फ़िरोज़ाबाद: रेप पीड़ित लड़की के पिता की गोली मारकर हत्या

  • समीरात्मज मिश्र
  • लखनऊ से, बीबीसी हिन्दी डॉट कॉम के लिए
फ़िरोज़ाबाद के पुलिस अधीक्षक सचींद्र पटेल

इमेज स्रोत, BBC SAMIR

उत्तर प्रदेश के फ़िरोज़ाबाद ज़िले में रेप पीड़ित लड़की के पिता की गोली मारकर हत्या कर दी गई. परिजनों के मुताबिक, हत्या से पहले अभियुक्तों ने लड़की के पिता से केस वापस लेने का दबाव डाला था और ऐसा न करने पर हत्या कर देने की धमकी दी थी. मृत पिता ही लड़की के केस की पैरवी कर रहे थे.

पुलिस के मुताबिक़, फ़िरोज़ाबाद ज़िले के थाना उत्तर क्षेत्र के रहने वाले लड़की के पिता की बाइक सवार दो लोगों ने सोमवार देर शाम गोली मार दी. आस-पास के लोग उन्हें अस्पताल लेकर गए जहां अगले दिन उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. हमलावर हत्या करने के बाद भाग निकले और अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर हैं.

परिजनों के मुताबिक़, मृतक की बेटी के साथ पिछले साल अगस्त में बंधक बनाकर रेप किया गया था. इस मामले में शिकोहाबाद के रहने वाले आचमन उपाध्याय नाम के एक व्यक्ति के ख़िलाफ़ शिकोहाबाद थाने में नामज़द रिपोर्ट लिखाई गई थी लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

मृतक के भाई के मुताबिक, "रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत मुक़दमा लिखा गया था तब भी अभियुक्त पुलिस की पकड़ में नहीं आ पाया. वह लगातार धमकियां भी दे रहा था. अभी एक हफ़्ते पहले ही धमकी दी थी कि मुक़दमा वापस ले लो, नहीं तो ज़िंदा नहीं बचोगे. पुलिस में इसकी शिकायत भी की गई थी लेकिन पुलिस ने शिकायत को अनसुना कर दिया."

फ़िरोज़ाबाद के पुलिस अधीक्षक सचींद्र पटेल का कहना है, "अभियुक्त फ़रार है और उसके ख़िलाफ़ कुर्की की कार्रवाई भी हो चुकी है, इनाम भी घोषित किया गया है. उसे पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है."

इमेज स्रोत, Reuters

हत्या की घटना के बाद आगरा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक ए सतीश गणेश ने बताया कि पुलिस की पांच टीमें अभियुक्तों को पकड़ने के लिए लगाई गई हैं और जल्द ही उन्हें गिरफ़्तार कर लिया जाएगा.

वहीं मृतक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस शुरू से ही इस मामले में लापरवाही करती आई है और अभियुक्तों को बचाने में लगी थी.

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
दिन भर

वो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय ख़बरें जो दिनभर सुर्खियां बनीं.

ड्रामा क्वीन

समाप्त

मृतक के भाई के मुताबिक़, "पुलिस मामले को गंभीरता से लेती तो हत्या नहीं होती. अभियुक्त काफ़ी दिनों से फ़रार है, लेकिन उसे नहीं पकड़ा गया. कार्रवाई के नाम पर सिर्फ़ इनाम घोषित कर घर की कुर्की कर दी गई. अभियुक्त खुलेआम घूम रहा था, धमकी दे रहा था और अब हत्या भी कर गया लेकिन पुलिस वालों को वो नज़र नहीं आ रहा है. इस घटना से घर के अन्य लोग भी अब दहशत में हैं."

पुलिस की लापरवाही को एसपी सचींद्र पटेल ने भी स्वीकार किया है और इसके लिए कई पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई भी की गई है.

एसपी सचींद्र पटेल ने बताया, "निश्चित तौर पर पुलिस की लापरवाही सामने आई है. लापरवाही के चलते शिकोहाबाद के थानाध्यक्ष लोकेंद्र पाल सिंह, थानाध्यक्ष उत्तरी केडी शर्मा और चौकी इंचार्ज कोटला रोड को निलंबित कर दिया गया है. अभियुक्त जल्द ही पुलिस की गिरफ़्त में होंगे."

हालांकि परिजनों ने एसपी की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा है कि एसपी ने यही तेज़ी पहले दिखाई होती तो अभियुक्त भी पकड़ में होते और एक निर्दोष व्यक्ति की हत्या भी न होती.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)