क़ानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद बोले, NRC पर लुका-छिपा कर कुछ नहीं होगा: प्रेस रिव्यू

  • 29 दिसंबर 2019
इमेज कॉपीरइट Getty Images

क़ानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि पूरे देश में एनआरसी लागू करने के लिए उचित क़ानूनी प्रक्रिया का पालन किया जाएगा. इसमें राज्यों से बात कर इस विषय पर उनकी राय लेना भी शामिल है.

उन्होंने कहा है कि नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर के लिए इकट्ठा किए जा रहे "कुछ तथ्यों" का इस्तेमाल एनआरसी में "हो भी सकता है और नहीं भी."

हाल में देश के कई राज्यों में नागरिकता संशोधन क़ानून और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन हुए हैं. दो राज्य- पश्चिम बंगाल और केरल ने ये भी स्पष्ट कर दिया है कि वो अपने राज्य में एनपीआर की प्रक्रिया नहीं शुरु करेंगे क्योंकि इसके ज़रिए इकट्ठा किए गए डेटा का इस्तेमाल एनआरसी में किया जा सकता है.चट

रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि अगर एनआरसी में जो कुछ भी किया जाएगा वो पूरी तरह से सार्वजनिक तौर पर किया जाएगा, गुप्त रूप से कुछ नहीं किया जाएगा.

उन्होंने ये भी स्पष्ट किया कि पूरे देश में प्रस्तावित एनआरसी के लिए कौन से दस्तावेज़ मान्य होंगे इस पर अभी फ़ैसला नहीं किया गया है.

असम को नागपुर नहीं चलाएगा- राहुल गांधी

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को असम के गुवाहाटी में रैली की और बीजेपी और आरएसएस पर हमला बोला.

एशियन एज में छपी ख़बर के अनुसार उन्होंने आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि असम में "चड्डीधारियों" का शासन नहीं चलेगा.

अख़बार के अनुसार राहुल गांधी ने कहा, "हम बीजेपी और आरएसएस को असम के इतिहास, भाषा, संसकृति पर आक्रमण करने नहीं देंगे. असम को नागपुर नहीं चलाएगा. असम को आरएसएस के चड्डीवाले नहीं चलाएंगे. असम को असम की जनता चलाएगी."

उन्होंने चिंता जताई कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार की नीतियों के कारण ऐसे आसार बन रहे हैं कि असम में फिर से हिंसा हो रही है, किसी सूरत में असम की शांति भंग नहीं होनी चाहिए.

इससे एक दिन पहले दिल्ली में आयेजित एक कार्यक्रम में राहुल गांधी ने नागरिकता संशोधन क़ानून को नोटबंदी-2 क़रार दिया था और कहा था कि इसके परिणाम नोटबंदी से भी अधिक भयानक हो सकता है.

जिन्हें पुलिस ने पकड़ा उनकी मदद करेगा वक्फ़ बोर्ड

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नागरिकता संशोधन क़ानून और एनआरसी के विरोध में हुए प्रदर्शनों के दौरान जिन लोगों को पुलिस ने पकड़ा है, उनकी क़ानूनी मदद के लिए दिल्ली वक्फ़ बोर्ड ने तीन हेल्पडेस्क बनाया है.

द स्टेट्समैन में छपी एक ख़बर के अनुसार दिल्ली समेत अन्य राज्यों में पुलिस द्वारा पकड़े लोगों की वक्फ़ बोर्ड मदद करेगा.

वक्फ़ बोर्ड के चेयरमैन अमानतुल्लाह ख़ान के आदेश पर ये तीन हेल्पडेस्क दरियागंज, ओख़ला और जाफ़राबाद में लगाए जाएंगे.

अख़बार लिखता है कि वक्फ़ बोर्ड के सदस्य हिमल अख़्तर ने एक बयान जारी कर कहा है कि इन डेस्क के ज़रिए वकीलों की टीमें देश में उन ज़रूरतमंद परिवारों की मदद करेंगी जिनके अपनों को पुलिस ने झूठे मामलों में फंसाया है.

उत्तर भारत में शीतलहर

इमेज कॉपीरइट Getty Images

द हिंदू में छपी एक ख़बर के अनुसार मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कि है कि पूरे उत्तर भारत शीत लहर की चपेट में है.

अख़बार के अनुसार दिल्ली और उससे सटे राज्यों में पारा दो डिग्री से नीचे लुढ़क गया है. इलाके में घना कोहरा है और वायु प्रदूषण का स्तर भी चिंताजनक बना हुआ है.

मौसम विभाग के अनुसार रविवार को पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और बिहार में मौसम ऐसा ही बना रहेगा.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक ख़बर के अनुसार देश के उत्तर पूर्वी राज्य नगालैंड में गुरुवार और शनिवार को बर्फ़बारी हुई है.

प्रदेश के चार ज़िलों- ज़ुन्हेबोटो, किप्हिरे, त्वेनसांग और फेक में बर्फ़बारी के कारण सफे़द चादर बिछ गई है.

सोशल मीडिया में कई लोग इससे जुड़ी तस्वीरें पोस्ट कर रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि बीते कई दशकों में पहली बार यहां बर्फ़ गिरी है.

अख़बार ने ज़ुन्हेबोटो के ज़िला कलेक्टर पीटर लिचामो के हवाले से लिखा है कि इस इलाके में तापमान का 10-11 डिग्री तक पहुंच जाना आम बात है लेकिन इस बार पारा 2-3 डिग्री तक पहुंच गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार