ट्रंप के लिए अहमदाबाद के सुरक्षा इंतज़ाम: 36 करोड़ ख़र्च, 10 हज़ार पुलिसवाले ड्यूटी पर

  • 20 फरवरी 2020
अहमदाबाद में 'नमस्ते ट्रंप' की एक होर्डिंग इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अहमदाबाद में 'नमस्ते ट्रंप' की एक होर्डिंग

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप 24 फ़रवरी को पहली बार भारत आ रहे हैं. वह अपनी पत्नी मेलेनिया ट्रंप के साथ गुजरात के शहर अहमदाबाद पहुंचेंगे. दो दिन के उनके इस दौरे पर भारत-अमरीका के बीच रक्षा और वाणिज्य संबंधी समझौतों पर दस्तख़त किए जाएंगे.

ट्रंप के दौरे के मद्देनज़र अहमदाबाद में तमाम तैयारियां चल रही हैं. साथ ही, सुरक्षा के पुख़्ता इंतज़ाम किए जा रहे हैं.

रवीश कुमार ने क्या-क्या बताया?

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने दौरे की जानकारी देते हुए बताया, "यह अमरीकी राष्ट्रपति का पहला भारत दौरा है. बीते 8 महीनों में यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच पांचवीं मुलाक़ात होगी, जो दोनों देशों के बीच बढ़ती गर्मजोशी दिखाता है." ट्रंप अहमदाबाद से आगरा और फिर दिल्ली जाएंगे.

रवीश ने बताया कि ट्रंप 24 फ़रवरी को अहमदाबाद में लैंड करेंगे. वह एयरपोर्ट से मोटेरा स्टेडियम तक रोडशो करेंगे, जहां रास्ते में तमाम कलाकार भारतीय संस्कृति और अपने हुनर का प्रदर्शन करेंगे. रास्ते में महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाएं दर्शाई जाएंगी. रोडशो के बाद ट्रंप नए बने मोटेरा स्टेडियम में 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम को संबोधित करेंगे. यह ह्यूस्टन में आयोजित 'हाउडी मोदी' जैसा कार्यक्रम होगा. 3.30 बजे दोनों नेता आगरा और फिर वहां से दिल्ली रवाना होंगे."

दिल्ली के कार्यक्रम के बारे में रवीश ने बताया, "सुबह 10 बजे रिसेप्शन के बाद दोनों नेता राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने जाएंगे. फिर हैदराबाद हाउस में दोनों के बीच प्रतिनिधि मंडल स्तर की बातचीत होगी. इसके बाद MoU साइन किए जाएंगे, प्रेस स्टेटमेंट दिया जाएगा और फिर लंच होगा. शाम को ट्रंप राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ बैठक करेंगे. फिर राष्ट्रपति की ओर से डिनर आयोजित किया जाएगा."

रवीश कुमार ने उम्मीद जताई कि दोनों नेताओं के बीच सुरक्षा, वाणिज्य, व्यापार, आतंकवाद और स्थानीय मामलों जैसे तमाम मुद्दों पर प्रमुखता से बात होगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अहमदाबाद में इवेंट वाले दिन 10,000 पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे.

गुजरात में क्या इंतज़ाम हो रहे हैं?

गुजरात पुलिस से जुड़े सूत्रों ने बीबीसी को सुरक्षा इंतज़ाम की जानकारी दी. अहमदाबाद के कंट्रोलर डीसीपी विजय पटेल के मुताबिक़ ट्रंप के दौरे के वक़्त 25 आईपीएस, 65 एसीपी स्तर के अधिकारी, 200 पुलिस इंस्पेक्टर, 800 सब-इंस्पेक्टर और 10,000 पुलिसकर्मी ड्यूटी पर रहेंगे.

विजय पटेल ने बताया कि एयरपोर्ट, रोडशो, गांधी आश्रम और मोटेरा स्टेडियम के कार्यक्रमों के लिए 5 सुरक्षा टीमें गठित की गई हैं. साथ ही, NSG की स्पेशल टीम और स्नाइपर सुरक्षा में रहेंगे. बम पता लगाने और डिफ्यूज़ करने वाली 10 टीम और कुत्तों की दो टुकड़ियां सुरक्षा में रहेंगी.

ट्रंप और मोदी का क़ाफ़िला जिन सड़कों से गुज़रेगा, उनके आसपास रहने वाले लोगों की पहचान के लिए 'पिनाकल सॉफ्टवेयर' की मदद ली गई है. शहर के होटलों को भी अपने मेहमानों की जानकारी पुलिस को देने के लिए कहा गया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption गुजरात में तमाम लोगों का वेरिफिकेशन किया जा रहा है

अमरीका से क्या-क्या आ रहा है?

सोमवार को अहमदाबाद के सरदार वल्लभ भाई पटेल एयरपोर्ट पर अमरीकी वायुसेना का एक कारगो एयरक्राफ्ट लैंड हुआ. इसमें एक सिक्यॉरिटी कार थी, जो ट्रंप के क़ाफ़िले का हिस्सा है. विमान में सुरक्षा उपकरणों की तीन लॉरी भी थीं. इवेंट वाले दिन से पहले ऐसे ही कई कारगो एयरक्राफ्ट आने की संभावना है. अमरीकी ख़ुफ़िया सर्विस के अधिकारी भी शहर पहुंच चुके हैं और सुरक्षा प्रबंधों का जायज़ा ले रहे हैं.

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ अहमदाबाद नगर आयुक्त विजय नेहरा और शहर के बड़े अधिकारियों ने बताया कि अथॉरिटी ने नए क्रिकेट स्टेडियम के आसपास इन्फ्रास्ट्रक्चर बेहतर करने और सड़कें चौड़ी करने पर अब तक 30 करोड़ से ज़्यादा रुपए ख़र्च किए हैं. नेहरा ने बताया कि इसके अलावा शहर के सौंदर्यीकरण पर 6 करोड़ रुपए ख़र्च किए गए हैं. इसमें दीवार का ख़र्च भी शामिल है.

रोडशो और मोटेरा स्टेडियम में किसी भी संदिग्ध गतिविधि पर नज़र रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे. पूरे इवेंट की निगरानी के लिए एक स्पेशल वायरलेस फ्रिक्वेंसी इस्तेमाल की जाएगी.

पुलिस ने लोगों से कोई संदिग्ध सामान या व्यक्ति दिखने पर जानकारी देने को कहा है. मोटेरा स्टेडियम के पास एंटी-ड्रोन टीम मौजूद रहेगी, जो उड़ने वाली किसी भी संदिग्ध चीज़ तुरंत गिराने में सक्षम है. अमरीकी ख़ुफ़िया सर्विस भी ट्रंप की सुरक्षा में तैनात रहेगी. यही टीम ट्रंप के इर्ग-गिर्द पहला सुरक्षा घेरा बनाएगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption मोटेरा स्टेडियम के बाहर चल रहा निर्माण कार्य

लोगों की सुविधा के लिए क्या किया जा रहा है?

मोटेरा स्टेडियम में 120 एंट्री पॉइंट बनाए जाएंगे, जिनमें दरवाज़े के आकार के मेटल डिटेक्टर होंगे. नगर निगम ने इवेंट में आने वाले लोगों से कार्यक्रम के ढाई घंटे पहले पहुंचने को कहा है.

अहमदाबाद में ट्रंप का रोडशो देखने आने वालों के लिए 28 पार्किंग स्पॉट बनाए गए हैं. पार्किंग के लिए ज़िलों के आधार पर अलग-अलग कोड भी जारी किए गए हैं. इस मौक़े पर गुजरात आने वाले पर्यटकों का पुलिस वेरिफिकेशन भी किया जाएगा.

स्थानीय प्रशासन ने ट्रंप के रोडशो के लिए यह रूट बताया है, "पहले क़ाफ़िला गांधी आश्रम जाएगा. फिर एयरपोर्ट सर्कल से इंदिरा पुल, सुभाष पुल से होते हुए क़ाफ़िला कोटेश्वर जाएगा और फिर मोटेरा स्टेडियम पहुंचेगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार