इमरान ख़ान गैस भंडार के नाम पर गुमराह किए गए?- पाँच बड़ी ख़बरें

  • 29 अक्तूबर 2019
इमरान ख़ान इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान को बहुत उम्मीद थी कि कराची के समुद्री तट के पास प्राकृतिक गैस का बड़ा भंडार मिलने वाला है.

अब कहा जा रहा है कि उन्हें यह कहकर गुमराह किया गया कि यहां प्राकृतिक गैस मिलने की संभावना 86 फ़ीसदी है. इमरान ख़ान की सरकार इस परियोजना पर आगे बढ़ गई थी और ख़ुदाई भी शुरू हो गई थी.

इस परियोजना की शुरुआती लागत 124 अरब डॉलर थी. कहा गया कि इस खुदाई में पैसे भले खर्च हो रहे हैं लेकिन भविष्य में इससे बहुत ख़ुशहाली आएगी.

अब पाकिस्तान पेट्रोलियम लिमिटेड के महानिदेशक मोईन रज़ा ख़ान ने पीपीएल की 68वीं बैठक में कहा कि इसमें सफलता की गुंजाइश महज़ 12 फ़ीसदी है. उन्होंने यहां तक कहा कि खुदाई में कुछ भी हाथ नहीं लगने का डर सबसे ज़्यादा है.

मोईन ख़ान ने कहा, ''केकरा-आई में हमें कुछ भी नहीं मिला है लेकिन सतह के नीचे गहरी ख़ुदाई के बाद पानी मिला है. हालांकि, यहां तेल मिलने की संभावना है और भविष्य में इस पर काम किया जाएगा.''

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने इसी साल मार्च में कहा था कि पाकिस्तान को अरब सागर में तेल का बड़ा भंडार मिल सकता है. उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान तेल और गैस की बड़ी खोज करने के क़रीब पहुंच गया है और अगर ऐसा हुआ तो देश की आर्थिक समस्याएं ख़त्म हो जाएंगी.

मार्च में इमरान ख़ान ने कहा था, "मैं दुआ करता हूं और हम सभी दुआ करें कि पाकिस्तान को ये प्राकृतिक संसाधन बड़ी मात्रा मे मिले. एक्सनमोबिल के नेतृत्व के कॉन्सॉर्टियम की समुद्र में तट से दूर की जा रही ड्रिलिंग से हमारी उम्मीदें सच साबित हों."

मई महीने में समाचार एजेंसी एपीपी ने कहा था कि पाकिस्तान को निराशा हाथ लगी है और खुदाई का काम बंद होगा.

इससे पहले पाकिस्तान इस क्षेत्र में तेल की खोज के 17 प्रयास कर चुका है लेकिन सभी नाकाम रहे हैं. केकरा-1 तेल कुआं कराची के तट से 280 किलोमीटर दूर दक्षिणपश्चिम में स्थित है. ये इंडस-जी ब्लॉक में आता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पी चिदंबरम की तबीयत बिगड़ी

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को तबीयत बिगड़ने के कारण सोमवार को उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें पेट दर्द की शिकायत थी.

वो क़रीब दो घंटों तक अस्पताल में भर्ती रहे. हालत ठीक होने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

उन्हें पहले दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया और फिर वहां से एम्स भेज दिया गया.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया मामले में जेल में हैं.

पिछले हफ़्ते अदालत में सुनवाई के दौरान पी चिदंबरम ने अनुरोध किया था कि उन्हें इलाज के लिए हैदराबाद जाने की इजाज़त दी जाए. वहीं, प्रवर्तन निदेशालय का कहना था कि उन्हें कोई भी स्वास्थ्य ज़रूरत के लिए एम्स ले जाया जा सकता है.

हमें विकल्प के लिए मजबूर न करें: संजय राउत

महाराष्ट्र में बीजेपी और शिव सेना के बीच सत्ता को लेकर चल रही खींचतान के बीच शिवसेना ने कहा है कि उसे दूसरा विकल्प ढूंढने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए. राजनीति में कोई संत नहीं होता.

शिव सेना नेता संजय राउत नें एनडीटीवी से एक बातचीत के दौरान कहा कि पार्टी ने कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से समर्थन लेने की संभावना को ख़ारिज नहीं किया है लेकिन शिवसेना को गठबंधन की पवित्रता पर भरोसा है.

संजय राउत ने कहा, ''पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने साफ़ तौर पर कहा है कि हम बीजेपी के लिए इंतज़ार करेंगे. लेकिन हमें दूसरे विकल्प तलाशने के लिए मजबूर न करें. हम वो पाप नहीं करना चाहते.''

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद शिवसेना 50-50 के फॉर्मूले पर अड़ी हुई है और मुख्यमंत्री पद की मांग रही है. वहीं, बीजेपी इस पर तैयार होती नहीं दिख रही है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

'भारतीय लोकतंत्र का अपमान'

यूरोपीय संघ के 28 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के जम्मू-कश्मीर दौरे को लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने सवाल उठाया है.

उन्होंने कहा कि जब देश के राजनेताओं को जम्मू-कश्मीर के दौरे पर नहीं जाने दिया जा रहा तो यूरोपीय संघ के सदस्यों को वहां ले जाने के पीछे कौन-सा तर्क है.

शशि थरूर ने ट्वीट किया, ''लोकसभा में अनुच्छेद 370 पर बहस के दौरान मैंने सांसदों के एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल को जम्मू-कश्मीर जाने देने के लिए अनुरोध किया था, लेकिन उसे अभी तक स्वीकार नहीं किया गया. लेकिन, यूरोपीय संघ के सदस्य हमारी सरकार के मेहमान के तौर पर वहां यात्रा कर सकते हैं? भारतीय लोकतंत्र का क्या अपमान (#InsultToIndianDemocracy)है!''

यूरोपीय संघ के सांसदों का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को जम्मू और कश्मीर का दौरा करेगा. पाँच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद किसी विदेशी राजनयिकों का राज्य में यह पहला दौरा होगा.

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका का दावा, बग़दादी के अवशेषों की अंत्येष्टि हुई

अमरीकी सेना ने पुष्टि की है कि इस्लामिक स्टेट समूह के नेता अबू बक्र अल बग़दादी के शव अवशेषों की अंतिम क्रिया पूरी कर दी गई है. लेकिन कहां और कैसे, इस संबंध में कोई सूचना नहीं दी गई है.

चेयरमैन ऑफ द जॉइंट चीफ़्स ऑफ़ स्टाफ़ के जनरल मार्क मिली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उनकी मौत के ठीक बाद ही उनके शव अवशेषों से डीएनए टेस्ट कर लिया गया था.

उन्होंने कहा, ''बगदादी की मौत के ठीक बाद ही डीएनए टेस्ट कर लिया गया था और उनकी पहचान की पुष्टि हो गई थी. इसके बाद ही अंतिम क्रिया संपन्न की गई. इसे अच्छी तरह पूरा कर लिया गया है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार