अमरीका और भारत के बीच तीन अरब डॉलर का रक्षा समझौता

  • 25 फरवरी 2020
मोदी- ट्रंप इमेज कॉपीरइट PTI

अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि भारत और अमरीका के बीच तीन अरब डॉलर का रक्षा समझौता हुआ है.

दोनों देशों के बीच हुई द्विपक्षीय मुलाक़ात के बाद साझा प्रेस कॉफ्रेंस में ट्रंप ने ये जानकारी दी.

ट्रंप ने कहा कि हम दोनों नेता अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी 'आतंकवाद' से बचाने को लेकर भी प्रतिबद्ध हैं और अमरीका भी इस ओर मज़बूती से काम कर रहा है और पाकिस्तान से भी बातचीत कर रहा है ताकि वो उसकी ज़मीन पर जो 'आतंकवाद' पल रहा है उसे ख़त्म करने को लेकर काम करे.

ट्रंप और मोदी दोनों नेताओं ने इस बात पर ख़ुशी ज़ाहिर की और कहा कि द्विपक्षीय व्यापार से ग्रोथ डबल डिजिट में हुई है.

इससे पहले नरेंद्र मोदी ने दोनों देशों के बीच कई समझौते होने की जानकारी दी. मोदी ने कहा कि यह दोनों नेताओं की पाँचवी मुलाक़ात है जो बहुत ही सार्थक और सकारात्मक रही.

इमेज कॉपीरइट LOCKHEED MARTIN

कई समझौते हुए

नरेंद्र मोदी ने भारत और अमरीका के रिश्ते को 21वीं सदी की सबसे अहम पार्टनरशिप बताया है. उन्होंने बताया कि रक्षा, ऊर्जा, टेक्नोलोजी और व्यापार के क्षेत्र में अहम प्रगति हुई है.

ट्रंप ने पत्रकारों को बताया कि उनके कार्यभार संभालने के बाद भारत में अमरीकी निर्यात 60 फ़ीसदी बढ़ा है. साथ ही उनका कहना था कि भारत की उर्जा ज़रुरतों को पूरा करने के लिए समझौता हुआ है.

जिसके तहत एक्सॉन मोबिल ने भारत के साथ प्राकृतिक गैस के वितरण सुधारने को लेकर समझौता किया है.

नरेंद्र मोदी ने भी माना कि अमरीका भारत के लिए तेल और गैस का स्रोत बना है.

दो दिन की यात्रा पर भारत आए अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस द्विपक्षीय मुलाकात से पहले कहा था कि उनका अनुभव भारत यात्रा के दौरान शानदार रहा.

हैदराबाद हाउस में मौजूद ट्रंप ने कहा कि भारत की यात्रा मेरे लिए सम्मान की बात है और नरेंद्र मोदी को भारत के लोग प्यार करते हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

नरेंद्र मोदी ने कहा था, ''डोनाल्ड ट्रंप का भारत आना मेरे लिए यादगार है. मुझे ख़ुशी है कि आप अपने परिवार के साथ आए. मैं जानता हूं कि इन दिनों अमरीका में आपकी व्यस्तताएं हैं, उसके बाद भी आप भारत आए. मैं आपका अभिनंदन करता हूं.''

ट्रंप का कहना था, ''हमने व्यापार, फाइटर जेट जैसे मामलों पर बातचीत की है और उसमें बात भी आगे बढ़ी है लेकिन पिछले दो दिन मेरे लिए बहुत ही बेहतर रहे. यहां के लोग आपसे(मोदी) प्यार करते हैं जैसे ही मैं आपका नाम लेता था लोग उत्साहित हो जाते थे.''

उन्होंने अमरीका में रह रहे लोगों का भी ज़िक्र किया और कहा कि वो लोग अच्छा काम कर रहे हैं.

इससे पहले वे अपनी पत्नि मलेनिया ट्रंप के साथ दिल्ली स्थित राजघाट गए और महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी और वहां एक पौधा लगाया. राजघाट की विज़िटर्स बुक में डोनाल्ड ट्रंप ने लिखा, ''अमरीका के लोग भारत की संप्रभुता के साथ मज़बूती के साथ खड़े हैं जो महान महात्मा गांधी का विज़न था. ये मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है.''

राष्ट्रपति भवन में भव्य स्वागत

इमेज कॉपीरइट Pti

मंगलवार सुबह अपनी पत्नि के साथ राष्ट्रपति भवन पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप का राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ,उनकी पत्नी सविता कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वागत किया. इसके बाद उन्हें भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा गार्ड ऑफ़ ऑनर और 21 तोपों की सलामी दी गई.

उसके बाद ट्रंप द्धिपक्षीय मुलाक़ात के लिए हैदाराबाद हाउस चले गए और मेलानिया ट्रंप दिल्ली के नानकपुरा स्कूल पहुंची जहां बच्चों ने उनका स्वागत किया.

मेलानिया ने लिया हैपीनेस क्लास का जायज़ा

वहां उन्होंने दिल्ली के सरकारी स्कूलों में चलने वाली हैपीनेस क्लास का जायज़ा लिया. वे एक कक्षा में चंद मिनटो तक रहीं और बच्चों से बातचीत की.

इमेज कॉपीरइट PTI

उन्होंने स्कूल में बच्चों का संबोधन नमस्ते से किया और कहा कि ये भारत का उनका पहला दौरा है और उनका जिस तरह से स्वागत किया गया है उससे वो काफ़ी ख़ुश हैं.

स्कूल में बच्चों ने तिलक लगाकर उनका स्वागत किया गया.

उन्होंने कहा, ''मुझे बताया गया कि इस स्कूल का नाम सर्वोदय है जिसका मतलब होता है समृद्धि. मैंने पाठ्यक्रम में शामिल हैपिनेस क्लास को भी देखी, प्राइमरी स्कूल में रीडिंग कार्यक्रम को देखा. ये बहुत प्रेरणादायक है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए