नरेंद्र मोदी दूरदर्शी और जीनियस हैं: सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस अरुण मिश्रा

  • 22 फरवरी 2020
जस्टिस अरुण मिश्रा ने पीएम मोदी को अंतरराष्ट्रीय ख्याति वाला शख्स बताया है. इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption जस्टिस अरुण मिश्रा ने पीएम मोदी को अंतरराष्ट्रीय ख्याति वाला शख्स बताया है.

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस अरुण मिश्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दूरदर्शी और जीनियस बताया है. जस्टिस मिश्रा ने 1,500 पुराने क़ानून ख़त्म करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी और कानूनमंत्री रविशंकर प्रसाद की तारीफ़ की.

अंतरराष्ट्रीय न्यायिक सम्मेलन 2020 को संबोधित करते हुए जस्टिस मिश्रा ने कहा, "हमारी सबसे बड़ी चिंता है कि लोग गरिमापूर्ण तरीके से रहें. हम बहुमुखी प्रतिभा वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा करते हैं जो वैश्विक सोच रखते हैं और स्थानीय स्तर पर काम करते हैं. पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत अंतरराष्ट्रीय समुदाय का एक ज़िम्मेदार सदस्य है."

पीएम मोदी को अंतरराष्ट्रीय स्तर ख्याति प्राप्त दूरदर्शी बताते हुए जस्टिस मिश्रा ने भारतीय न्याय प्रणाली की ज़रूरतें भी बताईं.

उन्होंने कहा, "आज हम 21वीं सदी में हैं. अब हमें सिर्फ वर्तमान ही नहीं, बल्कि भविष्य के लिए के लिए भी आधुनिक ढांचे की ज़रूरत है. न्याय व्यस्था लोकतंत्र की रीढ़ है, जिसे मज़बूत करना आज की ज़रूरत है."

इस सम्मेलन में जस्टिस मिश्रा ने वैश्वीकरण का भी ज़िक्र किया. उन्होंने कहा, "लोगों में पीछे छूट जाने और वैश्वीकरण के फायदों से वंचित रह जाने की चिंता बढ़ रही है. इससे पहले यह कोरोना वायरस जितना ख़तरनाक हो जाए, हम सभी को इस पर ध्यान देने की ज़रूरत है."

निर्भया केस: कोर्ट ने खारिज की विनय शर्मा की याचिका

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के एक दोषी विनय शर्मा की इलाज मांगने वाली याचिका खारिज कर दी है.

विनय ने कोर्ट में एक याचिका दायर की थी, जिसमें खराब मानसिक स्थिति का हवाला देते हुए हाई लेवल के इलाज की मांग की गई थी. कोर्ट ने शनिवार दोपहर इस याचिका पर सुनवाई करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption निर्भया केस की सुनवाई के दौरान विनय को कोर्ट ले जाती पुलिस

शाम को फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने कहा, "मृत्युदंड दिए जाने की दशा में दोषी का थोड़ा घबराना और अवसाद में जाना सामान्य है. इस मामले में दोषी को पर्याप्त इलाज और मनोवैज्ञानिक मदद उपलब्ध कराई गई है."

कोर्ट के फैसले के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, "यह फांसी टालने का एक हथकंडा था. केस के दोषी न्यायालय को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं. उनके सभी कानूनी विकल्प खत्म हो चुके हैं और मैं मानती हूं कि 3 मार्च को उन्हें फांसी पर चढ़ा दिया जाएगा."

निर्भया केस में कुल चार दोषियों को फांसी होनी है. इनकी फांसी की तारीख पहले कई मौकों पर टल चुकी है. अभी फांसी की तारीख 3 मार्च है. इलाज की याचिका दायर करने वाले विनय ने कुछ दिनों पहले दीवार पर सिर मारकर खुद को घायल कर लिया था.

ट्रंप की आगरा यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी साथ होंगे या नहीं?

राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की ताजमहल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके साथ होंगे या नहीं? इसे लेकर अलग-अलग तरह की बातें सामने आ रही हैं.

आधिकारिक सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी पीटीआई ने शनिवार को बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप अहमदाबाद के बाद ताजमहल देखने के लिए आगरा जाएंगे. लेकिन ट्रंप प्रशासन का कहना है कि राष्ट्रपति और फ़र्स्ट लेडी अहमदाबाद के बाद प्रधानमंत्री मोदी के साथ ताजमहल देखने के लिए आगरा जाएंगे.

इमेज कॉपीरइट Cheriss May/NurPhoto via Getty Images
Image caption राष्ट्रपति ट्रंप साथ में फ़र्स्ट लेडी मेलेनिया ट्रंप (बीच में) और इंवाका ट्रंप

राष्ट्रपति ट्रंप सोमवार की दोपहर अहमदाबाद पहुंचेंगे. तकरीबन 36 घंटों की भारत यात्रा के दौरान उनके साथ फ़र्स्ट लेडी मेलेनिया ट्रंप, राष्ट्रपति की बेटी इवांका ट्रंप, दामाद जैरेड कुशनर और ट्रंप प्रशासन के आला अधिकारी होंगे.

समाचार एजेंसी का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी की राष्ट्रपति ट्रंप के साथ आगरा में रहने की कोई योजना नहीं है. "राष्ट्रपति और उनके परिवार के लोगों के आगरा में ताजमहल देखने का मौका होगा. इसलिए वहां भारतीय पक्ष की तरफ़ से वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी या कोई आधिकारिक कार्यक्रम नहीं रखा गया है."

सोमवार को अहमदाबाद में प्रधानमंत्री ट्रंप के साथ होंगे जहां अमरीकी राष्ट्रपति और फर्स्ट लेडी के स्वागत का कार्यक्रम है. मंगलवार को दिल्ली के आधिकारिक कार्यक्रमों में प्रधानमंत्री ट्रंप के साथ मौजूद होंगे.

इमेज कॉपीरइट Satish Bate/Hindustan Times via Getty Images

चीन पर भारतीय राहत विमान को देर कराने का आरोप

चीन के वुहान में फंसे भारतीयों को निकालने की कोशिश आसानी से पूरी होती हुई नहीं दिख रही है. समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि चीनी सरकार ने भारत से राहत आपूर्ति लेकर जाने वाले विमानों को अपने यहां आने की मंज़ूरी अभी तक नहीं दी है. इन्हीं विमानों से वुहान में फंसे भारतीयों को देश वापस लाया जाना है.

लेकिन चीन ने इन आरोपों का खंडन किया है. चीनी दूतावास के प्रवक्ता ने कहा, "हुबेई में महामारी की स्थिति जटिल है. दोनों देश इस सिलसिले में बातचीत कर रहे हैं. उड़ानों को इजाजत देने में जानबूझकर देरी करने जैसी कोई बात नहीं है."

इस सिलसिले में शुक्रवार तक चीन का पक्ष यही रहा है कि उनकी तरफ़ से कोई देरी नहीं की जा रही है. भारतीय विमानों को शुक्रवार को चीन के लिए रवाना होना था लेकिन बिना कोई कारण बताए उन्हें मंज़ूरी नहीं दी गई.

एनएनआई ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि चीन जानबूझ कर राहत विमान को मंज़ूरी देने में देरी कर रहा है जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग को चिट्ठी लिखकर ये भरोसा दिलाया था कि भारत कोरोना वायरस की चुनौती से निपटने में चीन और उसके लोगों के साथ मजबूती के साथ खड़ा है.

इमेज कॉपीरइट Delhi Police

निर्भया के मुज़रिमों को घरवालों से मिलने का आख़िरी मौका

निर्भया केस में कसूरवार ठहराए गए अपराधियों को अपने परिवारवालों से मिलने का आख़िरी मौका दिया गया है.

इस सिलसिले में दिल्ली के तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने सभी चारों मुज़रिमों के घरवालों को चिट्ठी लिखी है.

समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक़ मुकेश और पवन को ये बताया गया है कि पहली फरवरी की डेथ वारंट से पहले वे अपने घरवालों से मिल चुके हैं. अक्षय और विनय से पूछा गया है कि वे अपने घरवालों से कब मिलना चाहते हैं.

दिल्ली के निर्भया गैंगरेप मामले में चारों दोषियों को तीन मार्च सुबह छह बजे फांसी दिए जाने का आदेश हुआ है.

इस मामले में दो बार अदालत ने पहले भी तारीख़ तय की थी लेकिन दोषियों की अलग-अलग याचिकाओं के कारण यह टल गई थी.

इस मामले में मुकेश सिंह, विनय शर्मा, अक्षय ठाकुर और पवन गुप्ता दोषी हैं.

नया डेथ वारंट जारी होने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने उम्मीद जताई थी कि इस बार हर हाल में दोषियों को सज़ा हो ही जाएगी और वो किसी क़ानूनी पेचीदगी का फ़ायदा नहीं उठा सकेंगे.

इमेज कॉपीरइट REUTERS/Danish Ismail

अनंतनाग में दो चरमपंथियों की मौत

जम्मू और कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो चरमपंथियों के मारे जाने की ख़बर है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने पुलिस के हवाले से कहा है कि दक्षिणी कश्मीर में बिजबेहारा के संगम इलाके में ये मुठभेड़ शुक्रवार रात को हुई.

पुलिस का कहना है कि मारे गए चरमपंथियों का संबंध लश्कर-ए-तैयबा संगठन से है और उनकी पहचान कर ली गई है.

पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ की जगह से हथियार बरामद किए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए