कोरोना वायरस: 21 दिनों के भारत बंद में क्या बंद क्या खुला

  • 24 मार्च 2020
कोरोना वायरस इमेज कॉपीरइट Getty Images

1.30 अरब की आबादी वाला देश भारत 24 मार्च की रात 12 बजे से 21 दिनों तक पूरी तरह से बंद रहेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 21 दिनों की बंदी की घोषणा की है. पीएम मोदी ने मंगलवार रात आठ बजे राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा, ''आज आधी रात से पूरा देश बंद रहेगा. यह भारत, सभी भारतीयों, आप और आपके परिवार को बचाने के लिए है. सभी सड़कें और आसपास के इलाक़े पूरी तरह से बंद रहेंगे.''

प्रधानमंत्री ने कहा, ''अगले 21 दिनों तक घर से बाहर निकलना भूल जाइए. अगर आपने लक्ष्मण रेखा लांघी तो अपने घरों में वायरस आमंत्रित करेंगे. 21 दिन की बंदी लंबी लग रही है लेकिन सबको सुरक्षित रखने का यही तरीक़ा है. अगर आप 21 दिन नहीं मानेंगे तो हमारा देश, आपके परिवार 21 साल पीछे चले जाएंगे.''

लेकिन क्या 21 दिनों की बंदी में सब कुछ बंद रहेगा? क्या ज़रूरत के कोई सामान नहीं मिलेंगे? ऐसा नहीं है. जानिए इन 21 दिनों में क्या खुला रहेगा और क्या बंद-

राष्ट्र के नाम संबोधन के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ''मेरे देशवासियों, घबराने की ज़रूरत नहीं है. ज़रूरी सामान और दवाइयों की दुकानें खुली रहेंगी. इसे सुनिश्चित करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर काम कर रही हैं. हम साथ मिलकर कोविड-19 से लड़ेंगे और तंदुरुस्त भारत बनाएंगे. जय हिंद!

इन 21 दिनों में जो बंद रहेगा-

  • केंद्र सरकार, इसके स्वायत्त/अधीनस्थ कार्यालय और सरकारी कंपनियां बंद रहेंगी.

अपवाद- रक्षा, सीआरपीएफ़, ट्रेज़री, पेट्रोलियम, सीएनजी, एलपीजी, पीएनजी, आपदा प्रबंधन, बिजली उत्पादन और ट्रांसमिशन यूनिट, डाकघर, एनआईसी के दफ़्तर.

  • राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों, उनकी स्वायत्त संस्थाओं, कंपनियों के दफ़्तर बंद रहेंगे.

अपवाद: पुलिस, होमगार्ड, सिविल डिफ़ेंस, अग्निशमन और आपातकालीन सेवाएं, आपदा प्रबंधन और जेलें.

  • ज़िला प्रसासन और ट्रेज़री

अपवाद:म्यूनिसिपल बॉडीज़- स्वच्छता और जल आपूर्ति जैसी आवश्यक सेवाओं का स्टाफ़

  • अस्पताल और अन्य संबंधित मेडिकल संस्थान, उत्पादन और आवंटन यूनिट, निजी और सरकारी क्षेत्र की डिस्पेंसरियां, केमिस्ट, लैब, क्लीनिक, नर्सिंग होम और ऐंबुलेंस वगैरह काम करते रहेंगे. स्वास्थ्य कर्मियों, नर्सों, पैरा मेडिकल स्टाफ़ और अन्य कर्मचारियों को लाने-ले जाने की इजाज़त रहेगी.
  • व्यावसायिक और निजी संस्थान बंद रहेंगे
  • सभी यातायात सेवाएं- वायु, रेल सड़क- बंद रहेंगी

अपवाद

  • खाद्य सामग्री, राशन फल, सब्ज़ियों, डेयरी, दध, मीट, मछली और चारे वगैरह की दुकानें और सरकारी राशन की दुकानें खुली रहेंगी. ज़िला प्रशासन होम डिलीवरी को बढ़ावा दे सकता है ताकि लोग घर से बाहर न निकलें.
  • बैंक , इंश्योरेंस ऑफिस और एटीएम
  • प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया
  • टेलिकम्यूनिकेशंस, इंटरनेट सर्विसेज, ब्रॉडकास्टिंग और केबल सर्विसेज. आईटी और आईटी से संबंधिक सेवाएं (संभव हो तो वर्क फ्रॉम होम)
  • सभी ज़रूरी वस्तुओं, जैसे खाना, दवाओं, मेडिकल उपकरणों की ई कॉमर्स के माध्यम से डिलीवरी चालू रहेगी
  • पेट्रोल पंप, एलपीजी, पेट्रोलियम और गैस आउटलेट
  • पावर जेनरेशन, ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन यूनिट
  • कैपिटल और डेट मार्केट सर्विस जिन्हें सेबी ने अधिसूचित किया हो
  • कोल्ड स्टोरेज और वेयरहाउसिंग सेवाएं
  • निजी सुरक्षा सेवा
  • औद्योगिक संस्थान बंद रहेंगे
  • ज़रूरी वस्तुओं का उत्पादन करने वाली फैक्ट्रियां
  • ज़रूरी वस्तुओं की ढुलाई
  • अग्निशमन, क़ानून व्यवस्था और आपातकाल सेवाओं से जुड़े वाहन

दुनिया भर के कई देशों में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बंदी की घोषणा की गई है. सोमवार को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भी इसी तरह की बंदी की घोषणा की थी.

इमेज कॉपीरइट MohFW, GoI

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार