इस्लामाबाद हाई कोर्ट के चीफ़ जस्टिस का भारत पर ये तंज- पाँच बड़ी ख़बरें

  • 18 फरवरी 2020
इस्लामाबाद हाई कोर्ट के चीफ़ जस्टिस अतहर मिनाल्लाह इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption इस्लामाबाद हाई कोर्ट के चीफ़ जस्टिस अतहर मिनाल्लाह

इस्लामाबाद हाई कोर्ट के चीफ़ जस्टिस अतहर मिनाल्लाह ने पश्तुन तहाफ़ुज़ मुवमेंट यानी पीटीएम और अवामी वर्कर्स पार्टी के 23 कार्यकर्ताओं की ज़मानत याचिका पर सुनवाई करते हुए सोमवार को भारत पर ताना मारा.

इन कार्यकर्ताओं को पीटीएम प्रमुख मंज़ूर पश्तीन के गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ विरोध-प्रदर्शन में गिरफ़्तार किया गया था. जस्टिस मिनाल्लाह ने सभी 23 अभियुक्तों पर लगे आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा कि यह भारत नहीं है, यह पाकिस्तान है और सभी के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा होगी.

अपनी गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ पीटीएम और अवामी वर्कर्स पार्टी के इन 23 कार्यकर्ताओं की ज़मानत याचिका पर जस्टिस अतहर मिनाल्लाह ने सुनवाई की और इन पर लगे सभी आरोपों को ख़ारिज कर दिया.

सुनवाई के दौरान जस्टिस अतहर ने कहा, ''एक लोकतांत्रिक सरकार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को सीमित नहीं कर सकती. एक चुनी हुई सरकार को आलोचना से नहीं डरना चाहिए. संवैधानिक अदालतें लोगों के संवैधानिक हक़ों की रक्षा करेंगी. यह भारत नहीं पाकिस्तान है और सभी के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा होगी. अगर आप विरोध-प्रदर्शन करना चाहते हैं तो अनुमति लीजिए और अनुमति नहीं मिलती है तो कोर्ट है.''

अवामी वर्कर्स पार्टी के एक कार्यकर्ता अमार राशिद को भी इस मामले में गिरफ़्तार किया गया था. इस्लामाबाद हाई कोर्ट में सुनवाई के बाद जब एफ़आईआर वापस ली गई तो उन्होंने इसकी कॉपी ट्विटर पर शेयर की. अमार ने ट्विटर पर लिखा है, ''हमलोगों के ख़िलाफ़ सभी आरोप वापस ले लिए गए हैं. उन सभी का शुक्रिया जो हम लोगों के साथ इस मामले में खड़े रहे. उम्मीद है कि मुल्क में असहमति, शांतिपूर्वक प्रदर्शन और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को दबाया नहीं जाएगा.''

इमेज कॉपीरइट SANJAY DAS

प्रशांत किशोर क्या करने वाले हैं?

चुनावी रणनीतिकार और जेडीयू के पूर्व नेता प्रशांत किशोर ने कहा है कि बिहार में उनके राजनीति सफ़र का अंत नहीं हुआ है. हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में वो क्या करने जा रहे हैं. प्रशांत किशोर ने कहा कि वो पटना में अपनी आगामी योजना के बारे में बताएंगे.

प्रशांत किशोर मंगलवार को पटना पहुंच रहे हैं. जेडीयू से निकाले जाने के बाद वो पहली बार बिहार जा रहे हैं. प्रशांत किशोर ने नागरिकता संशोधन क़ानून के मामले में पार्टी प्रमुख नीतीश कुमार के रुख़ की आलोचना की थी. इसके बाद नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर और पवन वर्मा को पार्टी से निकाल दिया था.

आम आदमी पार्टी के बिहार यूनिट के अध्यक्ष शत्रुघ्न साहू भी दिल्ली से मंगलवार को पटना पहुंच रहे हैं. साहू का कहना है कि आम आदमी पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव इस साल लड़ने जा रही है. उन्होंने कहा कि बिहार में साफ़ छवि वाले दलों और लोगों का बड़ा गठबंधन बिहार चुनाव के लिए बनने जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

प्रियंका गांधी जाएंगी राज्यसभा?

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के मंत्रियों ने प्रियंका गांधी को राज्यसभा भेजने की मांग की है. इसके पहले से ही अटकलें थीं कि कांग्रेस प्रियंका गांधी को राज्यसभा सांसद बना सकती है. अभी प्रियंका गांधी पार्टी महासचिव हैं.

अप्रैल में मध्य प्रदेश से राज्यसभा की तीन सीटें ख़ाली हो रही हैं. इन तीन में से कांग्रेस दो जीत सकती है और एक बीजेपी. अभी इन तीन सीटों से बीजेपी के प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया के अलावा कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह सांसद हैं. मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता सज्जन वर्मा और अरुण यादव ने प्रियंका गांधी को यहां से राज्यसभा सांसद बनाने की मांग की है.

इसके अलावा कमलनाथ सरकार में मंत्री और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह ने भी सज्जन वर्मा और अरुण यादव की मांग का समर्थन किया है.

राहुल मनमोहन सिंह के अनादर के बारे में सोच भी नहीं सकते: कांग्रेस

साल 2013 में राहुल गांधी के एक अध्यादेश की कॉपी फाड़ने का बचाव करते हुए सोमवार को कांग्रेस ने कहा कि राहुल और पार्टी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अनादार के बारे में सोच भी नहीं सकते.

कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सूरजेवाला ने कहा कि यूपीए सरकार में आपराधिक मामलों में दोषी क़रार दिए गए लोगों को चुनाव लड़ने की अनुमति देने वाले अध्यादेश को फाड़कर राहुल गांधी ने साहस का परिचय दिया था.

सूरजेवाला की यह प्रतिक्रिया मनमोहन सिंह की सरकार में योजना आयोग के उपाध्यक्ष रहे मोंटेक सिंह अहलूवालिया के उस दावे पर थी जिसमें उन्होंने कहा था कि राहुल के अध्यादेश फाड़कर फेंकने पर मनमोहन सिंह ने उनसे पूछा कि क्या उन्हें प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफ़ा दे देना चाहिए.

सूरजेवाला ने कहा, ''मुझे नहीं पता है कि दो लोगों के बीच क्या बात हुई थी लेकिन राहुल गांधी मनमोहन सिंह को अपना गुरु और मार्गदर्शक मानते हैं. मनमोहन सिंह के अनादर के बारे में कांग्रेस और राहुल गांधी सोच भी नहीं सकते.''

इमेज कॉपीरइट PTI

बेलारूस में एस जयशंकर ने किया सीएए का बचाव

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को बेलारूस में विवादित नागरिकता संशोधन क़ानून और जम्मू-कश्मीर में अपनी सरकार के फ़ैसले का बचाव किया. जयशंकर बेलारूस में यूरोपीय यूनियन के विदेश मंत्रियों की बैठक में गेस्ट के तौर पर शामिल होने पहुंचे हैं.

यूरोपीय यूनियन के सांसदों ने सीएए के ख़िलाफ़ एक निंदा प्रस्ताव तैयार किया था और इसे विभाजनकारी बताया था. हालांकि ग़ैर-बाध्यकारी यह प्रस्ताव अब तक पास नहीं हुआ है. एस जयशंकर ने कहा कि सीएए को समझने में भूल की गई है.

जयशंकर ने सीएए की तुलना पूरे यूरोप में प्रवासी और शरणार्थी पुनर्वास नीतियों से की. भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि यूरोप के देश भी राष्ट्रीय और सांस्कृतिक आधार का इस्तेमाल करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार