारी है. कुर्दों ने अमरीका पर सुरक्षा देने का वादा करके उन्हें अकेला छोड़ने का आरोप लगाया है. साथ ही उन्होंने अमरीका से वहां के हवाई क्षेत्र को तुर्की के सैन्य जहाजों के लिए बंद करने की अपील की है.

वहीं, फ्रांस ने तुर्की के सैन्य हमले के विरोध में उसके साथ हथियारों के निर्यात को निलंबित कर दिया है. उत्तरी सीरिया में मानवीय संकट भी गहराता जा रहा है और बड़ी संख्या में लोग अपना घर छोड़कर जाने को मज़बूर हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार