अयोध्या पर फ़ैसला विरोधाभासी: कलीसवरम राज- प्रेस रिव्यू

  • 11 नवंबर 2019
सुप्रीम कोर्ट इमेज कॉपीरइट Getty Images

अयोध्या में मंदिर-मस्जिद विवाद पर नौ नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले पर क़ानून और संविधान के अध्येताओं की अलग-अलग राय आ रही है.

कोलकाता से प्रकाशित होने वाला अंग्रेज़ी दैनिक टेलिग्राफ़ से सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील कलीसवरम राज ने सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले पर कहा कि भारत बहुसंख्यकवाद की ओर बढ़ रहा है, जो संविधान के प्रावधानों से सहमत नहीं है.

उन्होंने कहा, ''भारत घोर दक्षिणपंथी व्यवस्था की ओर बढ़ रहा है. यह फ़ैसला संविधान के सिद्धांतों के लिए झटका है. यह क़ानून के राज और सेक्युलर व्यवस्था से मेल नहीं खाता है. यह शीर्ष अदालत का फ़ैसला है और सभी को स्वीकार करना चाहिए और किसी को भी शांति भंग करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. लेकिन कोर्ट में इस संवेदनशील मसले को जैसे देखा गया उस पर लंबे समय तक बात होती रहेगी.''

कलीसवरम राज सुप्रीम कोर्ट में कई अहम केसों के लिए जाने जाते हैं. इनमें सबसे अहम है शादी से बाहर संबंध बनाने को अपराध के दायरे से बाहर कराना.

राज ने कहा, ''सबसे विरोधाभासी यह है कि कोर्ट ने बाबरी मस्जिद तोड़ने की कार्रवाई को अवैध और ग़ैरक़ानूनी माना है और फिर उसी को सम्मानित करने की कोशिश की गई. पाँच जजों बेंच ने सर्वसम्मति से बाबरी विध्वंस को अवैध माना और फिर वहां मंदिर बनाने के पक्ष में फ़ैसला भी दिया. किसी भी स्थापित लोकतंत्र में यह बुनियादी चीज़ होती है कि भीड़ की हिंसा और किसी भी तरह के उपद्रव को फ़ायदा उठाने की अनुमति नहीं मिले. सबसे बड़ा नुक़सान क़ानून के राज का है. यह फ़ैसला संविधान के मानकों के हिसाब से विरोधाभासी है.''

राज ने कहा, ''लोग पूछेंगे कि कैसे एक फ़ैसला क़ानून तोड़ने वालों के पक्ष में चला गया और पीड़ितों के ख़िलाफ़. कोर्ट ने कहा कि बाबरी विध्वंस अवैध था. इसका समाधान यह निकाला गया कि जहां मस्जिद थी वहां मंदिर बना दो. आने वाले वक़्त में इस विरोधाभास की चर्चा होगी.''

राज ने कहा कि इस फ़ैसले की चर्चा थमेगी नहीं. उन्होंने कहा, ''राजनीति हलकों में इस फ़ैसले की चर्चा ख़ूब होगी. वर्तमान संदर्भ में इस फ़ैसले को पढ़ें तो साफ़ पता चलता है कि सुप्रीम कोर्ट स्वतंत्रता नहीं बचा पाई. यह लोकतंत्र के लिए ख़तरनाक है. सुप्रीम कोर्ट बनने के बाद से दुनिया का सबसे ताक़तवर कोर्ट रहा है. सुप्रीम कोर्ट में राजनीतिक और नीतिगत मसलों की भी न्यायिक समीक्षा होती रही है.''

इमेज कॉपीरइट K K MUHAMMED

हिंदुस्तान अख़बार की एक ख़बर के अनुसार, अयोध्या फैसले के ख़िलाफ़ पुनर्विचार याचिका दायर की जाए या नहीं इस बात का फैसला लेने के लिए सुन्नी वक्फ़ बोर्ड इसी हफ़्ते आयोजित अपनी बैठक में तय करेगा.

केंद्र सरकार में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मंदिर के लिए अयोध्या में एक ट्रस्ट के गठन का निर्णय केंद्र सरकार मंत्रिमंडल में विचार विमर्श के बाद ही लेगी.

जनसत्ता की एक ख़बर के अनुसार, अयोध्या फ़ैसले के एक दिन बाद देश भर में 90 लोगों को गिरफ़्तार किया गया. पुलिस ने क़रीब 8000 से अधिक सोशल मीडिया पोस्ट के ख़िलाफ़ कार्रवाई की.

इंडियन एक्सप्रेस की ही एक अन्य ख़बर के अनुसार, व्हाट्सऐप के ज़रिए जासूसी मामले की जांच के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने एक पैनल का गठन किया है.

दो-तीन साल पहले इसराइल की कंपनी पेगसस ने व्हाट्सऐप के ज़रिए जासूसी करने वाले स्पाईवेयर बेचने के लिए छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ मीटिंग की थी.

इमेज कॉपीरइट PTI

हिंदुस्तान टाइम्स की एक ख़बर के अनुसार, मोदी सरकार सभी बैंकों को रिज़र्व बैंक की कड़ी निगरानी के दायरे में लाने और दिवालिया होने की हालत में ग्राहकों की जमा राशि पर एक लाख रुपए के बीमा को बढ़ाने का विचार कर रही है.

द स्टेट्समैन की ख़बर के अनुसार, तूफ़ान बुलबुल के कारण पश्चिम बंगाल में सात लोगों की मौत हो गई है.

तूफ़ान के कारण राज्य में क़रीब साढ़े चार लाख आबादी प्रभावित हुई है. भारी नुकसान पहुंचाने के बाद ये तूफ़ान बांग्लादेश की ओर बढ़ गया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रभावित इलाक़े का दौरा करेंगी.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक ख़बर के अनुसार, देश में प्याज की भारी किल्लत के बावजूद भारत माली को प्याज का निर्यात करना जारी रखेगा.

शनिवार को खाद्यान्न मंत्री रामविलास पासवान ने कहा था कि प्याज की कमी को देखते हुए भारत एक लाख टन प्याज का आयात करेगा.

इमेज कॉपीरइट BCCI WOMEN/ TWITTER

शेफाली ने सचिन का रिकॉर्ड तोड़ा

जनसत्ता की एक अन्य ख़बर के मुताबिक, पंद्रह साल की शेफाली वर्मा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अर्द्धशतक लगाने वाली भारत की सबसे युवा खिलाड़ी बन गईं. उऩ्होने सचिन तेंदुलकर का 30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया.

हरियाणा की शेफाली ने वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ पहले अंतरराष्ट्रीय टी 20 मैच में 49 गेंद में 73 रन की पारी खेली जिससे भारतीय टीम ने शनिवार को यहां 84 रनों से जीत मिली.

शेफाली ने अपनी पारी में छह चौके और चार छक्के लगाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए