महाराष्ट्र में सरकार बनाने का आखिरी दिनः पांच बड़ी ख़बरें

  • 8 नवंबर 2019
उद्धव ठाकरे, देवेंद्र फडणवीस इमेज कॉपीरइट Getty Images

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आए 14 दिन बीत चुके हैं और अब तक वहां सरकार का गठन नहीं हुआ है.

चुनाव परिणाम आने के बाद से बीजेपी और शिवसेना के बीच रिश्ते तल्ख रहे और बयानबाजी का दौर चलता रहा. 50-50 के फॉर्मूले और मुख्यमंत्री के पद को लेकर दोनों दल आमने सामने हैं और इस बीच अन्य दलों के साथ मुलाक़ातों का दौर भी चला.

गुरुवार को शिवसेना के विधायकों ने एक प्रस्ताव पारित कर, महाराष्ट्र में सरकार गठन पर अंतिम निर्णय लेने के लिए पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को अधिकृत किया. तमाम अनिश्चितता और विधायकों के दल-बदल की आशंका के बीच शिवसेना ने अपने विधायकों को होटल में ठहराया दिया.

वहीं गुरुवार को ही बीजेपी नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाक़ात भी की लेकिन सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया.

दोनों दलों की तरफ से लगातार आ रहे बयानों के बीच अब शुक्रवार को सभी नज़रें राज्य की राजनीतिक हलचल पर टिकी हैं क्योंकि सरकार के गठन के फ़ैसले को लेकर यह अंतिम और निर्णायक दिन है.

राज्य में 2014 के चुनाव के बाद महाराष्ट्र विधानसभा का गठन 10 नवंबर 2014 को हुआ था लिहाजा 9 नवंबर 2019 यानी शनिवार को विधानसभा भंग हो जाएगी.

तूफ़ान बुलबुल ले सकता है भीषण रूप

मौसम विभाग का कहना है कि तूफ़ान बुलबुल ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना प्रभाव छोड़ सकता है.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक मौसम विभाग ने बताया कि इस दौरान शुक्रवार को ओडिशा के जगतसिंघपुर, केंद्रपाड़ा, बालासोर और भद्रक ज़िले में 65 किलोमीटर तेज़ हवाएं चल सकती हैं. पश्चिम बंगाल का सागर द्वीप भी इस तूफ़ान से प्रभावित हो सकता है.

तूफ़ान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चिंता जताई. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रमुख सचिव डॉ. पीके मिश्रा ने ओडिशा, पश्चिम बंगाल और अंडमांड निकोबार द्वीप समूह के मुख्य सचिवों के साथ इस बाबत बैठक की.

इस बैठक में प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए तैयारियों की समीक्षा की गई, साथ ही ओडिशा और पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ़ की टीमें भेजी गईं.

इमेज कॉपीरइट ANI

तीस हज़ारी विवाद के बाद दो पुलिस अधिकारियों का तबादला

तीस हज़ारी कोर्ट परिसर के बाहर पुलिस और वकीलों के बीच हुए विवाद के बाद मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने मामले में स्वतः संज्ञान लेते हुए पुलिस कमिश्नर (लॉ ऐंड ऑर्डर) संजय सिंह और उत्तरी ज़िला के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त हरेंद्र कुमार के तबादले का आदेश दे दिया था.

पुलिस की तरफ से इस पर पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई लेकिन कोर्ट ने अपने फ़ैसले में संशोधन से इनकार कर दिया.

इसके बाद गुरुवार को दिल्ली पुलिस के दोनों वरिष्ठ अधिकारियों का तबादला कर दिया गया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images, PTI

मुलायम सिंह यादव को राहत, मायावती ने गेस्ट हाउस केस वापस लिया

बीते तीन दशकों से बहुचर्चित गेस्ट हाउस कांड में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने मुलायम सिंह यादव के ख़िलाफ़ दर्ज कोर्ट केस वापस लेने की अर्जी दी है.

2 जून 1995 को दिल्ली के स्टेट गेस्ट हाउस में मायावती के साथ सपा के कार्यकर्ताओं ने हाथापाई की थी.

इस मामले में मुलायम सिंह यादव, उनके भाई शिवपाल यादव, बेनी प्रसाद वर्मा और आज़म ख़ान समेत समाजवादी पार्टी के कई नेताओं पर मायावती की तरफ से हज़रतगंज थाने में केस दर्ज कराया गया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ट्रंप पर 20 लाख डॉलर का जुर्माना

न्यूयॉर्क के एक जज ने अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को अपनी चैरिटी संस्था के पैसे के अवैध इस्तेमाल के मामले में 20 लाख डॉलर जुर्माना देने का आदेश दिया है.

उन पर 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में चैरिटी संस्था के पैसे का इस्तेमाल करने का आरोप है.

न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल ने डोनल्ड जे फाउंडेशन के निदेशकों के ख़िलाफ़ इस मामले में मुकदमा दायर किया था.

निदेशकों में डोनल्ड ट्रंप और उनके तीन बच्चे शामिल हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार