राहुल गांधी, स्मृति इरानी ने 'RAPE IN INDIA' बयान के बाद क्या कुछ कहा?

  • 13 दिसंबर 2019
राहुल गांधी और स्मृति इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के 'रेप इन इंडिया' वाले बयान की संसद से लेकर सोशल मीडिया तक चर्चा हो रही है.

केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी समेत कई बीजेपी सांसदों ने संसद में इस बयान पर कड़ा विरोध जताया है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़, बीजेपी की महिला सांसदों ने राहुल गांधी के ख़िलाफ़ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करवाकर सख़्त एक्शन लेने की मांग की है.

राहुल गांधी ने झारखंड की चुनावी रैली में कहा था, ''नरेंद्र मोदी ने कहा था- मेक इन इंडिया. अब आप जहां भी देखो. अब मेक इन इंडिया नहीं...रेप इन इंडिया है. अखबार खोलो. झारखंड में महिला से बलात्कार. उत्तर प्रदेश में देखो तो नरेंद्र मोदी के विधायक ने एक महिला का रेप किया. उसके बाद उसकी गाड़ी का एक्सीडेंट हो जाता है. नरेंद्र मोदी एक शब्द नहीं बोलते. हर प्रदेश में हर रोज़ रेप इन इंडिया. मोदी जी कहते हैं- बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ. मोदी जी, आपने ये नहीं बताया कि किससे बचाना है. बीजेपी के एमएलए से बचाना है.''

इस बयान पर स्मृति इरानी ने आपत्ति जताते हुए लोकसभा में कहा, ''कांग्रेस नेता सार्वजनिक तौर पर ये कहता है कि हिंदुस्तान की महिलाओं का रेप होना चाहिए. ये राष्ट्र के इतिहास में पहली बार हुआ है, जब कांग्रेस पार्टी के नेता रेप जैसे संगीन जुर्म को राजनीतिक उपहास का हिस्सा बना रहे हैं. ये पहली बार हुआ है, जब गांधी परिवार का बेटा ये कहता है कि आओ हिंदुस्तान में रेप करो. राहुल गांधी इस सदन के नेता हैं. क्या राहुल गांधी ये कहना चाहते हैं कि हिंदुस्तान का हर व्यक्ति रेप करना चाहता है?''

इस पूरे मुद्दे पर हंगामा इतना बढ़ा कि राहुल गांधी मीडिया के सामने आए.

इमेज कॉपीरइट AFP

राहुल गांधी ने अपनी सफ़ाई में क्या कहा?

राहुल गांधी ने कहा, ''एक क्लिप है, जिसमें नरेंद्र मोदी दिल्ली को रेप कैपिटल कह रहे हैं. मुख्य मुद्दा ये है कि नरेंद्र मोदी, अमित शाह ने नॉर्थ ईस्ट को जलाया है. अब ध्यान उस मुद्दे से भटकाने के लिए नरेंद्र मोदी और बीजेपी मेरे ऊपर ये सब कह रहे हैं. मैं आपको बताता हूं कि मैंने क्या बोला था.

  • नरेंद्र मोदी ने कहा था कि मेक इन इंडिया होगा. हमने सोचा कि अखबारों में मेक इन इंडिया, मेक इन इंडिया दिखाई देगा.
  • लेकिन अब जब हम अख़बार खोलते हैं तो हमें रेप इन इंडिया दिखाई देता है. बीजेपी शासित एक भी राज्य नहीं है, जहां औरतों का रेप नहीं होता है.
  • उन्नाव में बीजेपी विधायक ने महिला का रेप किया. लड़की की गाड़ी का एक्सीडेंट करवाया. नरेंद्र मोदी ने न एक शब्द कहा और न ही कार्रवाई की.
  • देखिए मोदी जी हिंसा का प्रयोग करते हैं और हिंसा फैलाते हैं. आज पूरे हिंदुस्तान में हिंसा हो रही है.''

यह भी पढ़ें:- अमेठी की जंग में राहुल से कैसे जीतीं स्मृति इरानी

इमेज कॉपीरइट AFP

सोशल मीडिया पर चर्चा

राहुल गांधी ने इसके बाद ट्विटर पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ''नॉर्थ ईस्ट को जलाने, भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने और इस भाषण के लिए मोदी को माफ़ी मांगनी चाहिए.''

राहुल गांधी ने इसके साथ पीएम मोदी का एक पुराना वीडियो भी शेयर किया. इस वीडियो में मोदी ने कहा था, ''आपने दिल्ली को जिस तरह से रेप कैपिटल बना दिया है. इस कारण पूरी दुनिया में हिंदुस्तान की बेइज्ज़ती हो रही है. मां-बहनों की सुरक्षा के लिए न आपके पास कोई योजना है न ही कोई दम. आप विपक्ष के नेताओं को गालियां दे रहे हैं. झूठे आरोप लगा रहे हो.''

इस पूरे मुद्दे की सोशल मीडिया पर भी चर्चा है. #RahulGandhi, #RapeInIndia और #smritiirani टॉप ट्रेंड्स में शामिल है.

कुछ लोग स्मृति इरानी के उन पुराने ट्वीट्स को भी शेयर कर रहे हैं. 2014 से पहले किए इन ट्वीट्स में स्मृति तत्कालीन प्रधानमंत्री से रेप जैसे मुद्दों पर बोलने और एक्शन लेने की बातें लिखी थीं.

वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो रेप वाले बयान को लेकर राहुल गांधी को घेर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार