कोरोना वायरस: ईरान में फंसे 100 भारतीय मछुआरे - पाँच बड़ी ख़बरें

ईरान में कोरोना वायरस से बचाव के इंतज़ाम

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

ईरान में बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस इन्फ़ेक्शन के मामले

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर को चिट्ठी लिखकर बताया है कि 100 से अधिक मछुआरे कोरोना वायरस की वजह से ईरान के अज़लूर में फंसे हुए हैं.

चिट्ठी में उन्होंने लिखा, ''मै आप से आग्रह करता हूं कि दूतावास को इस बारे में ज़रूरी कदम उठाने के आदेश दें और इन लोगों की सुरक्षित वापसी का इंतज़ाम करने को कहें.''

उन्होंने यह भी बताया कि ईरान में फंसे हुए 100 से अधिक मछुआरों में से करीब 60 केरल से हैं.

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी विदेश मंत्री को इस संबंध में पत्र लिखा है और मछुआरों को भारत लाने अपील की है.

ईरान में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और वहां अब तक 54 लोगों के मरने की आधिकारिक पुष्टि हो चुकी है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक़, दुनिया के करीब 57 देशों में अब तक कोरोना वायरस फैल चुका है. दुनियाभर में अब तक 85 हज़ार से अधिक लोग इसकी चपेट में हैं और करीब 3000 लोगों की इसकी वजह से मौत हो चुकी है. मरने वालों की अधिक संख्या चीन में है.

दिल्ली हिंसा पर बहस हो, राजनीति नहीं: केंद्रीय मंत्री

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा है कि संसद मे दूसरे बजट सत्र के दौरान दिल्ली हिंसा पर बहस होनी चाहिए ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों. लेकिन इस मामले में किसी को भी राजनीति नहीं करनी चाहिए.

इमेज स्रोत, ANI

इमेज कैप्शन,

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्होंने कहा, ''कल से शुरू हो रहे संसद सत्र में विपक्षी दलों के सदस्यों ने दिल्ली हिंसा का मुद्दा उठाने के लिए नोटिस दिया है. सदन में इस पर बहस होनी चाहिए कि हम कैसे ऐसी घटनाओं को भविष्य में रोक सकते हैं. लेकिन इस पर राजनीति न हो.''

उत्तर पूर्वी दिल्ली में चार दिनों तक हुई सांप्रदायिक हिंसा में करीब 40 लोग मारे गए हैं और 200 से अधिक घायल हैं.

INDvsNZ दूसरा टेस्ट: दूसरी पारी में कुल 124 रन पर सिमटी टीम इंडिया

न्यूज़ीलैंड में चल रहे दूसरे और आख़िरी टेस्ट मैच में भारतीय टीम दूसरी पारी में कुल 124 रन पर सिमट गई. सिरीज़ पर कब्ज़ा करने के लिए अब न्यूज़ीलैंड को जीत के लिए कुल 132 रन बनाने हैं.

क्राइस्टचर्ट में खेले जा रहे इस मैच का आज तीसरा दिन है.

इमेज स्रोत, Getty Images

मैच के पहले दिन टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने आई टीम इंडिया ने पहली पारी में कुल 242 रन बनाए. न्यूजीलैंड की पूरी टीम ने भी पहली पारी में कुल 235 रन बनाए थे.

पहली पारी के आधार पर भारत को कुल सात रनों की बढ़त हासिल थी. दूसरी पारी में टीम इंडिया कुछ ख़ास कमाल नहीं कर पाई और पूरी टीम 124 पर सिमट गई.

तालिबानी क़ैदियों को रिहा करने का कोई वादा नहीं: अशरफ़ ग़नी

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने कहा कि तालिबान से बातचीत के लिए 5000 तालिबानी कैदियों को रिहा करने की शर्त उनकी सरकार नहीं मानेगी.

इमेज स्रोत, Reuters

इमेज कैप्शन,

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी

अशरफ़ ग़नी का ये बयान अमरीका और तालिबान के बीच हुई शांति वार्ता और समझौते के बाद आया है. इस वार्ता में यह तय हुआ कि अफ़ग़ानिस्तान और तालिबान के बीच वार्ता की शुरुआत 10 मार्च से होगी और तह तक जेल में बंद करीब 5000 तालिबानी क़ैदी रिहा कर दिए जाएंगे.

इसके साथ ही अमरीका और अफ़ग़ानिस्तान सरकार ने एक साझा बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि अमरीका अब अफ़ग़ानिस्तान में अपनी सेना कम करेगा और अगले 14 महीनों में वहां से अमरीकी और नेटो सैनिक पूरी तरह हट जाएंगे.

अनुच्छेद 370 और निर्भया मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच सोमवार को अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने के केंद्र सरकार के फ़ैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई करेगा.

कोर्ट में सुनवाई इस मुद्दे पर होने की है क्या इन याचिकाओं को बड़ी बेंच को सौंपा जाना चाहिए या नहीं.

इमेज स्रोत, Getty Images

बीते साल अगस्त में केंद्र सरकार ने कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर दिया था और राज्य को दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था.

अगस्त महीने से ही जम्मू-कश्मीर के कई बड़े नेता हिरासत में हैं.

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट में आज निर्भया गैंगरेप केस के एक दोषी पवन कुमार गुप्ता की याचिका पर भी सुनवाई होनी है. पवन ने याचिका देकर मौत की सज़ा को उम्र कैद में बदलने की अपील की है.

साल 2012 के निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को तीन मार्च को फांसी दिए जाने का आदेश दिया है.

पहले भी दो बार अदालत ने फांसी की तारीख़ तय की थी जो अलग-अलग याचिकाओं के कारण टल गई थी.

यह भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)