कोरोना वायरस: राजस्थान में भी कोरोना वायरस का एक मामला सामने आया

कोरोना वायरस

इमेज स्रोत, Getty Images

राजस्थान में भी कोरोना वायरस का एक मामला सामने आया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि जयपुर में एक इतालवी पर्यटक के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

उन्होंने बताया कि 29 फ़रवरी को लिए गए पहले नमूने में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई थी, लेकिन दूसरे नमूने की जाँच की गई और सोमवार (1 मार्च) को उनके कोरोना वायरस के संक्रमित होने की पुष्टि हुई.

शर्मा ने कहा, ''चूंकि रिपोर्ट में अंतर है, इसलिए नमूने को परीक्षण के लिए पुणे स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान भेजा गया है."

मंत्री ने कहा, "इटली के यात्री को एसएमएस अस्पताल के निगरानी वार्ड में रखा गया है. दो जाँच में अलग-अलग रिपोर्ट सामने आने के बाद उसके सैंपल को एक बार फिर से जाँच के लिए भेजा गया है. 29 फ़रवरी तक जितने भी लोग उनके संपर्क में आए हैं, उनकी भी जांच की जाएगी."

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के दो और मामलों की पुष्टि की.

मंत्रालय के मुताबिक़ एक व्यक्ति दिल्ली में और एक तेलंगाना में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि दिल्ली के जिस व्यक्ति के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है उसने हाल में इटली की यात्रा की थी, जबकि दूसरे ने दुबई की यात्रा की थी.

कोरोना वायरस से उत्पन्न मौजूदा स्थिति की निगरानी करने और निवारण के उपाय करने के लिए गठित मंत्रियों के समूह की बैठक के बाद हर्षवर्धन ने कहा कि सरकार ने कोरोना वायरस के प्रति चौकसी और संक्रमण की पहचान एवं रोकथाम के लिए कई क़दम उठाए हैं.

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि भारत सरकार ने ईरान और इटली की सरकार से भारतीयों को वहां से स्वदेश लाने पर चर्चा की है.

हर्षवर्धन के मुताबिक़ नेपाल, इंडोनेशिया, वियतनाम, मलेशिया, चीन, हांगकांग, थाईलैंड, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर और जापान से आने वाले यात्रियों की देश के 21 हवाई अड्डों पर जाँच की जा रही है.

उन्होंने बताया कि अब तक हवाई अड्डों पर 5,57,431 यात्रियों की और बंदरगाहों पर 12,431 लोगों की जाँच की गई है.

दिल्ली हिंसाः केजरीवाल ने आईबी अधिकारी अंकित शर्मा के परिवार को एक करोड़ की सम्मान राशि देने की घोषणा की

इमेज स्रोत, Getty Images

दिल्ली सरकार ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा में मारे गए आईबी अधिकारी अंकित शर्मा के परिवार को एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की है.

सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसकी घोषणा की. सरकार ने ये भी कहा है कि अंकित के परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी भी दी जाएगी.

अंकित की मौत दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान हुई थी. उनका शव चांद बाग़ इलाके में एक नाले से बरामद हुआ था.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट किया, "अंकित शर्मा IB के जांबाज़ अधिकारी थे. दंगो में उनका नृशंस तरीक़े से क़त्ल कर दिया गया. देश को उन पर नाज़ है. दिल्ली सरकार ने तय किया है कि उनके परिवार को एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि और उनके परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी देंगे. भगवान उनकी आत्मा को शांति दें."

इससे पहले अरविंद केजरीवाल ने हिंसा में मारे गए पुलिसकर्मी रतन लाल के परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवज़ा देने का ऐलान किया था.

इसके अलावा हिंसा पीड़ितों के लिए दिल्ली सरकार की तरफ़ से मुआवज़े का एलान करते हुए उन्होंने कहा था, "मृतक व्यस्कों के लिए 10 लाख रुपये, मृतक नाबालिग और स्थाई अक्षमत के मामले में 5 लाख रुपये, गंभीर चोट के लिए 2 लाख रुपये, मामूली चोट के लिए 20,000, पूरा घर जलने पर 5 लाख का मुआवज़ा जल्द से जल्द देने सरकार कोशिश करेगी."

इमेज स्रोत, Getty Images

कोरोना वायरस का मामला दिल्ली में भी

भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की है कि भारत में कोरोना वायरस के दो मामले सामने आए हैं. एक मामला दिल्ली का है और दूसरा तेलंगाना का है.

बताया गया कि दिल्ली में जिस मरीज़ को कोरोना से पीड़ित पाया गया है, वह इटली से आया था. दूसरा शख़्स दुबई से आया है.

दोनों मरीज़ों की हालत स्थिर है और उनकी लगातार मॉनिटरिंग हो रही है.

वहीं, विदेश से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है.

कोरोना वायरस के मामले अब चीन के बाहर तेज़ी से बढ़ने लगे

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
बात सरहद पार

दो देश,दो शख़्सियतें और ढेर सारी बातें. आज़ादी और बँटवारे के 75 साल. सीमा पार संवाद.

बात सरहद पार

समाप्त

कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया भर में बढ़ रहा है. अब तक इससे होने वाली मौतें तीन हज़ार के पार पहुंच गई हैं. चीन में 42 मौतें और हुई हैं. चीन में 90 फ़ीसदी मौतें हूबे प्रांत में हुई हैं. यहीं पिछले साल कोरोना वायरस का संक्रमण फैला था.

10 अन्य लोगों की जान अलग-अलग देशों में गई है. 50 से ज़्यादा मौतें तो ईरान में हुई हैं और 30 से ज़्यादा लोगों की जान इटली में गई है. दुनिया भर में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों के 90 हज़ार मामलों की पुष्टि हुई है.

अब कोरोना चीन की तुलना में बाहर के देशों में ज़्यादा तेज़ी से फैल रहा है. हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि अभी ज़्यादातर मामलों में शुरुआती लक्षण पाए गए हैं और इनमें मृत्यु की दर दो से तीन फ़ीसदी के बीच है. हालांकि ये सीज़नल फ्लू से मरने वालों की तुलना में ज़्यादा ही है. सामान्य फ़्लू से हर साल चार लाख लोगों की मौत होती है.

कोरोना वायरस के मामलों में अब चीन में गिरावट आई है जबकि बाक़ी की दुनिया में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है. पिछले 48 घंटों में इटली में कोरोना वायरस का इंफेक्शन दोगुना हो गया है.

यूरोप में इटली कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित है. इटली में अब तक 34 मौतें हुई हैं और 1,694 मामले सामने आए हैं. ब्रिटेन में कोरोना के 36 मामलों की पुष्टि हुई है. चीन के बाद कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित दक्षिण कोरिया है. यहां 476 नए मामले सामने आए हैं और अब तक कोरोना से संक्रमण के कुल 4,212 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 3,081 मामले दक्षिण कोरियाई शहर दाइगु के हैं. 

इमेज स्रोत, EPA

दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल के मेयर ने लोगों से आग्रह किया है लोग अपने घरों से ही काम करें और भीड़-भाड़ वालो इलाक़ों में न जाएं. मध्य-पूर्व में ईरान कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित देश है. यहां अब तक 54 मौतें हो चुकी हैं और कोरोना से संक्रमण के कुल 978 मामले सामने आए हैं.

इसके अलावा क़तर, इक्वाडोर, लग्ज़मबर्ग, आयरलैंड में भी कोरोना के पहले मामले सामने आए हैं. अमरीका में भी कोरोना से अब तक दो मौतें हो चुकी हैं.  

सोमवार को चीन में कोरोना से 42 और मौतें की बात सामने आई है. ये सारी मौते हूबे शहर में हुई है. इसके अलावा 202 नए मामले भी सामने आए हैं. केवल छह ही ऐसे मामले हैं जो हूबे शहर से बाहर के हैं. चीन में कोरोना से अब तक 2,912 लोगों की मौत हो चुकी है.

कोरोना से चीन की अर्थव्यवस्था भी बुरी तरह से प्रभावित हुई है. इस बीच यूएस अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने पाया है कि चीन में प्रदूषण के स्तर में नाटकीय रूप से कमी है. इसकी वजह कोरोना वायरस से आर्थिक वृद्धि दर में आई कमी बताई जा रही है. 

इमेज स्रोत, EPA

अनुच्छेद 370 पर पाँच जजों की बेंच ही करेगी सुनवाई

संविधान के अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के भारत सरकार के फ़ैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं को बड़ी बेंच को भेजने से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया है.

जस्टिस एन.वी. रमण के नेतृत्व वाली सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों वाली संविधान पीठ ने यह फ़ैसला किया.

इमेज स्रोत, Getty Images

भारत ने बीते साल पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले प्रावधानों को ख़त्म कर दिया था.

जस्टिस रमण के नेतृत्व वाली यही बेंच सरकार के इस फ़ैसले को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर सुनवाई करती रहेगी.

तेज़ी के साथ खुले शेयर बाज़ार

भारतीय शेयर बाज़ार में लगातार छह दिनों तक गिरावट के बाद सोमवार को तेज़ी देखने को मिली. भारतीय बाज़ार पर एशियाई शेयर बाज़ारों की रिकवरी दिखाने का सकारात्मक असर पड़ा है.

इमेज स्रोत, BSE

शुरुआती कारोबार के दौरान बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सूचकांक सेंसेक्स में लगभग 800 अंकों का उछाल देखने को मिला.

कुछ देर बाद, सुबह साढ़े नौ बजे यह 1.20 प्रतिशत या 461 पॉइंट ऊपर चढ़कर 38,756 पर ट्रेड कर रहा था.

बीएसई में लिस्टेड सभी कंपनियों के आधार पर देखें तो मात्र 60 सेकंड के कारोबार में निवेशकों को 2.07 लाख करोड़ का मुनाफ़ा हुआ.

सोमवार सुबह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के इंडेक्स निफ़्टी में भी उछाल नज़र आया. यह कुछ देर के लिए 11,400 को पार कर गया.

इससे पहले शुक्रवार को कोरोना वायरस के महामारी की शक्ल लेने और वैश्विक वृद्धि को प्रभावित करने के डर से भारतीय शेयर बाज़ार औंधे मुंह गिरे थे. बाज़ार खुलते ही निवेशकों को 4 लाख करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

निर्भया मामला: पवन की क्यूरेटिव याचिका ख़ारिज

इमेज स्रोत, Delhi Police

इमेज कैप्शन,

निर्भया मामले के दोषी

2012 दिल्ली गैंगरेप मामले के अभियुक्तों में से एक पवन की क्यूरेटिव याचिका सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दी है.

याचिका में पवन की ओर से खुली अदालत में सुनवाई करते हुए मृत्युदंड को उम्रकैद में बदलने की मांग की गई थी.

इसके साथ ही कोर्ट ने फांसी की सज़ा को स्थगित करने की अपील को भी खारिज कर दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)