दिल्ली में मेट्रो की एक और दुर्घटना

दिल्ली में रविवार को जिस इलाक़े में मेट्रो रेल का पुल गिर गया था वहीं एक और दुर्घटना हुई है.

इलाके़ में रविवार को ढहे स्टील गर्डर को उठाने के लिए जिन तीन क्रेनों का इस्तेमाल हो रहा था, वो अपनी ही बोझ तले गिर गईं. ये घटना जमरूदपुर इलाक़े में हुई. डीएमआरसी के मुताबिक कोई हताहत नहीं हुआ है.

रविवार को हुए मेट्रो रेल हादसे में छह लोगों की मौत हो गई थी. हादसा सुबह पांच बजे दक्षिण दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज के पास हुआ था. दुर्घटना निर्माणाधीनपुल के खंभा नंबर 66 और 67 के बीच घटी.

इस बीच शहरी विकास मंत्री जयपाल रेड्डी ने कहा है कि दोषियों के खिलाफ़ क़दम ज़रूर उठाए जाएँगे. उन्होंने इस बात से इनकार किया कि कॉमनवेल्थ खेलों के मद्देनज़र मेट्रो परियोजना को जल्दी पूरी करने के लिए कोई दवाब है.

पुल गिरा

रविवार को दुर्घटना के बाद डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक ई श्रीधरन ने नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

उन्होंने कहा था, "मैं इस घटना से बेहद दुखी हूँ. भले ही इस दुर्घटना से मेरा सीधा कोई लेना-देना नहीं है लेकिन मैं इसकी नैतिक ज़िम्मेदारी लेता हूँ."

लेकिन दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने इस्तीफ़ा मंज़ूर नहीं किया है. उनका कहना था दिल्ली में मेट्रो परियोजना का श्रेय ई श्रीधरन को ही जाता है और उनका इस्तीफ़ा मंज़ूर नहीं किया जा सकता.

सोमवार को श्रीधरन ने दुर्घटना स्थल का दौरा किया.

पिछले साल पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मीनगर इलाक़े के पास भी एक मेट्रो पुल गिरा था जिसमें कुछ लोगों की मौत हुई थी.

यूँ तो मेट्रो निर्माण का रिकॉर्ड दिल्ली में काफ़ी अच्छा रहा है लेकिन काम में तेज़ी के वजह से सुरक्षा को लेकर चिंताएँ जा रही हैं.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है