मनोहर लाल खट्टर ने दूसरी बार संभाली हरियाणा के मुख्यमंत्री पद की कमान

  • 27 अक्तूबर 2019
हरियाणा इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को एक बार फिर हरियाणा के मुख्यमंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली. खट्टर के साथ जेजेपी प्रमुख दुष्यंत चौटाला ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली.

इन दोनों के अलावा किसी अन्य नेता को राज्य के मंत्री के रूप में शपथ नहीं दिलाई गई.

राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने दोनों नेताओं को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

खट्टर दूसरी बार हरियाणा के मुख्यमंत्री बने हैं. इससे पहले वह 2014 में मुख्यमंत्री बने थे और पांच साल तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे.

कुछ दिनों पहले हुए विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत न मिलने के बाद बीजेपी और जेजेपी ने मिलकर सरकार बनाने का निर्णय लिया.

खट्टर के शपथ ग्रहण समारोह का कार्यक्रम दीपावली के दिन चंडीगढ़ में आयोजित किया गया.

शपथ ग्रहण समारोह में जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला के पिता अजय चौटाला भी शामिल हुए. वह तिहाड़ जेल से फ़रलो पर रिहा होकर बेटे के शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए पहुंचे थे.

अजय चौटाला शिक्षक भर्ती घोटाले में तिहाड़ में सजा काट रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हरियाणा विधानसभा में एक गांव के पांच विधायक

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इससे पहले शनिवार को बीजेपी विधायक दल की बैठक में मनोहर लाल खट्टर को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना गया था.

इसके बाद मनोहर लाल खट्टर, दुष्यंत चौटाला और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के साथ राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य से मिलने राजभवन पहुंचे और सरकार बनाने का दावा पेश किया.

शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित कई केन्द्रीय नेता भी चंडीगढ़ पहुंचे थे.

इसके अलावा शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल और प्रकाश सिंह बादल भी कार्यक्रम में शामिल हुए.

ये भी पढ़ें: देशद्रोह के मुक़दमे लड़ रहे जाट परिवारों का हाल

इमेज कॉपीरइट COURTESY CHAUTALA FAMILY

हालांकि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष अमित शाह शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए.

हरियाणा में हाल ही में विधानसभा चुनाव संपन्न हुआ है. इस चुनाव में भाजपा को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला. ऐसे में पार्टी ने दुष्यंत चौटाला की अगुवाई वाली जेजेपी के साथ मिल कर सरकार बनाने का निर्णय लिया.

करीब 11 महीने पहले गठित जेजेपी को हरियाणा विधानसभा चुनाव में 10 सीटें मिली हैं. दुष्यंत, चौधरी देवी लाल के परपोते हैं.

ये भी पढ़ें -

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार