मोदी अंबानी और अडाणी के लाउडस्पीकर हैं: राहुल

  • 16 अक्तूबर 2019
राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट @INCIndia

द हिन्दू में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने महाराष्ट्र के यवतमाल में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला है.

राहुल ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने किसानों के क़र्ज़ माफ़ करने का वादा किया था लेकिन उन्होंने उस पैसे को कॉर्पोरेट टैक्स में छूट देने में लगा दिया. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी अंबानी और अडाणी जैसे अरबपतियों के लाउडस्पीकर हैं.

राहुल ने कहा, ''इस देश की अर्थव्यवस्था को कौन चला रहा है? देश की अर्थव्यवस्था अडाणी और अंबानी के कारण नहीं है बल्कि किसानों, मज़दूरों और छोटे व्यापारियों के कारण है. जीएसटी ने लोगों की कमर तोड़ दी है. बीजेपी सरकार ने एक दिन में 1.25 लाख करोड़ का कॉर्पोरेट टैक्स माफ़ कर दिया. पिछले पाँच सालों में इस सरकार ने गिने-चुने उद्योगपतियों के 5.5 लाख करोड़ टैक्स माफ़ किए हैं. मोदी ने कोयला खदानों का निजीकरण किया और अब जितनी सरकारी कंपनियां हैं सबका निजीकरण किया जा रहा है. यह सरकार आपका पैसा 15-20 उद्योगपतियों को देने पर तुली हुई है.''

पूर्व सांसदों से सरकारी बंगला खाली कराने के लिए पुलिस की मदद

इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक ख़बर के अनुसार लोकसभा की 12 सदस्यीय कमिटी ने पूर्व सासदों से सरकारी बंगले और फ्लैट ख़ाली कराने के लिए पुलिस की मदद मांगने का फ़ैसला किया है.

कमिटी ने 27 पूर्व सांसदों को कई बार नोटिस दिए जाने के बावजूद सरकारी बंगले न ख़ाली करने पर अब पुलिस का रुख़ करने का मन बनाया है.

अख़बार के अनुसार कमिटी ने ये भी कहा है कि इन सांसदों के घर को दी जाने वाली बिजली, पानी और गैस के कनेक्शन को काट दिया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Reuters

पीएमसी बैंक के दो खाताधारकों की मौत

द हिंदू में छपी एक ख़बर के अनुसार पंजाब और महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक के दो खाताधारकों की मौत हो गई है.

अख़बार के अनुसार बैंक में 90 लाख रुपए जमा करने वाली एक महिला ने कथित तौर पर ख़ुदकुशी कर ली जबकि एक अन्य व्यक्ति की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई.

बीते महीने भारतीय रिज़र्व बैंक ने पीएमसी बैंक पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे और आदेश दिया था कि छह महीने के भीतर बैंक के खाताधारक के अपने अकाउंट से केवल 10 हज़ार रुपये ही निकाल सकते हैं. हालांकि बाद में रिज़र्व बैंक से ये सीमा बढ़ा कर 40 हज़ार तक कर दी थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हिरासत में फ़ारूक़ अब्दुल्ला की बेटी और बहन

हिंदूस्तान टाइम्स की ख़बर के अनुसार, जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के ख़िलाफ़ श्रीनगर में प्रदर्शन कर रहीं महिला कार्यकर्ताओं को मंगलवार को पुलिस ने हिरासत में लिया.

इन महिलाओं में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फ़ारूक़ अब्दुल्ला की बेटी साफ़िया और उनकी बहन सुरैया भी शामिल हैं.

पुलिस के अनुसार साफ़िया और सुरैया प्रदर्शन के दौरान महिलाओं के समूह का नेतृत्व कर रही थीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कश्मीर घाटी में पोस्ट-पेड कनेक्शन मोबाइल टेलीफ़ोन सेवा बहाल करने के एक दिन बाद ही ये कार्रवाई की गई है. काली पट्टी बांधे और तख्तियां लिए हुए इन महिला प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने इकट्ठा होने की अनुमति नहीं दी.

पुलिस के हिरासत में लिए जाने के पहले जारी किए गए बयान में इन 12 महिलाओं ने कहा, ''हम कश्मीर की महिलाएं अनुच्छेद 370, 35A को रद्द करने और जम्मू-कश्मीर राज्य को विभाजित करने के लिए भारत सरकार की ओर से उठाए गए एकतरफ़ा फैसले को अस्वीकार करते हैं.

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को पाँच अगस्त, 2019 को हटाए जाने के बाद से ही घाटी में कई तरह की पाबंदियां लगी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए