अयोध्या मामला: फ़ैसले से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने की शांति बनाए रखने की अपील

  • 9 नवंबर 2019
पीएम नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Getty Images

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर फ़ैसला आने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है.

पीएम ने कहा है कि इस मामले में जो भी फ़ैसला आएगा, वो किसी की हार या जीत नहीं होगा. सुप्रीम कोर्ट इस मामले में शनिवार को फ़ैसला सुनाने जा रहा है.

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए उत्तर प्रदेश में धारा 144 लगा दी गई है. साथ ही राज्य में 11 नवंबर तक सभी स्कूलों और कॉलेजों को बंद रखने का आदेश दिया गया है.

इसके अलावा मध्य प्रदेश में सभी निजी और सरकारी स्कूलों को भी शनिवार को बंद किया गया है. जम्मू में भी स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे और आधी रात से धारा 144 लागू कर दी गई है.

क्या कहा पीएम ने

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक फ़ेसबुक पेज और ट्विटर अकाउंट पर संदेश पोस्ट करके कोर्ट के फ़ैसले के बाद सौहार्द बनाए रखने की अपील की है.

पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ''अयोध्या पर कल सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ रहा है. पिछले कुछ महीनों से सुप्रीम कोर्ट में निरंतर इस विषय पर सुनवाई हो रही थी, पूरा देश उत्सुकता से देख रहा था. इस दौरान समाज के सभी वर्गों की तरफ से सद्भावना का वातावरण बनाए रखने के लिए किए गए प्रयास बहुत सराहनीय हैं.''

उन्होंने लिखा, ''देश की न्यायपालिका के मान-सम्मान को सर्वोपरि रखते हुए समाज के सभी पक्षों ने, सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों ने, सभी पक्षकारों ने बीते दिनों सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक वातावरण बनाने के लिए जो प्रयास किए, वे स्वागत योग्य हैं. कोर्ट के निर्णय के बाद भी हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है.''

''अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा. देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सब की यह प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे.''

पहले अनुमान लगाया जा रहा था सुप्रीम कोर्ट अपना फ़ैसला नवंबर में 7 से 16 के बीच सुनाएगा क्योंकि मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं.

राजनीतिक रूप से बेहद संवेदनशील राम मंदिर और बाबरी मस्जिद की ज़मीन के मालिकाना हक़ पर विवाद है.

इस मामले पर 40 दिनों तक चली मैराथन सुनवाई चली थी जो 16 अक्टूबर को पूरी हो हुई थी. इससे पहले मामले में मध्यस्थता की भी कोशिश की गई लेकिन कोई समाधान नहीं निकल पाया था.

फिलहाल में अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखना सभी की ज़िम्मेदारी है.

सीएम ने कहा है कि प्रशासन सभी की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और क़ानून हाथ में लेने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार