यस बैंक से अगले एक महीने तक नहीं निकाल सकेंगे 50 हज़ार रुपये से अधिक धनराशि

यस बैंक

इमेज स्रोत, Getty Images

नकदी संकट से जूझ रहे यस बैंक के निदेशक मंडल को भंग करते हुए भारतीय रिज़र्व बैंक ने अपनी ओर से प्रशासक नियुक्त किया है. साथ ही नकद निकासी समेत कई अन्य पाबंदियां तय की हैं.

इमेज स्रोत, Getty Images

रिज़र्व बैंक ने यस बैंक के ग्राहकों के लिए नकद निकासी की सीमा 50 हज़ार रुपये तय कर दी है. अब इस बैंक के ग्राहक अगले एक महीने तक 50 हज़ार रुपये से ज़्यादा अपने खाते से नहीं निकाल पाएंगे.

यदि किसी खाताधारक के इस बैंक में एक से अधिक खाते हैं तब भी वह कुल मिलाकर 50 हज़ार रुपये ही निकाल सकेगा.

यह आदेश आज शाम से ही प्रभावी हो गया है और 3 अप्रैल 2020 तक लागू रहेगा.

हालांकि कुछ विषयों में नकद निकासी की सीमा को लेकर छूट दी गई है. मसलन, जमाकर्ता या वास्तविक रूप से उस पर आश्रित किसी व्यक्ति के चिकित्सा और उपचार के लिए, जमाकर्ता या उस पर आश्रित व्यक्ति की शिक्षा के लिएअथवा किसी दूसरी आपातकालीन स्थिति में इस नियम में छूट दी जा सकती है.

देर शाम रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया की ओर से जारी किये गए एक बयान में कहा गया कि यस बैंक के निदेशक मंडल को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है और एसबीआई के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी प्रशांत कुमार को बैंक का नया प्रशासक नियुक्त किया गया है.

चीफ़ जनरल मैनेजर योगेश दयाल के मुताबिक़, यस बैंक की आर्थिक स्थिति बुरे दौर से गुजर रही है. योगेश दयाल द्वारा जारी प्रेसविज्ञप्ति के मुताबिक़, बैंक पूंजी जुटाने में असमर्थ रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)