नागरिकता क़ानून पर देशभर में हो रहे प्रदर्शन

  • 22 दिसंबर 2019

भारत में नए नागरिकता संशोधन क़ानून के बनने के बाद से ही विरोध प्रदर्शनों का दौर जारी है. कहीं रैलियां निकाली जा रही हैं तो कहीं हिंसक प्रदर्शन भी हो रहे हैं. इन प्रदर्शनों में कई लोगों की जान तक जा चुकी है. देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन हो रहे हैं. देखिए उन विरोध प्रदर्शनों की कुछ झलकियां.

पटना के डाकबंगला चौराहे पर प्रदर्शनकारी इमेज कॉपीरइट Neeraj priyadarshi/bbc

बिहार में नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में राजद ने बिहार बंद का बुलाया था, इसी दौरान पटना के डाकबंगला चौराहे पर उमड़ी प्रदर्शनकारियों की भीड़.

तेजस्वी यादव इमेज कॉपीरइट Niraj sahai/bbc
Image caption बिहार बंद के दौरान आरजेडी नेता तेजस्वी यादव भी सड़कों पर उतरे.
पटना इमेज कॉपीरइट NIRAJ SAHAY/BBC

विरोध प्रदर्शन के दौरान कई तरह के नारों से सजे पोस्टर बैनर भी देखने को मिल रहे हैं. ज़मीन पर रखे ये पोस्टरों की तस्वीर बिहार से है.

पोस्टर बैनर इमेज कॉपीरइट Neeraj priyadarshi/bbc
विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Shureh niyazi/ bbc

नागरकिता क़ानून के विरोध में यह जनसैलाब मध्यप्रदेश के जबलपुर में उमड़ा है. यहां चार थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया था.

विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Ravi prakash/bbc

उत्तरपूर्व में भी नागरिकता संशोधन क़ानून और एनआरसी का विरोध हो रहा है. सबसे ज़्यादा विरोध प्रदर्शन असम हो रहे हैं.

विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Ravi prakash/bbc

असम में एनआरसी लागू हो चुका है, और अब नागरिकता क़ानून के बनने के बाद असम में विरोध प्रदर्शन और ज़्यादा होने लगे हैं.

विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Getty Images

असम के गुवाहाटी में नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ विरोध करने के लिए कई महिलाएं सड़कों पर उतरीं. विरोध प्रदर्शन के दौरान नारे लगातीं कुछ महिलाएं.

विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत की राजधानी दिल्ली में भी अलग-अलग जगहों पर नागरिकता क़ानून के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं. शुक्रवार को पुरानी दिल्ली स्थित जामा मस्जिद में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी एकजुट हुए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार