'CAA विरोध के दौरान हिंसा के पीछे सिमी से जुड़ा संगठन'- प्रेस रिव्यू

  • 24 दिसंबर 2019
सीएए के विरोध में हिंसा इमेज कॉपीरइट Getty Images

नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में देशव्यापी प्रदर्शन हो रहे हैं. कई जगहों पर ये प्रदर्शन बेहद शांतिपूर्ण रहे तो कई जगहों पर इन्होंने हिंसक रूप ले लिया.

सिर्फ़ उत्तर प्रदेश राज्य में 10 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

लखनऊ पुलिस के मुताबिक़ लखनऊ समेत राज्य के कई ज़िलों में हिंसा भड़काने के पीछे प्रतिबंधित संगठन सिमी से जुड़े संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया का हाथ था.

लखनऊ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए संगठन के राज्य प्रमुख वसीम अहमद समेत तीन लोगों को गिरफ़्तार किया है. इस ख़बर को हिंदुस्तान ने अपने पहले पन्ने पर प्रकाशित किया है. पुलिस का दावा है कि उन्हें इन लोगों के पास से फंड से जुड़ी जानकारियां और दस्तावेज़ भी मिले हैं.

पुलिस का दावा है कि उसे शामली और मुज़्फ़्फरनगर में रुपए भेजने के भी प्रमाण मिले हैं.

दया याचिका

निर्भया गैंगरेप के चार दोषियों में से अभी तक किसी ने राष्ट्रपति के समझ दया याचिका दायर नहीं की है.

लेकिन उम्मीद की जा रही है कि उनकी ओर से उनके वकील आज दया याचिका या फिर क्यूरेटिव अपील कर सकते हैं.

दया याचिका दायर करने के लिए दी गई सात दिन की अवधि बुधवार को पूरी हो जाएगी. इस ख़बर को भी अख़बार ने प्रमुखता से प्रकाशित किया है.

इमेज कॉपीरइट SADAF JAFAR @FACEBOOK

सदफ़ जाफ़र की ज़मानत याचिका ख़ारिज

लखनऊ की एक अदालत ने कांग्रेस नेता सदफ़ जाफ़र की ज़मानत याचिका ख़ारिज कर दी है. सदफ़ फिलहाल लखनऊ की जिला ज़ेल में बंद हैं. सदफ़ को 19 दिसंबर को नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में में प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के संबंध में गिरफ़्तार किया गया है.

इस ख़बर को इंडियन एक्सप्रेस ने प्रकाशित किया है.

जाफ़र के वकील हरजोत सिंह ने बताया कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत मे जाफ़र की ज़मानत याचिका को ख़ारिज कर दिया है. अब हम सेशन कोर्ट में ज़मानत याचिका दाख़िल करेंगे.

बताया जा रहा है कि सदफ़ जाफ़र प्रदर्शन के वक़्त परिवर्तन चौक पर मौजूद थीं और ख़ुद फ़ेसबुक लाइव के ज़रिए प्रदर्शन और उस दौरान हो रही हिंसा की भी सूचना दे रही थीं.

दो साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म

पूर्वोत्तर दिल्ली के दयालपुर में दो साल की बच्ची के साथ रेप का मामला सामने आया है. रेप का आरोप 19 वर्षीय पड़ोसी पर लगा है. पुलिस का कहना है कि उन्होंने उसे गिरफ़्तार कर लिया है.

बच्ची की हालत स्थिर है.

पुलिस के मुताबिक़, रविवार देर शाम उन्हें अस्पताल से फ़ोन आया. जब पुलिस वहां पहुंची तो बच्ची के माता-पिता ने बताया कि उन्हें बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स पर चोट के निशान मिले थे जिससे उन्हें कुछ ग़लत होने का संदेह हुआ और वे बच्ची को लेकर पास की ही एक क्लीनिक गए.

जहां से डॉक्टरों ने उन्हें अस्पताल भेज दिया. अस्पताल में रेप की पुष्टि हो गई है.

डीसीपी वेद प्रकाश सूर्य ने बताया कि गिरफ़्तार किए गए शख़्स ने स्वीकार कर लिया है कि उसी ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया. बच्ची के माता-पिता दिहाड़ी मज़दूर हैं. इस ख़बर को हिंदुस्तान टाइम्स ने प्रकाशित किया है.

एक ऐसी खाप जिसे प्रेम विवाह से बैर नहीं

खाप पंचायतों का नाम अक्सर उनके फ़रमानों के लिए ही याद किया जाता है लेकिन हरियाणा की एक खाप पंचायत ने एक अनूठी मिसाल पेश की है.

हरियाणा के जींद ज़िले की बरसोला ग्राम पंचायत ने अपने पंचायत के सभी युवक-युवतियों को अंतरजातीय विवाह करने की स्वीकृति देते हुए उनका साथ देने की घोषणा की है.

इस ख़बर को एनबीटी ने प्रकाशित किया है.

इमेज कॉपीरइट CG KHABAR
Image caption सांकेतिक तस्वीर

सड़क हादसों में मरते हैं सबसे अधिक युवा

भारत में साल 2017 में हुई सड़क दुर्घटनाओं में क़रीब 2.2 लाख लोगों की जान चली गई. लांसेट पब्लिक हेल्थ मैगज़ीन में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक़ भारत में सड़क हादसों में मरने वालों में सबसे अधिक पैदल यात्री और मोटर साइकिल सवार थे. द इंडिया स्टेट लेवल डिज़ीज़ बर्डेन इनिशिएटिव के मुताबिक़ साल 2017 में भारत में सड़क हादसा 15 से 39 साल के लोगों की मौत की बड़ा वजह था.

यह पुरुषों औऱ महिलाओं की मौत के लिहाज़ से दूसरा सबसे बड़ा कारण रहा. इस ख़बर को जनसत्ता ने प्रकाशित किया है.

ये भी पढ़ें...

झारखंड: बीजेपी दफ़्तर का सन्नाटा काफ़ी कुछ कहता रहा

उत्तर प्रदेश में प्रदर्शनों के दौरान गोली लगने से हुई 14 लोगों की मौत

असम डिटेंशन कैंप: मोदी का दावा कितना सही

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार